menu-icon
India Daily
share--v1

'प्यार से मांगते तो जान दे देती, राज्यसभा क्या है लेकिन अब...', पढ़ें स्वाति मालीवाल के इंटरव्यू की बड़ी बातें

Swati Maliwal Interview: दिल्ली के सीएम आवास पर 13 मई को हुई कथित मारपीट की घटना के बाद आप की राज्यसभा सांसद स्वाति मालीवाल ने पहली बार इंटरव्यू दिया है जहां उन्होंने बिभव कुमार के साथ मारपीट के आरोपों को फिर से दोहराया और कई ऐसे मुद्दों पर भी बात की जिन पर सिर्फ अटकलें लगाई जा रही थी.

auth-image
India Daily Live
swati

Swati Maliwal Interview: आम आदमी पार्टी की राज्यसभा सांसद स्वाति मालीवाल ने बतौर NCW चीफ काफी नाम कमाया और यही वजह रही कि फरवरी में जब राज्यसभा के चुनाव हुए तो पार्टी ने उन्हें सांसद बनाया. हालांकि महज 2 महीनों में ही ऐसा क्या हुआ कि जिस पार्टी ने उन्हें लेडी सिंघम का तमगा दिया था वही अब उन्हें बीजेपी का एजेंट बता रही है.

13 मई को सीएम आवास पर अरविंद केजरीवाल से मिलने पहुंची स्वाति मालीवाल के साथ कथित तौर पर मुख्यमंत्री के सचिव बिभव कुमार ने मारपीट की जिसके बाद से ये हाईवोल्टेज ड्रामा रुकने का नाम नहीं ले रहा है. इसको लेकर जहां अरविंद केजरीवाल ने बुधवार को पहली बार चुप्पी तोड़ते हुए कहा था कि इसके दो वर्जन हैं और मैं चाहता हूं कि इसकी निष्पक्ष जांच हो तो वहीं स्वाति मालीवाल ने भी इस पूरी घटना को लेकर पहली बार इंटरव्यू दिया है और कई ऐसी बातों का खुलासा किया है जिस पर महज अटकलें लगाई जा रही थी. 

आइये एक नजर इस इंटरव्य से जुड़ी बड़ी बातों पर डालते हैं-

अगर प्यार से मांगते तो जान दे देती

इस पूरे मामले को लेकर सियासी गलियारों में अटकलें लगाई जा रही थी कि जो नजर आ रहा है उसके पीछे की वजह वो नहीं है, ये सब शायद इसलिए हो रहा है क्योंकि पार्टी उन्हें राज्यसभा की सांसदी से हटाकर किसी सीनियर और खास वकील को ये पद देना चाह रही थी. जब ये सवाल स्वाति मालीवाल से पूछा गया तो उन्होंने कहा,'अगर मेरी राज्यसभा की सीट उन्हें चाहिए थी तो वो प्यार से मांगते तो मैं जान भी दे देती, सांसदी तो बहुत छोटी बात है...लेकिन अब चाहे दुनिया की कोई भी शक्ति लग जाए मैं इस्तीफा नहीं दूंगी.'

मुझे घसीट के मारा और अब सबूत के साथ कर रहे हैं छेड़छाड़

13 मई की घटना पर आप सांसद स्वाति मालीवाल का कहना है, 'मैं अरविंद केजरीवाल से मिलने सीएम आवास गई थी. स्टाफ ने मुझे ड्राइंग रूम में इंतजार करने के लिए कहा और मुझे बताया गया कि सीएम केजरीवाल घर पर हैं और वह मुझसे मिलने आ रहे हैं. इसी बीच उनके पीएस बिभव कुमार आए और मुझे गालियां देने लगे, उन्होंने कहा, "तेरी औकात क्या है" और भी बहुत कुछ. उन्होंने मुझे 7-8 थप्पड़ मारे... मैंने पुलिस को फोन किया और जब उन्हें पता चला कि मैंने पुलिस को फोन किया है तो वह बाहर गया और सिक्योरिटी को बुलाया... उसके बाद जितनी देर बहस हुई उसमें उन्होंने 50 सेकंड का एक छेड़छाड़ किया हुआ मेरा वीडियो वायरल कर दिया. उन्होंने सबूतों के साथ छेड़छाड़ की है."

