menu-icon
India Daily
share--v1

Delhi Liquor Policy Case: ईडी से पूछताछ में केजरीवाल दे रहे गोल-मोल जवाब, शराब घोटाले के दौरान वाला फोन है गायब

Delhi Liquor Policy Case: दिल्ली शराब नीति मामले में ईडी ने गुरुवार को दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को गिरफ्तार किया था. कोर्ट ने ईडी को केजरीवाल की 28 मार्च तक की न्यायिक हिरासत दी है.

auth-image
India Daily Live
arvind kejriwal

Delhi Liquor Policy Case: दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने ईडी की पूछताछ में बताया कि उन्हें याद नहीं है कि आबकारी नीति का मसौदा तैयार करने के दौरान इस्तेमाल किया गया फोन उन्होंने कहां रख दिया है. शराब नीति मामले में ईडी ने गुरुवार को दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को गिरफ्तार किया था. कोर्ट ने ईडी को केजरीवाल की 28 मार्च तक की न्यायिक हिरासत दी है.

फोन से और जानकारी निकालना चाहती है ईडी

सूत्रों के मुताबिक, ईडी उस फोन से कुछ और जानकारी निकालना चाहता है जिसे केजरीवाल ने कथित तौर पर शराब नीति मामले के एक अन्य आरोपी समीर महेंद्रू से बातचीत के दौरान इस्तेमाल किया था. सूत्रों ने आगे बताया कि अरविंद केजरीवाल ने महेंद्रू से फोन पर कहा था कि विजय नायर उनका ही आदमी है और वह उस पर भरोसा कर सकते हैं.

विजय नायर ने निभाई थी बिचौलिए की भूमिका

विजय नायर AAP का मीडिया प्रभारी था. चार्जशीट के अनुसार विजय ही वो आदमी था जिसने दक्षिण समूह और केजरीवाल के बीच हुए बिचौलिए की भूमिका निभाई थी. आरोप है कि दक्षिण ग्रुप ने दिल्ली के खुदरा शराब कारोबार में एंट्री करने के लिए केजरीवाल को 100 करोड़ रुपए की रिश्वत दी थी.

शुक्रवार को केजरीवाल की रिमांड के लिए कोर्ट के समक्ष किए गए आवेदन में ईडी ने आरोप लगाया था कि केजरीवाल इस घोटाले के मुख्य साजिशकर्ता और सरगना है. ईडी ने आगे कहा था कि वह इस पॉलिसी को बनाने, रिश्वत मांगने और रिश्वत की रकम को मैनेज करने में सीधे तौर पर शामिल थे.

हालांकि केजरीवाल ने अपने ऊपर लगे सभी आरोपों का खंडन किया है. उन्होंने कहा कि इस कथित शराब घोटाले से उनका संबंध होने के कोई सबूत नहीं है.