menu-icon
India Daily
share--v1

खुले में लगता है लड़कियों का मेला, रात भर चलता है देह व्यापार का खेला, कहां हैं दुनिया के 5 सबसे बड़े रेड लाइट एरिया

Biggest Red Light Areas in World: रेड लाइट एरियाज दुनिया भर के कई शहरों में एक मुश्किल सामाजिक और आर्थिक समस्या हैं, इसको लेकर अक्सर थाईलैंड अक्सर सुर्खियों में रहता है, लेकिन दुनिया के कई देश हैं जो इस मामले में उससे भी आगे हैं, आज हम ऐसे ही 5 इलाकों के बारे में बताने जा रहे हैं.

auth-image
India Daily Live
Red Light Areas
Courtesy: Social/Twitter

Biggest Red Light Areas in World: दुनिया के सबसे कड़वे सच की बात करें तो उन्हीं में से एक है रेडलाइट एरिया या फिर ऐसी जगह जहां पर खुलकर देह व्यापार किया जाता है. आमतौर पर जब भी रेडलाइट एरियाज की बात की जाती है तो उन बदनाम गलियों का ख्याल आता है जहां पर जाने से अक्सर विवाद होते हैं जिसमें थाईलैंड भी शामिल है, हालांकि आज हम ऐसे 5 रेडलाइट एरिया के बारे में बताएंगे जो न सिर्फ मशहूर हैं बल्कि देश-विदेश से लोग यहां पर सिर्फ इसी इरादे से आते हैं.

1. रियो डी जनेरियो, ब्राजील (Rio de Janeiro, Brazil): अपने खूबसूरत Beaches और कार्निवल फेस्टीवल्स के लिए मशहूर रियो डी जनेरियो का एक और चेहरा भी है जिसे देखने के लिए लोग दूर से आते हैं. वो है यहां का रेड लाइट एरिया जो कि कोपाकबाना और इपननेमा जैसे मशहूर टूरिस्ट स्पॉट्स के पास बने हैं. इन इलाकों में फैली गरीबी, असमानता और क्राइम के चलते सेक्स वर्क को बढ़ावा मिलता है. हालांकि सेक्स वर्कर्स का जीवन कठिन और जोखिमों से भरा हुआ है. तस्करी, हिंसा और एसटीडी (सेक्सुएल ट्रांसमीटिड डिसिज) का खतरा हमेशा बना रहता है. 

2. एम्स्टर्डम, नीदरलैंड (Red Light District, Amsterdam, Netherlands): नीदरलैंड्स में प्रॉस्टीट्यूशन लीगल है. शायद यही वजह है कि एम्स्टर्डम का रेड लाइट डिस्ट्रिक्ट दुनिया भर में काफी मशहूर है. यहां की नहरों के किनारे बनी इमारतों में लाल बत्तियां जलती हुई दिखाई देती हैं, जो बताती हैं कि यहां सेक्स वर्कर्स रहते हैं. हालांकि, लीगलाइजेशन के बावजूद, यहां सेक्स वर्कर्स को शोषण और हिंसा का सामना करना पड़ता है.

3. रेपरबाम, जर्मनी (Reeperbahn, Germany): जर्मनी के हम्बर्ग शहर में स्थित रेपरबाम यूरोप के सबसे बड़े रेड लाइट एरियाज में से एक है. यहां क्लब, प्रॉस्टीट्यूशन और एडल्ट एंटरटेनमेंट सेंटर्स की भरमार है. जर्मनी में भी प्रॉस्टीट्यूशन को लीगल कर दिया गया है, लेकिन रेपरबाम की गलियों में चलने वाला धंधा ज्यादातर अवैध ही माना जाता है. 

तस्करी और मानव व्यापार जैसी समस्याएं यहां भी बनी हुई हैं. कई सेक्स वर्कर्स नाबालिग होती हैं और उन्हें हिंसा का सामना करना पड़ता है. इसके अलावा, ड्रग्स का कारोबार भी रेपरबाम की एक बड़ी समस्या है.

4. कबुकीचो, टोक्यो, जापान (Kabukicho, Japan): टोक्यो का कबुकीचो डिस्ट्रिक्ट मनोरंजन और नाइटलाइफ के लिए जाना जाता है. लेकिन इसके अंदरूनी हिस्सों में कई प्रॉस्टीट्यूशन और एडल्ट एंटरटेनमेंट सेंटर्स मौजूद हैं. जापान में भी प्रॉस्टीट्यूशन को कुछ हद तक लीगल माना जाता है, लेकिन यहां भी सेक्स वर्कर्स को शोषण और हिंसा का सामना करना पड़ता है. एसटीडी (सेक्सुएल ट्रांसमीटिड डिसिज) का खतरा भी हमेशा बना रहता है. कबुकीचो में यक़ुज़ा (Yakuza) नामक क्राइम सिंडिकेट का हिस्सा भी माना जाता है जो सेक्स वर्क के धंधे को कंट्रोल करता है.

5. ला पामपिता, अर्जेंटीना (La Pampa, Argentina): अर्जेंटीना की राजधानी ब्यूनस आयर्स में स्थित ला पामपिता को दुनिया के सबसे खतरनाक रेड लाइट एरियाज में से एक माना जाता है. यहां गरीबी, अपराध और ड्रग्स का कारोबार चरम पर है. सेक्स वर्कर्स ज्यादातर गरीबी और लाचारी के कारण इस दलदल में फंस जाती हैं. पुलिस की मौजूदगी नाममात्र होती है और हिंसा का खतरा हमेशा बना रहता है. मानव तस्करी के भी कई मामले यहां सामने आते रहते हैं. ला पामपिता की बदहाली पर्यटकों के सामने नहीं आती, लेकिन यह शहर के अंधेरे को दर्शाता है.