share--v1

50 साल बाद होने वाली है ऐसी दोपहर, जब अंधेरे में डूब जाएंगे शहर

Solar Eclipse 2024 : 8 अप्रैल 2024 को साल का पहला सूर्यग्रहण लगने जा रहा है.करीब साल बाद इस सूर्यग्रहण पर ऐसा संयोग बनने जा रहा है, जिसमें दिन में भी अंधेरा छाने वाला है. ज्योतिष  में इसको एक अशुभ घटना माना जाता है. 

auth-image
Mohit Tiwari
Courtesy: pexels

Solar Eclipse 2024 : करीब 50 साल बाद साल 2024 में ऐसा दिन आने वाला है. जब दोपहर में भी अंधेरा छा जाएगा. इस दिन साल 2024 का पहला सूर्य ग्रहण पड़ने वाला है. ज्योतिष में सूर्यग्रहण की घटना को काफी अशुभ माना जाता है. माना जाता है कि सूर्य ग्रहण के पहले सूतक काल प्रारंभ हो जाता है और ग्रहण के समापन के बाद ही इस सूतक काल का अंत होता है.

साल 2024 में 8 अप्रैल को भारतीय समय के अनुसार रात्रि 9 बजकर 12 मिनट पर सूर्यग्रहण लगेगा और यह मध्य रात्रि 1 बजकर 25 मिनट पर समाप्त होगा. इस दिन साल का पहला सूर्यग्रहण लगने वाला है. यह सूर्यग्रहण भारत में दिखाई नहीं देने वाला है. यह ग्रहण काफी दुर्लभ रहने वाला है. ग्रहण के कारण 7.5 मिनट तक पृथ्वी पर कहीं भी सूर्य दिखाई नहीं देगा. अमेरिका के समय के अनुसार दोपहर के 2 बजकर 15 मिनट पर यह ग्रहण शुरू होगा.  4 घंटे 25 मिनट तक रहने वाले इस पूर्ण सूर्यग्रहण में  8 मिनट तक पृथ्वी पर पूरी तरह से अंधेरा छा जाएगा.

50 साल बाद होगा ऐसा संयोग

साल 1973 में पड़ा सूर्यग्रहण भी भारत में दिखाई नहीं दिया था. यह ग्रहण अफ्रीका महाद्वीप में दिखाई दिया था. इसमें भी कुछ देर तक अंधेरा रहा था.  विज्ञान के अनुसार भी कई सालों बाद ऐसा ग्रहण देखने को मिलता है. इस स्थिति में पृथ्वी के एक भाग में पूरी तरह से अंधेरा छा जाता है. इस समय चंद्रमा, पृथ्वी के पास आ जाता है. सूर्य ग्रहण के दौरान सूर्य, चंद्रमा और पृथ्वी एक सीध में आ जाते हैं. लगभग 50 साल बाद 2024 में यह घटना फिर से होने वाली है.

कहां-कहां दिखाई देगा यह ग्रहण

यह सूर्यग्रहण अमेरिका, कनाडा, न्यूफाउंडलैंड के कुछ हिस्सों में दिखाई देगा. यह ग्रहण भारत में दिखाई नहीं देगा इस कारण इसका सूतक काल भी भारत में नहीं होगा. 

एक अखबार में हुई थी भविष्यवाणी

इन दिनों एक अखबार की फोटो सोशल मीडिया पर वायरल हो रही है, जिसमें 1970 में ही यह भविष्यवाणी की गई थी कि साल 2024 में दोबारा पूर्ण सूर्यग्रहण दिखाई देगा. 

Disclaimer : यहां दी गई सभी जानकारी सामान्य मान्यताओं और जानकारियों पर आधारित है.  theindiadaily.com  इन मान्यताओं और जानकारियों की पुष्टि नहीं करता है. किसी भी जानकारी को अमल में लाने से पहले संबंधित विशेषज्ञ से सलाह ले लें.

Also Read