share--v1

'रूस हमारे लिए खतरा नहीं, NATO के बयान से सकते में यूक्रेन  

Russia Ukraine War: सैन्य समूह नाटो के एक शीर्ष अधिकारी ने कहा है कि नाटो देशों को रूस से कोई सीधा खतरा नहीं है. हालांकि अमेरिकी सैन्य गुट को संभावित गतिरोध के लिए तैयार रहना चाहिए.

auth-image
India Daily Live

Russia Ukraine War:  हमारे पास इस बात के कोई संकेत नहीं हैं कि रूस नाटो पर हमले के लिए तैयारी कर रहा है . नाटो ब्लॉक की सैन्य समिति के प्रमुख एडमिरल रॉब बाउर ने यह बात एक कार्यक्रम के दौरान कही है. शुक्रवार को लातविया का राजधानी रीगा में पत्रकारों से बात करते हुए उन्होंने कहा कि ऐसा कोई संकेत नहीं है कि रूस किसी भी नाटो सदस्य देश पर हमला करने की योजना बना रहा है. रॉब बाउर साल 2017 और 2021 के बीच डच सशस्त्र बलों की कमान संभाल चुके हैं. 

प्रेस से बात करते हुए उन्होंने कहा कि मुझे नहीं लगता कि नाटो ब्लॉक के किसी देश को रूस के सीधे हमलों का कोई खतरा है. उन्होंने कहा कि यह हमारे लिए चिंता का सबब तब होगा जब मॉस्को की महत्वाकांक्षाएं कीव को पार कर जाती हैं. बाउर ने कहा कि अमेरिकी नेतृत्व वाले सैन्य गुट को संभावित गतिरोध के लिए बेहतर तरीके से तैयार रहना चाहिए. 

राउर ने नवंबर में होने वाले आगामी अमेरिकी चुनाव पर भी वार्ता की. इस चुनाव में पूर्व अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प और मौजूदा राष्ट्रपति जो बाइडन के बीच दोबारा मुकाबला होना लगभग तय माना जा रहा है. एडमिरल ने कहा कि वह ट्रम्प की जीत से नहीं डरते हैं. उन्होंने ट्रंप के बयान पर सफाई देते हुए कहा कि रिपब्लिकन उम्मीदवार के बयान नाटो ब्लॉक के ऊपर नहीं थे बल्कि इस बात पर थे कि इसके कुछ सदस्य देशों को अपना रक्ष खर्च बढ़ाने की जरूरत है. 

रिपोर्ट के अनुसार, पिछले महीने एक चुनावी  रैली में ट्रंप ने नाटो नेता और खुद की बातचीत को याद किया जिसमें उन्होंने कहा था कि वह उसे रूस से तब तक नहीं बचाएंगे जब तक वह अपने शेष रक्षा बिलों का भुगतान नहीं कर देता. कई नाटो देश सालों से अपने रक्षा खर्च को जीडीपी के 2फीसदी पहुंचाने के लिए संघर्ष कर रहे हैं. यूक्रेन जंग के बाद यह खाई और भी ज्यादा गहरी हो गई है. नाटो महासचिव जेन्स स्टोलटेनबर्ग ने कहा कि नाटो के 18 देश इस साल रक्षा क्षेत्र में लगभग 380 अरब डॉलर का निवेश करेंगे. 


 

Also Read