menu-icon
India Daily
share--v1

'होटल में लड़कियां बुलाते हैं...' वाला आरोप लगाने वाले ने मांगी माफी, अमित मालवीय ने भेजा नोटिस तो कांग्रेस पर फोड़ दिया ठीकरा

कांग्रेस ने जिस राष्ट्रीय स्वंय सेवक संघ (RSS) कार्यकर्ता शांतनु सिन्हा का हवाला देकर अमित मालवीय को घेरा था, अब उसने ऐसी पलटी मारी है कि खुद कांग्रेस बुरी तरह से फंस गई है. शांतनु सिन्हा ने दावा किया है कि कांग्रेस, अमित मालवीय और भारतीय जनता पार्टी (BJP) के खिलाफ नफरती कैंपेन चला रही है.

auth-image
India Daily Live
Amit Malviya
Courtesy: Social Media.

सोशल मीडिया पर शांतनु सिन्हा ने कहा है कि यह कांग्रेस की शरारत है. कांग्रेस नैतिक रूप से सबसे भ्रष्ट पार्टी है और हमारे बारे में नफरती कैंपेन चला रही है. उन्होंने कहा, 'मैं साफ तौर पर कह देना चाहता हूं कि मैंने अमित मालवीय की छवि को धूमिल करने के लिए यह नहीं किया था. यह एक चेतावनी थी कि वे हनी ट्रैप में न फंसें. यह सबसे पहले तथागत रॉय सामने लेकर आए थे. अगर मेरी पोस्ट से अमित मालवीय को ठेस पहुंची है तो मैं खेद जताता हूं.'

शांतनु सिन्हा ने लिखा, 'अमित मालवीय को हनी ट्रैप में फंसाया जा सकता है. कुछ भ्रष्ट नेता अपनी पोस्ट पर कायम रहना चाहते हैं, जबकि पार्टी की बड़ी हार हुई है. हमारे हनी ट्रैप को लेकर बुरे अनुभव हैं. कैलाश विजयवर्गीय, सिद्धार्थ नाथ सिंह और प्रदीप जोशी के कार्यकाल के दौरान भी ऐसे मामले सामने आए थे.' 
 

 

कांग्रेस ने क्या लगाए हैं आरोप?

कांग्रेस नेता सु्प्रिया सुले ने मंगलवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस कर आरोप लगाए थे कि बीजेपी आईटी सेल के हेड अमित मालवीय पर यौन उत्पीड़न के मामले हैं. अमित मालवीय के खिलाफ जांच की कांग्रेस ने मांग की थी. अमित मालवीय ने इस प्रकरण पर 10 करोड़ की मानहानि केस दायर किया था. उन्होंने मानसिक उत्पीड़न के लिए सार्वजनिक माफी मांगने की बात भी कही थी. अमित मालवीय के नोटिस के बाद अब शांतनु की सफाई आई है.  

अमित मालवीय के नोटिस पर क्या है RSS नेता का रिएक्शन?

शांतनु ने अपनी पोस्ट में कहा, 'मैंने फेसबुक पोस्ट में किसी का जिक्र नहीं किया है. मैं केवल बीजेपी के राज्य स्तर के उन नेताओं से सवाल करना चाहता था जो अपने दिल्ली के आकाओं को खुश करने के लिए संदिग्ध तरीकों का इस्तेमाल करते हैं, जिससे वे अपने पद पर बने रह सकें. मेरी फेसबुक पोस्ट को गलत तरीके से पेश किया गया है. मैंने जो कुछ भी कहा है, उस पर मैं कायम हूं. मैंने न तो अपनी पोस्ट वापस ली है और न ही मैं किसी धमकी के आगे झुकने वाला हूं. मैंने लीगल नोटिस का जवाब देने के लिए वक्त मांगा है. अगर वे सिविल या क्रिमिनल प्रक्रिया शुरू करते हैं, मैं उसी हिसाब से काम करूंगा.'