menu-icon
India Daily
share--v1

12 साल के बच्चे ने खाया था ये पान, पेट में हो गया छेद, समझिए कितना खतरनाक है लिक्विड नाइट्रोजन

तरल नाइट्रोजन पान खाने के बाद एक 12 वर्षीय लड़की को पेट की समस्या हो गई, जिसके कारण नारायण मल्टीस्पेशलिटी अस्पताल में सर्जरी की गई.

auth-image
Gyanendra Sharma
liquid nitrogen paan

बेंगलुरु में एक 12 साल के बच्ची ने लिक्विड नाइट्रोजन पान खा लिया. जिससे उसके पेट में छेद हो गया. पेट में परेशानी होने पर उसके माता-पिता उसे अस्पताल लेकर गए. जहां डॉक्टरों ने उसका इलाज किया. लड़की के पेट में एक छेद था. 

लड़की ने बताया कि उसने ऐसे ही स्मोकी पान ट्राई किया. मेरे सारे दोस्त खा रहे थे तो मैंने भी ट्राई कर लिया. किसी और को कई परेशानी नहीं हुई, लेकिन मुझे पेट में दर्द महसूस हुआ. धीरे-धीरे दर्द इतना बढ़ गया कि असहनीय हो गया. एचएसआर लेआउट में नारायण मल्टीस्पेशलिटी अस्पताल में, जांच करने वाले डॉक्टरों ने कहा  कि आगे की जटिलताओं को रोकने के लिए सर्जरी आवश्यक थी. 

लड़की को इंट्रा-ऑप ओजीडी स्कोपी और स्लीव गैस्ट्रेक्टोमी के साथ एक एक्सप्लोरेटरी लैपरोटॉमी से गुजरना पड़ा. डॉ विजय एचएस ने बताया, "इंट्रा-ऑप ओजीडी स्कोपी एक ऐसी प्रक्रिया है जिसमें एक एंडोस्कोप, एक कैमरा और लाइट लगी लचीली ट्यूब का उपयोग सर्जरी के दौरान अन्नप्रणाली, पेट और ग्रहणी-छोटी आंत के पहले भाग की जांच करने के लिए किया जाता है. डॉक्टर ने लड़की के पेट को हिस्सा काट कर हटा दिया जो पान खाने की वजह से खराब हुआ था. 

सावधानी बरतना जरुरी

इस घटना ने डॉक्टर को चिंतित कर दिया है. तरल नाइट्रोजन की लोकप्रियता बढ़ती जा रही है. डॉक्टर का कहना है कि सावधानी बरतना और सुरक्षा को प्राथमिकता देना महत्वपूर्ण है. संभावित किसी बड़ी घटना से बचने के लिए सतर्कता आवश्यक है. डॉ विजय ने कहा, उन्होंने गुरुग्राम में 2017 के एक मामले का भी उल्लेख किया जहां एक व्यक्ति को तरल नाइट्रोजन युक्त कॉकटेल पीने के बाद पीड़ा हुई थी. उन्होंने कहा कि हमें इन छिटपुट घटनाओं को एक पैटर्न बनने से पहले गंभीरता से लेना चाहिए.

तरल नाइट्रोजन शरीर को कैसे प्रभावित करता है?

तरल नाइट्रोजन, 20 डिग्री सेल्सियस पर1:694 के तरल-से-गैस विस्तार अनुपात के साथ महत्वपूर्ण स्वास्थ्य जोखिम पैदा करता है. एक संलग्न स्थान में तरल नाइट्रोजन का तेजी से वाष्पीकरण अत्यधिक बल उत्पन्न करता है. यह अस्थिर रसायन त्वचा को नुकसान पहुंचा सकता है.