menu-icon
India Daily
share--v1

Watch: अब पानी मांगना भी मुश्किल? फरियादी से बोले केंद्रीय गृह राज्यमंत्री, 'एक झापड़ पड़ेगा, सब भूल जाओगे'

Lok Sabha Elections 2024: सोशल मीडिया पर इन दिनों चुनाव प्रचार के कई वीडियो वायरल हो रहे हैं लेकिन ताजा वीडियो के वायरल होने के बाद बीजेपी बैकफुट पर नजर आ रही है. दरअसल इस वीडियो में समस्या लेकर पहुंचे फरियादी को नेताजी ने समाधान देने के बजाय डांट कर बिठा दिया.

auth-image
India Daily Live
Ajay Kumar Teni Mishra

Lok Sabha Elections 2024: लोकसभा चुनावों की तैयारियों में जुटे उम्मीदवार फिलहाल अपने-अपने निर्वाचन क्षेत्र पहुंचकर कामों का जायजा ले रहे हैं और आगामी चुनावों में उन्हें क्यों वोट दिया जाए इस पर बात कर रहे हैं. इस बीच उत्तर प्रदेश के लखीमपुर खीरी से एक वीडियो सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रहा है जिसमें एक फरियादी के पानी की समस्या बताने पर केंद्रीय गृह राज्यमंत्री ने जिस तरह से प्रतिक्रिया दी उसने बीजेपी की जमकर किरकिरी करा दी.

समस्या का समाधान बताने के बजाय फरियादी को डांट दिया

दरअसल केंद्रीय मंत्री एवं बीजेपी प्रत्याशी अजय मिश्र टेनी अपने निर्वाचन क्षेत्र में चुनाव प्रचार के लिए पहुंचे थे जहां पर एक ग्रामीण फरियादी ने उनके पास अपनी पानी की समस्या को लेकर गुहार लगाई, हालांकि नेता जी को फरियादी की गुहार पसंद नहीं आई और उन्होंने समस्या का समाधान बताने की जगह फरियादी को ही डांट दिया.

सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे इस वीडियो में नेता जी को साफ कहते हुए सुना जा सकता है कि एक झापड़ पड़ेगा न तो सब भूल जाओगे, बैठ नीचे...जमीन पर बैठ. यह वीडियो 10 अप्रैल का बताया जा रहा है जब अजय मिश्र टेनी पलिया के बसंतापुर ग्राम के सेमरीपुरवा क्षेत्र में जनसभा करने पहुंचे थे. इस दौरान वो जनता से उनकी समस्यायों से रूबरू हो रहे थे तभी गांव के एक व्यक्ति ने पानी की समस्या का जिक्र किया, जिस पर नाराज नेता जी ने फरियादी को ही डांट दिया.

बेटे पर है किसानों पर थार चढ़ाने का आरोप

उल्लेखनीय है कि अजय मिश्र का नाम बीजेपी के सबसे विवादित प्रत्याशियों की लिस्ट में शुमार है, लेकिन इसके बावजूद उन्हें भारतीय जनता पार्टी ने एक बार फिर से लखीमपुर खीरी से टिकट दिया है. टेनी के बेटे आशीष मिश्रा को लखीमपुर खीरी में  9 अक्टूबर 2021 को हुई हिंसा का मुख्य आरोपी बनाया गया है. फिलहाल पुलिस की ओर से आशीष मिश्रा समेत 12 अन्य लोगों पर आपराधिक षणयंत्र के मामले में जाच चल रही है.

जब ये घटना हुई और घटना के 6 दिन बाद आशीष मिश्रा को गिरफ्तार किया गया तो विपक्ष ने अजय टेनी का इस्तीफा मांगना शुरू कर दिया. आशीष को सुप्रीम कोर्ट ने कुछ समय पहले ही अपनी बीमार मां की देखभाल के 8 हफ्ते की जमानत दी है. आशीष मिश्रा पर 2021 के किसान आंदोलन के दौरान करीब एक दर्जन से ज्यादा किसानों पर अपनी थार चढ़ाने का आरोप है. इस हमले में 2 किसानों की तुरंत मौत हो गई थी.