share--v1

वो जेल जहां मुख्यमंत्री से लेकर आतंकी तक हैं कैद, जानें देश के सबसे बड़े Tihar Jail का इतिहास

Delhi Liquor Case News: दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को तिहाड़ में जेल नंबर-2 में रखा गया है. वे 15 अप्रैल तक न्यायिक हिरासत में रहेंगे. केजरीवाल के अलावा तिहाड़ जेल में आतंकियों से लेकर गैंगस्टर तक बंद हैं. आइए, जानते हैं तिहाड़ जेल का इतिहास.

auth-image
India Daily Live

Delhi Liquor Case News: दिल्ली एक्साइज पॉलिसी मामले में अरविंद केजरीवाल 15 अप्रैल तक तिहाड़ जेल में रहेंगे. तिहाड़ न सिर्फ भारत बल्कि साउथ ईस्ट एशिया की सबसे बड़ी जेल है. 400 एकड़ एरिया में फैले तिहाड़ में 9  भारत का एक सबसे बड़ा जेल परिसर है. यह जेल 400 एकड़ से अधिक में फैली है जिसमें 9 फंक्शन जेल हैं. दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के जेल नंबर 2 में रखा गया है. कुछ दिनों पहले तक इस जेल में इसी मामले में गिरफ्तार किए गए आम आदमी पार्टी के राज्यसभा सांसद संजय सिंह बंद थे. 

जिस जेल नंबर-2 में केजरीवाल को रखा गया है, वहां गैंगस्टर नीरज बवाना और अंडरवर्ल्ड डॉन छोटा राजन पहले से बंद है. तिहाड़ में एक जेल के अंदर वार्ड और फिर उसके अलग-अलग सेल बने हैं. इन वार्डों में से एक में अरविंद केजरीवाल बंद हैं. जेल नंबर 2 में एक मॉनिटरिंग रूम बना हुआ है जो 24×7 काम करता है. इस मॉनिटरिंग रूम का कनेक्शन जेल के हेड क्वार्टर से होता है.

अब जान लीजिए, तिहाड़ जेल के कैदियों की रूटीन

तिहाड़ जेल में बंद कैदियों को सुबह 6 बजे उठना होता है. थोड़ी देर बाद जेल प्रशासन सभी कैदियों और विचाराधीन बंदियों की काउंटिंग करता है. करीब डेढ़ घंटे बाद यानी 7:30 बजे नाश्ता दिया जाता है. इसमें चाय, दलिया/ब्रेड होता है. 

नाश्ता देने के करीब 3 घंटे बाद कैदियों और बंदियों के लिए लंच टाइम होता है. शाम करीब 4 बजे चाय और बिस्किट दी जाती है. फिर करीब 3 घंटे बाद डिनर दिया जाता है. 1 घंटे बाद काउंटिंग कर जेल प्रशासन सभी कैदियों और बंदियों को उनके वार्ड में भेज देता है. 

अरविंद केजरीवाल को तिहाड़ जेल में कौन-कौन की सुविधाएं? 

  • दिल्ली के मुख्यमंत्री एक हफ्ते में 2 दिन मुलाकात कर सकते हैं. 
  • तिहाड़ जेल मैनुअल के मुताबिक, केजरीवाल हफ्ते में 2 बार वीडियो कॉल पर बात कर सकते हैं.
  • केजरीवाल हर दिन 5 मिनट के लिए फोन कर सकते हैं.
  • मुलाकाती से मुलाकात के लिए मैनुअल के मुताबिक 20 मिनट का समय दिया गया है.
  • दिल्ली के CM को उनकी मांग पर पढ़ने के लिए महाभारत, रामायण और नीरजा चौधरी की लिखी किताब 'हाउ प्राइम मिनिस्टर्स डिसाइड' दी गई है.

केजरीवाल को जिस बैरक में रखा गया है, उसकी लंबाई 14 फीट जबकि चौड़ाई 8 फीट है. उन्हें बैरक के अंदर बने सीमेंट के चबूतरे पर सोने के लिए चादर और कंबल भी दी गई है. बैरक में ही एक टीवी लगाया गया है और अंदर टायलेट की भी सुविधा दी गई है. उन्हें एक-एक बाल्टी नहाने और पानी रखने के लिए भी दी गई है. 
केजरीवाल के बैरक के बाहर 4 सुरक्षाकर्मियों को भी तैनात किया गया है. 

तिहाड़ के जेल नंबर-2 की कहानी काफी इंट्रेस्टिंग है. केजरीवाल से पहले इस जेल में अंडरवर्ल्ड डॉन छोटा राजन, बिहार के बाहुबली सांसद मोहम्मद शहाबुद्दीन को रखा जा चुका है. तिहाड़ जेल में फिलहाल, खतरनाक आतंकियों से लेकर, अंडरवर्ल्ड डॉन और कई कुख्यात गैंगस्टर तक कैद हैं. 

क्या है तिहाड़ जेल का इतिहास?

देश की आजादी के करीब 10 साल बाद यानी 1957 में राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में एक बड़े जेल का निर्माण किया गया. ये जेल दिल्ली के तिहाड़ गांव के पास बनाया गया था. इसलिए इस जेल का नाम तिहाड़ पड़ गया. रिपोर्ट्स के मुताबिक, समय-समय पर तिहाड़ जेल का विस्तार होता रहा है. 

जेल के निर्माण के बाद से इसका संचालन पंजाब सरकार की ओर से किया जाता था, लेकिन 1966 में इसका संचालन दिल्ली को ट्रांसफर कर दिया गया. तिहाड़ जेल राष्ट्रीय राजधानी के पश्चिम में स्थित है, जो जनकपुरी इलाके से करीब 3 किमी दूर है. 

एक्साइज पॉलिसी मामले के अन्य आरोपी भी तिहाड़ जेल में बंद

दिल्ली एक्साइज पॉलिसी केस के अन्य आरोपी भी तिहाड़ के अलग-अलग जेलों में बंद हैं. 

  • जेल नंबर-2 में केजरीवाल
  • जेल नंबर-1 में मनीष सिसोदिया
  • जेल नंबर-5 में संजय सिंह
  • जेल नंबर-7 में सत्येंद्र जैन
  • जेल नंबर-6 में के कविता बंद
  • जेल नंबर-4 में विजय नायर

ED ने केजरीवाल को 21 मार्च को गिरफ्तार किया था. इसके बाद उन्हें 28 मार्च तक ED की हिरासत में भेज दिया गया था. फिर ED की याचिका पर केजरीवाल की रिमांड 4 दिनों के लिए बढ़ाकर 1 अप्रैल कर दी गई थी. फिर 1 अप्रैल को राउज एवेन्यू कोर्ट ने उन्हें 15 अप्रैल तक न्यायिक हिरासत में भेज दिया.

Also Read

First Published : 02 April 2024, 02:30 PM IST