menu-icon
India Daily
share--v1

कर्नाटक स्कैंडल केस में बरी हो जाऐंगे प्रज्वल रेवन्ना? सबूत मिल नहीं रहे, फॉरेंसिक जांच भी अधूरी

प्रज्वल रेवन्ना के खिलाफ जांच में अभी तक पुलिस को कोई ठोस सबुत नहीं मिला है. जो वीडियो हैं उसमें प्रज्वल का चेहरा या आवाज साफ नहीं है. इन वीडियो की फॉरेंसिक जांच रिपोर्ट अभी तक नहीं आई है. पुलिस अभी तक घटना के लोकेशन को नहीं खोज पाई है.

auth-image
India Daily Live
prajwal revanna
Courtesy: Social Media

कई महिलाओं के साथ रेप करने के आरोप में हासन सीट के पूर्व सांसद प्रज्वल रेवन्ना पुलिस कस्टडी में हैं. प्रज्वल रेवन्ना के 26 अप्रैल को होने वाले लोकसभा चुनावों से पहले, बड़ी संख्या में अश्लील वीडियो वायरल हुए थे, जिनमें कथित तौर पर प्रज्वल रेवन्ना द्वारा महिलाओं का यौन उत्पीड़न किया गया था. मामला बड़ा हुआ तो वह देश छोड़कर जर्मनी भाग गया. एक महीने बाद जब वह लौटा तो बेंगलुरु एयरपोर्ट से उसे एसआईटी टीम ने गिरफ्तार कर लिया. प्रज्वल 10 जून तक SIT की हिरासत में है.

दैनिक भास्कर की एक रिपोर्ट की माने तो पुलिस को प्रज्वल रेवन्ना मामले में अभी तक कोई ठोस सबुत नहीं मिला है. प्रज्वल के खिलाफ सिर्फ तीन महिलाओं ने शिकायत की है, जबकि पुलिस के पास 2970 से ज्यादा वीडियो हैं. बचाव पक्ष सवाल उठा सकता है कि बाकी पीड़ित कहां हैं और ये तीन महिलाएं इतने साल कहां थीं. जो वीडियो हैं उसमें प्रज्वल का चेहरा या आवाज साफ नहीं है.

तीन महिलाओं ने दर्ज कराया है केस

पुलिस अभी तक घटना के लोकेशन को नहीं खोज पाई है. प्रज्वल रेवन्ना पर दो महिलाओं से रेप और एक महिला को किडनैप करने का आरोप है. इस केस की जांच में शामिल एक अधिकारी ने बताया है कि प्रज्जव रेवन्ना पूछताछ में सहयोग नहीं कर रहा है. उसने किसी महिला के साथ रेप करने की बात नहीं माना है. 

सारे फोन नष्ट, नहीं मिला कोई सबुत

भास्कर की रिपोर्ट की माने तो  प्रज्जव रेवन्ना ने अपने सारे फोन नष्ट कर दिए हैं. उसके पास कोई भी पुराना फोने नहीं है. एसआईटी की टीम को उसके पास के एक एंड्रायड फोन मिला है जो उसने जर्मनी में खरीदा था. अधिकारी ने आरोप लगाया कि इस केस को देखकर लगता है कि आरोपी को सबूत मिटाने के लिए पूरा वक्त दिया गया. उसके पुराने फोन एपल आईडी से फोन को रिस्टोर करने की कोशिश की जा रही है. जांच कर रहे अधिकारी का कहना है कि हम ज्यादा से ज्यादा एक साल के इलेक्ट्रॉनिक एविडेंस ही रिट्राइव कर सकते हैं.  

सेक्स वीडियो की फोरेंसिक जांच में देरी

प्रज्वल रेवन्ना को 31 मई को गिरफ्तार किया गया. कोर्ट ने पुलिस कस्टडी 10 जून तक बढ़ा दी है. SIT ने उसकी हिरासत 5 दिन बढ़ाने की गुजारिश की थी, ताकि क्राइम सीन का रिक्रिएशन और फोरेंसिक जांच की जा सके. जांच कर रही टीम को अभी तक प्रज्वल रेवन्ना का फोन नहीं मिला है. कैलिफोर्निया में एपल के हेडक्वॉर्टर से कॉन्टैक्ट किया गया है. पुलिस को अब तक ओरिजनल वीडियो और डिवाइस नहीं मिला है जिससे ये वीडियो बनाए गए. अभी तक सेक्स वीडियो की फोरेंसिक जांच रिपोर्ट नहीं आई है.