menu-icon
India Daily
share--v1

Farmer Protest: केंद्र सरकार और किसानों के बीच तीसरे दौर की बातचीत भी बेनतीजा समाप्त, क्या होगा आगे?

Farmer Protest 2024: किसान प्रतिनिधियों और केंद्र सरकार के बीच चंडीगढ़ में जारी बातचीत का तीसरा दौर भी गुरुवार शाम को बगैर किसी नतीजे के समाप्त हो गया है.

auth-image
India Daily Live
farmer protest

Farmer Protest: अपनी मांगों को लेकर 13 फरवरी को दिल्ली कूच का ऐलान करने वाले किसानों और केंद्र सरकार के बीच गुरुवार को बातचीत का दौर जारी रहा. लेकिन सरकार और किसान संगठनों के बीच फिर से बातचीत का कोई नतीजा नहीं निकला है. दोनों पक्षों के बीच तीसरे दौर की बातचीत भी बिना किसी नतीजे के समाप्त हो गई है. 

एक और बातचीत बेनतीजा समाप्त

किसानों के दिल्ली चलो मार्च के तीसरे दिन चंडीगढ़ में किसान प्रतिनिधियों और केंद्र सरकार के बीच बातचीत हो रही थी. सरकार की तरफ से पीयूष गोयल, अर्जुन मुंडा और नित्यानंद राय बातचीत कर रहे थे. अब तक दो बार, 8 फरवरी और 12 फरवरी को, बातचीत हो चुकी है.

इन जिलों में फिर आगे बढ़ेगा इंटरनेट का बंद होना

मार्च को देखते हुए हरियाणा सरकार ने अंबाला, कुरुक्षेत्र, कैथल, जींद, हिसार, फतेहाबाद और सिरसा में इंटरनेट बंद को और आगे बढ़ाने का फैसला कर दिया है. ये तीसरी बार है जब किसान प्रदर्शन के चलते राज्य में इंटरनेट सेवाओं को सस्पेंड किया जा रहा है.

हरियाणा किसान यूनियन के प्रमुख गुरनाम सिंह चारुनी ने तीन फैसले लिए हैं:

  • शुक्रवार दोपहर 12 से 3 बजे तक हरियाणा में टोल नहीं लिया जाएगा.
  • 18 फरवरी दोपहर 12 बजे हर तहसील में ट्रैक्टर परेड निकाली जाएगी.
  • 18 फरवरी को सभी किसान और मजदूर संगठनों की संयुक्त बैठक होगी.

बता दें चारुणी का हरियाणा में काफी प्रभाव है, लेकिन वह इस बार के विरोध में सीधे शामिल नहीं हैं. वह 2020-21 के किसान विरोध में शामिल थे.

इससे पहले 15 फरवरी को पंजाब के राजपुरा में किसान रेलवे स्टेशन पर रेल रोके हुए थे. कांग्रेस ने भी किसानों के साथ खड़े होने की बात दोहराई है.

भारत बंद 

आज यानी 16 फरवरी को संयुक्त किसान मोर्चा ने भारत बंद का आह्वान किया है. भारत बंद को सफल बनाने के लिए देश की सभी किसान यूनियन एकजुट होंगी. इन सबको देखते हुए पंजाब, हरियाणा, यूपी, दिल्ली तक पुलिस-प्रशासन पूरी तरह से चौकस हो चुका है.