menu-icon
India Daily
share--v1

एक हादसा और हवा में राख बनकर उड़ गए अमेरिका के 832 करोड़ रुपये, आखिर क्यों खास है US का F-35 फाइटर जेट?

F-35 Lighting II Fighter Jet Crash: अमेरिका का एक फाइटर जेट आज दुर्घटना का शिकार हो गया. करीब 832 करोड़ रुपये की लागत वाला ये फाइटर जेट अमेरिका के सबसे कीमती विमानों में से एक था.

auth-image
India Daily Live
F-35 Lightning II
Courtesy: F-35 Lightning II Twitter

F-35 Lighting II Fighter Jet Crash: न्यू मैक्सिको के अल्बरक्यू इंटरनेशनल एयरपोर्ट के पास एक हादसे में अमेरिका का फाइटर जेट हादसे का शिकार हो गया. हादसे के शिकार फाइटर जेट F-35 Lightning II की कीमत 832 करोड़ रुपये बताई जा रही है. इस फाइटर जेट को काफी खतरनाक माना जाता है. कहा जा रहा है कि हादसे के वक्त समय रहते फाइटर जेट का पायलट बाहर निकल आया.

हादसा उस वक्त हुआ, जब अमेरिकी एयरफोर्स का फाइटर जेट F-35 लाइटनिंग-2 स्टेल्थ, न्यू मेक्सिको के अल्बुकर्क इंटरनेशनल एयरपोर्ट से टेकऑफ कर रहा था. एक साल के अंदर अमेरिका का ये दूसरा फाइटर जेट हादसे का शिकार हुआ है. इससे पहले साउथ कैरोलिना में अमेरिका का एक फाइटर जेट लापता हो गया था. बाद में साउथ कैरोलिना के ज्वाइंट बेस चार्ल्सटन से 90 से अधिक किलोमीटर दूर विलियम्सबर्ग में फाइटर जेट का मलबा मिला था. 

10 से 12 देश यूज करते हैं ये फाइटर जेट

फाइटर जेट F-35 लाइटनिंग-2 स्टेल्थ को दुनिया के 10-12 देश इस्तेमाल करते हैं. फाइटर जेट के क्रैश होने के बाद अमेरिकी सेना ने जांच पड़ताल की बात कही है. हादसे के कारणों के बारे में ज्यादा कुछ नहीं बताया गया है. जानकारी के मुताबिक,  फाइटर जेट F-35 लाइटनिंग-2 स्टेल्थ की खासियत है कि ये हर तरह के मौसम में उड़ान भरने में सक्षम है.   

इस फाइटर जेट को एयरसुपीरियरिटी और स्ट्राइक मिशन के लिए तैयार किया गया है. इसके अलावा, ये फाइटर जेट इलेक्ट्रॉनिक वॉरफेयर, जासूसी, सर्विलांस, रीकॉन्सेंस भी कर सकता है. फाइटर जेट F-35 लाइटनिंग-2 स्टेल्थ तीन वैरिएंट में आता है. पहला कन्वेंशनल टेक-ऑफ एंड लैंडिंग (CTOL) होता है, जिसे F-35A कहा जाता है. दूसरे वैरिएंट को शॉर्ट टेक-ऑफ एंड वर्टिकल लैंडिंग (STOVL) यानी F-35B कहा जाता है, जबकि तीसरे वैरिएंट को कैरियर बैस्ड यानी F-35C कहा जाता है. इस फाइटर जेट को अमेरिका की लॉकहीड मार्टिन कंपनी बनाती है. 

एक मिनट में दागती है 180 गोलियां

फाइटर जेट F-35 लाइटनिंग-2 स्टेल्थ जेट को एक ही पायलट कंट्रोल करता है. इस फाइटर जेट की लंबाई 51.4 फीट, विंगस्पैन 35 फीट और ऊंचाई 14.4 फीट होती है. इसमें 4 बैरल वाली 25 MM का रोटरी कैनन लगा है, जिसके जरिए एक मिनट में 180 गोलियां दागीं जा सकती है. इसकी टॉप स्पीड 1976 KM/घंटा है. ये 50 हजार फीट की अधिकतम ऊंचाई पर उड़ान भर सकता है. इस फाइटर के जरिए हवा से हवा, हवा से सतह, हवा से शिप और एंटी-शिप मिसाइलें तैनात की जा सकती हैं.