menu-icon
India Daily
share--v1

सऊदी सरकार के नए एलान ने जीता ईरानी मुसलमानों का दिल, आखिरकार दे डाली बड़ी सौगात

Iran Saudi Arab Relation: सऊदी अरब और ईरान के बीच संबंध अब सामान्य होते दिखाई दे रहे हैं. सऊदी अरब ने ईरानी मुसलमानों को उमराह करने की इजाजत दे दी है.

auth-image
India Daily Live
Saudi Iran

Iran Saudi Arab Relation: सऊदी अरब सरकार ने ईरानी मुसलमानों को बड़ी राहत दी है. सोमवार को ईरान की सरकारी समाचार एजेंसी इरना (IRNA) ने बताया कि ईरानी मुस्लिमों का पहला जत्था उमराह के लिए रवाना हो गया है. ईरान के मुसलमान नौ सालों में पहली बार उमराह के लिए सऊदी अरब पहुंच रहे हैं. इजरायल और ईरान के बीच चल रहे तनाव के बीच दोनों देशों के संबंध भी सुधर रहे हैं. 

ईरान की मीडिया ने पिछले साल दिसंबर में कहा था कि सऊदी अरब ने उमराह करने को इच्छुक ईरानी मुसलमानों पर प्रतिबंधों को हटा दिया है. उमराह से पाबंदी हटने के बाद ईरान के 85 मुसलमानों का दल सऊदी अरब के लिए रवाना हुआ है. सऊदी अरब के रवाना होने के लिए यह दल जब तेहरान एयरपोर्ट पहुंचा तो ईरान में सऊदी के राजदूत अब्दुल्ला बिन सऊद अल अंजी भी वहां मौजूद थे.

शिया बाहुल्य ईरान और सुन्नी बाहुल्य सऊदी अरब के बीच  इस्लामिक दुनिया का नेता बनने के लिए धार्मिक और राजनीतिक संघर्षों का लंबा इतिहास रहा है. मार्च 2023 में चीन की मध्यस्थता में एक समझौते के कारण दोनों देश अपने राजनियक रिश्तों की शुरुआत करने पर सहमत हुए थे.

साल 2016 में सऊदी अरब ने एक शिया मौलवी को फांसी दे दी थी. इसे लेकर शिया बाहुल्य ईरान बेहद नाराज हो गया और वहां के लोग सऊदी के खिलाफ सड़कों पर उतर आए थे. गुस्साए प्रदर्शनकारियों ने तेहरान में सऊदी अरब के दूतावास पर हमला कर दिया था. इसके बाद दोनों देशों ने राजनयिक संबंध खत्म कर लिए थे.