menu-icon
India Daily
share--v1

लाइफ में अकेले रहकर भी खुश रह सकते हैं आप, बस अपनाएं ये टिप्स

how to be happy : जिंदगी जीने के लिए खुश रहना काफी आवश्यक होता है. जीवन में अकेले होने पर खुश होना थोड़ा मुश्किल लगता है, लेकिन आप इन तरीकों को अपनाकर अकेले रहकर भी खुश रह सकते हैं.

auth-image
Mohit Tiwari
लाइफ में अकेले रहकर भी खुश रह सकते हैं आप, बस अपनाएं ये टिप्स

नई दिल्ली. जीवन में कई कारणों इंसान को अकेला रहना पड़ जाता है. ऐसे में अकेलापन व्यक्ति के मानसिक स्वास्थ्य के घातक माना जाता है. वहीं, ऐसा नहीं है कि आप अकेले रहकर खुश नहीं रह सकते हैं. कई ऐसे तरीके हैं, जिनको अपनाकर आप लाइफ में अकेले रहकर भी खुश रह सकते हैं.

खुश रहने से इंसान को कई सारे फायदे मिलते हैं. रिसर्च की मानें तो खुश रहने से इंसान की शारीरिक और मानसिक सेहत अच्छी रहती है. यह कहावत भी है कि 'लाफ्टर इस द बेस्ट मेडिसिन', इससे यह साफ होता है कि अगर आपको हेल्दी रहना है तो खुश रहना जरूरी है. इस कारण व्यक्ति को हर परिस्थिति में खुश रहना चाहिए.

जब आप अकेले होते हैं तो अकेलापन कई बार मानसिक समस्याओं का कारण भी बन जाता है, लेकिन इससे बचने के लिए आप अकेले रहकर भी खुश रहने के तरीके अपना सकते हैं.

इन तरीकों को अपनाएं

खुशी और हमारी हेल्थ दोनों एक दूसरे से जुड़े हुए हैं. अगर आप खुश होते हैं तो इसका सकारात्मक प्रभाव आपके स्वास्थ्य पर भी देखा जा सकता है. खुश रहने से आप शारीरिक और मानसिक दोनों रूप से स्वस्थ रहते हैं. इस कारण अगर आप अकेले भी हैं तो आप ये तरीके अपनाकर खुश रह सकते हैं.

खुद को समझने की करें कोशिश

जब कोई इंसान अकेला होता है तो उसके मन में तमाम तरह की बातें और सवाल पैदा हो जाते हैं. इस स्थिति में आपको खुद को समझना काफी जरूरी होता है. आप खुद को समझाएं कि जीवन बहुत मूल्यवान है और इसे यूं ही व्यर्थ नहीं जाने देना है. आप खुद को यह समझाएं कि आपको अपने लिए जीना है, क्योंकि यही सत्य है कि हर व्यक्ति खुद के लिए ही जीता है.

व्यस्त रहना सीखें

दिमाग में तमाम तरह की बातें और ख्याल लाने से  बचने का सबसे सरल तरीका खुद को व्यस्त रखना है. अकेले रहते हुए इंसान के दिमाग में तरह-तरह की सोच आने लगती हैं. इस कारण अकेलेपन की नकारात्मकता से बचने के लिए आपको खुद को किसी न किसी काम में व्यस्त रखना चाहिए. व्यस्त रहने के लिए आप अपनी मनपसंद एक्टिविटी भी कर सकते हैं. जैसे कहीं घूमने जाएं या किताब पढ़ें. कुछ भी करें बस वो करें जिससे आप खुश रहें.

मत करें खुद की दूसरों से तुलना

आपको खुद की तुलना किसी से भी नहीं करना है. इस दुनिया में हर कोई एक जैसा नहीं हो सकता है. इस कारण दूसरों से अपनी तुलना कभी न करें.

चीजों के प्रति बदलें अपना नजरिया

आपको अपने नजरिए पर वर्क करना चाहिए. पॉजिटिव रहना सीखें, निगेटिव न रहें. आपको यह बात समझनी चाहिए कि खुशी और गम आपके मन के भाव हैं. कोई भी चीज आपको न तो खुशी दे सकती है न ही दुख. आप अपने दुख और सुख के लिए खुद ही जिम्मेदार होते हैं. पॉजिटिव सोच  और विचार आपको मुश्किल से मुश्किल वक्त में खुश रख सकते हैं.

व्यायाम, ध्यान को लाइफस्टाइल में करें शामिल

जीवन में अकेले रहने पर कई लोगों को मानसिक समस्याओं से भी जूझना पड़ जाता है. इस कारण आपको रोजाना ध्यान, योग आदि का प्रतिदिन अभ्यास करें. इसके साथ ही संतुलित आहार को भी अपनी दिनचर्या में शामिल करें.