menu-icon
India Daily
share--v1

Lok Sabha Elections 2024: मास्टरस्ट्रोक साबित हुआ भारत रत्न का सम्मान, जयंत चौधरी ने किया NDA में शामिल होने का आधिकारिक ऐलान

Lok Sabha Elections 2024: राष्ट्रीय लोक दल (आरएलडी) के मुखिया जयंत चौधरी की ओर से लोकसभा चुनाव में एनडीए के साथ लड़ने की बात कहने के कुछ हफ्तों बाद ही आरएलडी ने शनिवार को औपचारिक रूप से बीजेपी के नेतृत्व वाले राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (एनडीए) में शामिल होने का ऐलान कर दिया है.

auth-image
India Daily Live
Jayant Chaudhary

Lok Sabha Elections 2024: आगामी लोकसभा चुनावों को देखते हुए जहां भारतीय जनता पार्टी ने शनिवार को 195 उम्मीदवारों की लिस्ट जारी की तो वहीं पर उत्तर प्रदेश में राष्ट्रीय लोक दल (RLD) ने औपचारिक रूप से राष्ट्रीय डेमोक्रैटिक एलायंस (NDA) में शामिल होने का ऐलान कर दिया है. आरएलडी चीफ जयंत चौधरी ने कुछ हफ्ते पहले ही इस बात का खुलासा किया था कि वो यूपी में सपा गठबंधन का साथ छोड़कर आगामी लोकसभा चुनावों में एनडीए का दामन थामेंगे.

नड्डा-शाह से मिल एनडीए में शामिल हुई आरएलडी

इस मौके पर आरएलडी चीफ ने बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा और केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह के साथ मुलाकात भी की. जयंत चौधरी ने इस मुलाकात की कुछ तस्वीरों को अपने आधिकारिक ट्विटर हैंडल पर शेयर भी किया है. फोटो शेयर करते हुए बीजेपी अध्यक्ष जेपी नड्डा ने लिखा,'आज माननीय गृह मंत्री अमित शाह की मौजूदगी में आरएलडी के मुखिया जयंत चौधरी जी से मुलाकात हुई, जहां पर हम उनके एनडीए परिवार में शामिल होने के निर्णय का भव्य स्वागत करते हैं.'

जयंत पहले ही कर चुके थे गठबंधन का ऐलान

जयंत चौधरी ने इससे पहले साफ किया था कि उनकी पार्टी ने एकमत होकर एनडीए में शामिल होने का डिसिजन लिया है. उन्होंने पत्रकारों से बात करते हुए कहा था कि मैंने यह निर्णय अपने सभी विधायकों और पार्टी कार्यकर्ताओं से बात करने के बाद लिया है. इस निर्णय के पीछे कोई बड़ी प्लानिंग नहीं थी और न ही हमने बहुत पहले ये डिसिजन लिया था. हमें परिस्थितियों को देखते हुए बहुत कम समय में डिसिजन लेना था और हम देश के लिए कुछ बड़ा करना चाहते थे जो कि लोगों के काम आए.

मास्टरस्ट्रोक साबित हुआ भारत रत्न का सम्मान

जयंत चौधरी ने बताया था कि उनके दादा और पूर्व सीएम चौधरी चरण सिंह को भारत रत्न से सम्मानित करने के बाद ही उन्होंने सभी कार्यकर्ताओं और विधायकों से इस बात को लेकर सलाह ली थी. गौरतलब है कि जैसे ही चौधरी चरण सिंह को भारत के सर्वोच्च नागरिक सम्मान से सम्मानित किए जाने का ऐलान किया गया और उस पर जयंत चौधरी की प्रतिक्रिया आई, उसी से यह साफ हो गया कि बीजेपी और आरएलडी के बीच गठबंधन होना तय है.

आपको बता दें कि पीएम मोदी की ओर से भारत रत्न के नामों का ऐलान करने के बाद जयंत चौधरी ने ट्विटर पर प्रतिक्रिया देते हुए लिखा था कि दिल जीत लिया. जयंत ने यह भी कहा था कि पीएम नरेंद्र मोदी ने ऐसे निर्णय लेकर दिखाए हैं जो कि पिछली सरकारें कभी नहीं ले सकी. महान चौधरी चरण सिंह को इस सम्मान से नवाजा जाना उनकी दूरदर्शिता और बतौर प्रधानमंत्री किए जा रहे प्रयासों को दर्शाता है.

इसके बाद जब उनसे बीजेपी के साथ गठबंधन करने को लेकर सवाल किया गया तो उन्होंने यही कहा था कि मैं आज आपके इस सवाल का जवाब न में कैसे दे सकता हूं.