menu-icon
India Daily
share--v1

'सब पीते हैं, बस मुझे बदनाम किया', प्रवीण कुमार ने लगाए 'सीनियर' पर गंभीर आरोप

Praveen Kumar: साल 2007 में पाकिस्तान के खिलाफ डेब्यू करने वाले इंडियन क्रिकेट टीम के पूर्व गेंदबाज ने अपने सीनियर पर उन्हें बदनाम करने का आरोप लगाया है.

auth-image
Gyanendra Sharma
Praveen Kumar

Praveen Kumar: साल 2007 में पाकिस्तान के खिलाफ डेब्यू करने वाले इंडियन क्रिकेट टीम के पूर्व गेंदबाज ने अपने सीनियर पर उन्हें बदनाम करने का आरोप लगाया है. एक इंटरव्यू के दौरान प्रवीण कुमार ने दावा किया कि एक सीनियर प्लेयर ने उन्हें बदनाम किया. प्रवीण कुमार का विस्फोटक साक्षात्कार के बाद एक बार फिर चर्चा में हैं, जहां उन्होंने कुछ खुलासे किए हैं.  एमएस धोनी, सचिन तेंदुलकर और राहुल द्रविड़ जैसे खिलाड़ियों के साथ ड्रेसिंग रूम साझा करने वाले प्रवीण ने अपने बहुचर्चित ऑफ-फील्ड मुद्दों के बारे में बात की.

2011 में विश्व कप के लिए शुरुआत में जिस टीम का ऐलान किया गया था, प्रवीण कुमार उस टीम का हिस्सा थे, लेकिन चोट के कारण उन्हें बाहर होना पड़ा. इस चोट के कारण प्रवीण कुमार का करियर लगभग खत्म सा हो गया. प्रवीण कुमार ने भारत के लिए अपना आखिरी मुकाबला 20 मार्च 2012 को खेला था.

प्रवीण कुमार ने कई मुद्दों पर बात की उनमें से एक उसका शराब पीने का मुद्दा था; लेकिन प्रवीण ने कहा कि यह सिर्फ एक छवि थी जो उनके आसपास बनाई गई थी और इसमें ज्यादा सच्चाई नहीं थी. जब मैं भारतीय टीम में था, तो सीनियर्स कहते थे, 'पीना नहीं, ये नहीं करना, वो नहीं करना.  वहीं जब उनसे नाम पूछा गया तो प्रवीण कुमार ने कहा,"सीनियर प्लेयर जितने भी थे. करते सब हैं. लेकिन वहीं वाली बात है कि बदनाम कर देते हैं. सब शराब पीता है. 

यह पूछे जाने पर कि वास्तव में उनकी छवि किसने खराब की गई? मेरठ के तेज गेंदबाज ने कहा कि नाम नहीं लेना चाहता कैमरा पे. पता सबको है किसने पीके को बदनाम किया. मैं उस व्यक्ति का नाम नहीं लेना चाहता. हर कोई उसे जानता है. जो लोग मुझे व्यक्तिगत रूप से जानते हैं, वे जानते हैं कि मैं कैसा हूं. मेरी एक ख़राब छवि बनाई गई है.

भारत के लिए प्रवीण कुमार ने 6 टेस्ट खेले हैं जिसमें उन्होंने 27 विकेट हासिल किए हैं. उन्होंने 68 वनडे मैचों में 77 विकेट हासिल किए हैं, जबकि 10 टी20 अंतरराष्ट्रीय मैचों में उनके नाम 8 विकेट हैं.