share--v1

धरने पर बैठी यौन उत्पीड़न की शिकार हुई छात्रा, कहा- JNU हॉस्टल में ही छिपे हैं सारे आरोपी  

JNU Student Protest: जवाहरलाल नेहरू यूनिवर्सिटी की एक छात्रा ने 4 लोगों पर कैंपस में यौन उत्पीड़न का आरोप लगाया है. इस पूरे मामले में विश्वविद्यालय प्रशासन ने जांच के आदेश दे दिए हैं. पीड़िता ने आरोपियों के खिलाफ कार्रवाई नहीं करने का आरोप लगाते हुए अनिश्चितकालीन धरना शुरू कर दिया है.

auth-image
India Daily Live

JNU Student Protest: जवाहरलाल नेहरू यूनिवर्सिटी के मुख्य द्वार पर एक छात्रा अनिश्चितकालीन धरने पर है. छात्रा का कहना है कि उसके साथ यौन उत्पीड़न हुई है और यूनिवर्सिटी एडमिनिस्ट्रेशन ने कोई एक्शन नहीं लिया है. छात्रा ने बताया कि 31 मार्च को कैंपस में वह रात 2 बजे अपनी दोस्त के साथ टहल रही थी. इस दौरान चार लोगों ने पीछा किया. पीड़िता ने बताया कि दो युवक बाइक से और दो कार से उनका पीछा किया और फिर यौन उत्पीड़न किया. पीड़िता का दावा है कि कार में बैठे दोनों युवक जेएनयू के पूर्व छात्र हैं.

पीड़ित छात्रा की शिकायत के बाद JNU एडमिनिस्ट्रेशन ने इस पूरे मामले में जांच के आदेश दिए हैं. वहीं दूसरी तरफ पीड़िता का दावा है कि चारों आरोपी अभी भी यूनिवर्सिटी में घूम रहे हैं. समाचार एजेंसी पीटीआई से बात करते हुए छात्रा ने कहा कि घटना के 30 घंटे बाद भी कोई कार्रवाई नहीं की गई है. पीड़ित छात्रा ने पीटीआई को बताया कि हम अपनी क्लासेस छोड़कर प्रशासनिक भवन का चक्कर काट रहे हैं.

हॉस्टल में रह रहे हैं आरोपी- छात्रा

पीड़िता ने अपनी सुरक्षा की चिंता जताते हुए कहा कि जिन लोगों ने घटना को अंजाम दिया है वह भी विश्वविद्यालय कैंपस स्थित हॉस्टल में ही रहते हैं. छात्रा ने कहा कि मुझे उन लोगों का सामना हॉस्टल, मेस, कॉरिडोर में बार-बार हो रहा है जिसके चलते मैं मानसिक तौर पर परेशान हूं.

चीफ प्रॉक्टर ने कार्रवाई का आश्वासन दिया

इस पूरे मामले में JNU के चीफ प्रॉक्टर सुधीर कुमार ने बताया कि छात्रा की शिकायत के बाद मामले की जांच के लिए तीन सदस्यों की कमेटी बनाई गई है जो इस मामले में जांच कर रही है. उन्होंने कहा कि आरोपियों के खिलाफ सख्त से सख्त कार्रवाई की जाएगी. उन्होंने आगे कहा कि घटना में आरोपी दो लोगों को आउट ऑफ बाउंड फ्रॉम कैंपस डिक्लेयर कर दिया गया है, इन छात्रों को विश्वविद्यालय परिसर में एंट्री नहीं मिल सकती.

Also Read