share--v1

Ganesh Sthapna Vidhi 2023 : इस शुभ समय पर घर पर ऐसे स्थापित करें गणपति बप्पा

गणेश चतुर्थी 19 सितंबर को मनाई जा रही है. इस दिन लोग धूमधाम से घरों और पंडालों में बप्पा की मूर्ति को स्थापित करते हैं.

auth-image
Mohit Tiwari
फॉलो करें:

Ganesh Sthapna Vidhi 2023 : भगवान गणेश का हिंदू धर्म में प्रथम पूजनीय माना जाता है. किसी भी काम की शुरुआत से पहले भगवान गणेश का पूजन आवश्यक होता है. माता पार्वती और भोलेनाथ के पुत्र भगवान गणेश का जन्म भाद्रपद के शुक्ल पक्ष की चतुर्थी तिथि को हुआ था. इस कारण इस दिन को गणेश चतुर्थी के रूप में मनाया जाता है. इस दिन लोग गणेश जी की मूर्ति घर और सार्वजनिक पंडालों में स्थापित करते हैं और इस पर्व को 10 दिन तक हर्षोल्लास से मनाते हैं. इसके बाद गणेश प्रतिमा को अनंत चतुर्दशी के दिन पवित्र सरोवर में विसर्जित किया जाता है.

साल 2023 में गणेश चतुर्थी 18 सितंबर से प्रारंभ हो रही है और यह 19 सितंबर तक रहने वाली है. ऐसे में अगर आप गणपति प्रतिमा की स्थापना करना चाहते हैं तो इस दिन कर सकते हैं.

कब करें गणपति प्रतिमा की स्थापना

जानकारों के अनुसार, भाद्रपद मास के शुक्लपक्ष की चतुर्थी तिथि 18 सितंबर को दोपहर 12 बजकर 39 मिनट से प्रारंभ होगी और 19 सितंबर को दोपहर 01 बजकर 43 मिनट पर समाप्त होगी. इस कारण 19 सितंबर को गणेश स्थापना का अत्यंत शुभ मुहूर्त है. यह मुहूर्त सुबह 11 बजकर 01 मिनट से दोपहर 01 बजकर 28 मिनट तक रहने वाला है. मुहू्र्त की कुल अवधि 02 घंटे 27 मिनट की है.

गणेश मूर्ति की स्थापना विधि

1- सबसे पहले चौकी पर गंगाजल छिड़ककर इसको शुद्ध कर लें.

2- इसके बाद चौकी पर लाल रंग का कपड़ा बिछाएं  और उस पर अक्षत (साबुत चावल) रखें. इस बात का ध्यान रखें कि चावल टूटे न हों.

3- अब भगवान गणेश की प्रतिमा को चौकी पर स्थापित करें.

4- भगवान गणेश का स्नान कराएं और गंगाजल छिड़कें.

5- मूर्ति के दोनों ओर रिद्धि-सिद्धि के रूप में एक-एक सुपारी रख दें. और भगवान गणेश की मूर्ति के दाईं ओर जल से भरा कलश रखें.

6- हाथ में अक्षत और फूल लेकर गणपति बप्पा का ध्यान करें. इसके बाद उनको फल, फूल और मिठाई अर्पित करें. भगवान को गन्ना और कैथा भी अर्पित करें.

7- इसके बाद गणेश जी के मंत्र 'ओम गं गणपतये नम:' मंत्र का जाप करें. अंत में भगवान गणेश की आरती करें. 

Disclaimer : यहां दी गई सभी जानकारी सामान्य मान्यताओं और जानकारियों पर आधारित है.  theindiadaily.com  इन मान्यताओं और जानकारियों की पुष्टि नहीं करता है. किसी भी जानकारी को अमल में लाने से पहले संबंधित विशेषज्ञ से सलाह ले लें. 

First Published : 18 September 2023, 10:30 AM IST