share--v1

पूर्व पीएम मनमोहन के इस हुनर के कायल हुए Modi, बोले- सांसद हो तो ऐसा

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राज्यसभा में आज पूर्व पीएम डॉक्टर मनमोहन सिंह की जमकर तारीफ की. उन्होंने मनमोहन सिंह से जुड़ी एक घटना का जिक्र करते हुए कहा कि जो कुछ दिखा था, वो उनकी कर्तव्यों के प्रति सचेत रहने का उदाहरण है.

auth-image
Om Pratap
फॉलो करें:

PM Modi praises Manmohan Singh: प्रधानमंत्री नरेद्र मोदी ने आज यानी गुरुवार को राज्यसभा में पूर्व पीएम मनमोहन सिंह की जमकर तारीफ की. पीएम मोदी उच्च सदन यानी राज्य सभा से रिटायर हो रहे सदस्यों की विदाई के दौरान बोल रहे थे. पीएम मोदी ने पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह के योगदान की सराहना की और कहा कि मनमोहन सिंह ने व्हीलचेयर में भी काम किया.

प्रधान मंत्री मोदी ने कहा कि मुझे याद है कि दूसरे सदन में मतदान के दौरान, सभी को पता था कि सत्ता पक्ष की जीत होगी, लेकिन डॉक्टर मनमोहन सिंह अपनी व्हीलचेयर में आए और अपना वोट डाला. उन्होंने कहा कि ये एक सदस्य के अपने कर्तव्यों के प्रति सचेत रहने का उदाहरण है. 

प्रधानमंत्री ने कहा कि समिति के सदस्यों के चुनाव के दौरान भी मनमोहन सिंह वोट डालने के लिए व्हीलचेयर पर आए थे. उन्होंने कहा कि इससे कोई फर्क नहीं पड़ता कि वे (मनमोहन सिंह) किसका समर्थन कर रहे थे. मेरा मानना ​​है कि वे केवल इस लोकतंत्र को मजबूत कर रहे थे. मैं प्रार्थना करता हूं कि वह लंबे समय तक जीवित रहें और हमारा मार्गदर्शन करते रहें.

जुलाई और अगस्त में व्हीलचेयर पर राज्यसभा पहुंचे थे मनमोहन सिंह

पूर्व प्रधानमंत्री डॉक्टर मनमोहन सिंह पिछले साल यानी अगस्त 2023 में एक प्रमुख विधेयक पर चर्चा के दौरान व्हीलचेयर पर राज्यसभा पहुंचे थे. इस विधेयक में केंद्र सरकार को दिल्ली सरकार से संबंधित मामलों में नियम बनाने का अधिकार देने की मांग की गई थी. इससे एक महीने पहले भी राष्ट्रपति चुनाव के दौरान पूर्व प्रधानमंत्री व्हीलचेयर पर वोट डालने पहुंचे थे.

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि एक नेता और विपक्ष के रूप में मनमोहन सिंह का योगदान अतुलनीय रहा है, जिस तरह से मनमोहन सिंह ने इतने लंबे समय तक इस सदन और देश का मार्गदर्शन किया है, उन्हें हर चर्चा के दौरान उनके योगदान के लिए याद किया जाएगा. 

छह बार सांसद रहे मनमोहन सिंह 2004 से 2014 के बीच देश के 13वें प्रधान मंत्री के रूप में कार्य कर चुके हैं. वे पीवी नरसिम्हा राव सरकार में वित्त मंत्री और 1982-1985 तक आरबीआई गवर्नर भी थे. रिटायर हो रहे राज्यसभा सदस्यों को आज दिल्ली में सभापति जगदीप धनखड़ के आवास पर शाम साढ़े छह बजे विदाई दी जाएगी. इससे पहले आज सुबह 10 बजे राज्यसभा के सदस्यों ने राष्ट्रपति भवन में एक ग्रुप फोटो में हिस्सा लिया.

डॉक्टर मनमोहन सिंह राजस्थान से राज्यसभा सांसद हैं. अप्रैल में उनके साथ देश के 55 अन्य राज्यसभा सांसदों का भी कार्यकाल खत्म होगा. इनमें 9 केंद्रीय मंत्री भी हैं. इनमें भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा के अलावा केंद्रीय मंत्री अश्विनी वैष्णव, राजीव चंद्रशेखर, नारायण राणे, धर्मेंद्र प्रधान, मनसुख मंडाविया और भूपेंद्र यादव शामिल हैं.

आज जारी होगा नोटिफिकेशन

15 राज्यों की 56 राज्यसभा सीटों पर 27 फरवरी को मतदान होगा. 13 राज्यों के 50 राज्यसभा सदस्यों का कार्यकाल 2 अप्रैल को, जबकि बाकी दो अन्य राज्यों के 6 सदस्यों का कार्यकाल 3 अप्रैल को खत्म होगा. अप्रैल में जिन 15 राज्यों में नए राज्यसभा सांसदों का चुनाव होगा, उन राज्यों में उत्तर प्रदेश, महाराष्ट्र, बिहार, पश्चिम बंगाल, मध्य प्रदेश, गुजरात, आंध्र प्रदेश, तेलंगाना, राजस्थान, कर्नाटक, उत्तराखंड, छत्तीसगढ़, ओडिशा, हरियाणा और हिमाचल प्रदेश शामिल है.

किस राज्य से कितने राज्यसभा सांसद होंगे रिटायर

  • उत्तर प्रदेश से 10
  • महाराष्ट्र और बिहार से 6-6
  • मध्य प्रदेश और पश्चिम बंगाल से 5-5
  • गुजरात और कर्नाटक से 4-4
  • आंध्र प्रदेश और तेलंगाना से 3-3
  • छत्तीसगढ़, हरियाणा, हिमाचल प्रदेश और उत्तराखंड से 1-1

आज जारी होगा नोटिफिकेशन

15 राज्यों में राज्यसभा सांसदों के चुनाव के लिए आज नोटिफिकेशन जारी होगा. 15 फरवरी तक नामांकन दाखिल किया जा सकेगा. 16 फरवरी तक स्क्रूटनी होगी. नामांकन वापसी की तारीख 20 फरवरी है. 

 

Also Read

First Published : 08 February 2024, 12:11 PM IST