share--v1

तेलंगाना में आसान नहीं है रेवंत रेड्डी की राह, मुख्यमंत्री पद के लिए ये भी प्रबल दावेदार

कांग्रेस विधायक दल (CLP) ने तेलंगाना सरकार के गठन पर चर्चा के लिए आज नवनिर्वाचित विधायकों की बैठक बुलाई. बैठक का नेतृत्व AICC पर्यवेक्षक और कर्नाटक के डिप्टी CM डीके शिवकुमार और तेलंगाना AICC प्रभारी माणिकराव ठाकरे ने किया.

auth-image
Om Pratap
फॉलो करें:

हाइलाइट्स

  • तेलंगाना के मुख्यमंत्री की रेस में तीन नेता शामिल हैं
  • ए रेवंत रेड्डी तेलंगाना के सीएम की रेस में सबसे आगे

Telangana CM Announcement Soon: तेलंगाना के मुख्यमंत्री पद के लिए ए. रेवंत रेड्डी की राह उतनी आसान नहीं है. रेवंत रेड्डी के अलावा दो अन्य नाम हैं, जो मुख्यमंत्री की रेस में शामिल हैं. इनमें भट्टि विक्रमार्क मल्लू और उत्तम कुमार रेड्डी शामिल हैं. बता दें कि कांग्रेस विधायक दल (CLP) ने तेलंगाना सरकार के गठन पर चर्चा के लिए आज नवनिर्वाचित विधायकों की बैठक बुलाई. बैठक का नेतृत्व AICC पर्यवेक्षक और कर्नाटक के डिप्टी CM डीके शिवकुमार और तेलंगाना AICC प्रभारी माणिकराव ठाकरे ने किया.

बैठक के बाद एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में डीके शिवकुमार ने कहा कि नवनिर्वाचित विधायकों ने फैसला लिया है कि राज्य के मुख्यमत्री का फैसला पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे करें. बता दें कि 2014 राज्य बनने के बाद तेलंगाना में अब तक बीआरएस (पहले टीआरएस) का शासन था. राज्य में 30 नवंबर को विधानसभा चुनाव के लिए सभी 119 सीटों पर वोटिंग हुई थी, जिसके नतीजे 3 दिसंबर को आए.

119 सदस्यीय तेलंगाना विधानसभा में कांग्रेस ने 65 सीटें जीतीं, जबकि बीआरएस को केवल 39 सीटें मिलीं. फिलहाल, कांग्रेस ने अभी तक मुख्यमंत्री उम्मीदवार की घोषणा नहीं की है. कहा जा रहा है कि कांग्रेस आलाकमान की ओर से जल्द ही मुख्यमंत्री के चेहरे का ऐलान हो सकता है. फिलहाल, मुख्यमंत्री की रेस में तेलंगाना कांग्रेस चीफ ए रेवंत रेड्डी के अलावा दो अन्य नाम शामिल हैं.

रेवंत रेड्डी

तेलंगाना कांग्रेस चीफ के रूप में रेवंत रेड्डी की कार्यशैली के कारण पार्टी के भीतर उनके कई आलोचक बने, लेकिन 54 साल के रेवंत रेड्डी ने दक्षिणी राज्य में बीआरएस को उखाड़ फेंकने के लिए अपने कार्यकर्ताओं के साथ अच्छा और बेहतर तालमेल रखा. कांग्रेस ने उन्हें विधानसभा चुनाव में मुख्यमंत्री के.चंद्रशेखर राव के खिलाफ उतारा, जो राज्य में उनके बढ़ते कद का संकेत देता है.

जुलाई 2021 में तेलंगाना कांग्रेस चीफ के रूप में अपनी नियुक्ति के बाद, रेड्डी जमीनी कार्यकर्ता के रूप में काम करते रहे. उन्होंने सत्तारूढ़ बीआरएस सरकार के खिलाफ कई मुद्दों पर सड़क पर विरोध प्रदर्शन का नेतृत्व भी किया. 

भट्टी विक्रमार्क मल्लू

कांग्रेस विधायक दल के नेता मल्लू भट्टी विक्रमार्क, केसीआर को हटाने के लिए कांग्रेस के अभियान का एक प्रमुख चेहरा थे. चुनावों से पहले, उन्होंने न केवल मतदाताओं को जीतने के लिए बल्कि उनसे बात करने और उनकी चिंताओं को समझने के लिए राज्य भर में 1,400 किलोमीटर की पदयात्रा की.

62 साल के मल्लू के 'पीपुल्स मार्च' ने राज्य में कांग्रेस के पुनरुत्थान को सुनिश्चित करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई.

उत्तम कुमार रेड्डी

उत्तम कुमार रेड्डी जुलाई 2021 तक तेलंगाना कांग्रेस के चीफ थे. उनकी जगह रेवंत रेड्डी को नियुक्त किया गया. हालांकि रेवंत रेड्डी के साथ-साथ उत्तम कुमार रेड्डी की अभी भी तेलंगाना कांग्रेस के नेताओं, कार्यकर्ताओं में अच्छी पकड़ है. वे कार्यकर्ताओं के बीच काफी लोकप्रिय भी हैं. कहा जा रहा है कि मुख्यमंत्री पद के लिए कांग्रेस उनके नाम पर भी विचार कर सकती है.

Also Read

First Published : 04 December 2023, 02:30 PM IST