क्या केजरीवाल को दे दी है क्लीन चिट?

मारपीट मामले पर आप सांसद स्वाति मालीवाल का कहना है, 'मैं किसी को क्लीन चिट नहीं दे रही हूं...सच्चाई यह है कि मेरे साथ अरविंद केजरीवाल के ड्राइंग रूम में मारपीट की गई थी. यह बात एमएलसी में सामने आ गई है. शिकायत में कहा गया है कि पूरी पार्टी (आप) को मेरे खिलाफ खड़ा किया गया और बार-बार मेरा चरित्र हनन किया गया और पीड़िता को शर्मिंदा किया गया. ऐसा कहा जा रहा है कि सीसीटीवी फुटेज गायब हो गए हैं '112' पर कॉल किया गया, मैं दर्द और आघात में था, मुझे लगा कि वह (विभव कुमार) मुझे फिर से मार सकता है... एक जांच चल रही है और मैं इसमें भाग लेना चाहूंगा."

मैंने कभी भी सीएम से मिलने के लिए नहीं लिया अपॉइंटमेंट

13 मई को अपॉइंटमेंट न लेने के आप के आरोपों पर आप सांसद स्वाति मालीवाल का कहना है, 'मैंने बहुत कम अपॉइंटमेंट लिया है, मैं जब भी उनके (सीएम केजरीवाल) आवास पर गई हूं, कभी अपॉइंटमेंट नहीं लिया...उन्होंने कहा कि मैं अतिक्रमण कर रहा था, इसलिए मैं जानना चाहता था कि अगर मैं अतिक्रमण कर रहा होता तो वे मुझे गेट पर ही रोक देते, अगर कोई अपॉइंटमेंट लेकर नहीं आता तो क्या आप उसे पीटेंगे?'

लगता है कि केजरीवाल में बढ़ गया है अहंकार

AAP की राज्यसभा सांसद स्वाति मालीवाल का कहना है, 'मैं 2006 से वहां हूं...मैं 7 साल तक झुग्गियों में रही और हम सभी इसी तरह से काम करते थे, लेकिन जब बिजली आती है, तो मुझे लगता है कि कई चीजें इसके साथ आती हैं और सबसे बड़ी बात जो आता है वह है अहंकार. धीरे-धीरे जब अहंकार आपके सिर पर हावी हो जाता है, तो आप शायद यह नहीं देख पाते कि क्या सच है, क्या झूठ है, क्या सही है, क्या गलत है...मैंने कभी नहीं सोचा था कि एक लड़की को पहले पीटा जाएगा और फिर उसे. पूर्ण चरित्र हनन के साथ अलग-थलग कर दिया जाएगा, मुझे लगता है कि हर किसी का अहंकार बहुत बढ़ गया है, लेकिन मेरा मानना है कि सब कुछ ऊपर से शुरू होता है..."

दबाव बनाने के लिए हर रोज किया जा रहा है मुझ पर इतना हमला

मुख्यमंत्री के उस बयान के बारे में पूछे जाने पर कि आप पर समझौता करने का दबाव था, आप की राज्यसभा सांसद स्वाति मालीवाल कहती हैं, "मुझे ट्रोल किया गया है और मेरे चरित्र हनन के लिए हर दिन प्रेस कॉन्फ्रेंस की जा रही हैं. यह केवल मुझ पर दबाव बनाने के लिए किया जाता है, ताकि मैं इस मामले को खत्म कर दूं...उस एफआईआर में मेरे द्वारा कहा गया हर शब्द बिल्कुल सही है. मैं पॉलीग्राफ, नार्को टेस्ट से गुजरने के लिए तैयार हूं...'मैं इतनी सस्ती नहीं हूं, मुझे पता है ये लड़ाई मैं अकेली ही लड़ूंगी.'