menu-icon
India Daily
share--v1

'हम लोकल हैं, फ्री एंट्री चाहिए...', वाटर पार्क वालों ने मांगा पैसा तो बुलडोजर लेकर घुसी भीड़

Rajasthan Viral Video: राजस्थान के चित्तौड़गढ़ से चौंकाने वाला मामला सामने आया है. फ्री एंट्री नहीं मिलने पर गुस्साई भीड़ ने एक वाटर पार्क में जमकर तोड़फोड़ की और फायरिंग भी की. पूरे मामले का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल है.

auth-image
India Daily Live
Rajasthan Crime News
Courtesy: Social Media

Rajasthan Viral Video: चित्तौड़गढ़ के गंगरार में एक वाटर पार्क है. वाटर पार्क के आसपास गांव भी हैं. आरोप है कि गांव के कुछ लोग वाटर पार्क में नहाने के लिए फ्री एंट्री चाहते थे. लेकिन जब वाटर पार्क के कर्मचारियों की ओर से फ्री एंट्री देने से इनकार कर दिया गया, तो लोग वापस लौटे और दोबारा भीड़ के साथ वाटर पार्क पहुंचे. इस बार वे जेसीबी लेकर साथ आए और भीड़ में मौजूद लोगों के हाथों में लाठी-डंडे भी थे. आरोप है कि भीड़ ने जेसीबी से वाटर पार्क में जमकर तोड़फोड़ की. इस दौरान फायरिंग की भी सूचना है. मामले की जानकारी के बाद पुलिस ने जांच पड़ताल की बात कही है.

रिपोर्ट्स के मुताबिक, गुरुवार दोपहर अचानक 100 लोग जेसीबी के साथ भीलवाड़ा बॉर्डर पर मौजूद किंग्स वाटर पार्क पहुंच गए. भीड़ ने अंदर घुसकर जमकर तोड़फोड़ की. वाटर पार्क के कर्मचारियों को भी पीटा. जब ये घटना हुई, उस दौरान वाटर पार्क में करीब 500 विजिटर्स थे, जो वाटर पार्क में नहाने आए थे. जेसीबी से तोड़फोड़ देखने के बाद विजिटर्स में अफरातफरी मच गई. मामले की जानकारी के बाद पुलिस घटनास्थल पर पहुंची और जांच पड़ताल में जुट गई.

घटना को लेकर क्या बोले डीएसपी?

घटना को लेकर डीएसपी रविंद्र प्रताप सिंह ने बताया कि गुरुवार को वाटर पार्क के आसपास के गांव के कुछ लड़कों ने फ्री में एंट्री मांगी थी. जब वाटर पार्क के कर्मचारियों ने उन्हें एंट्री नहीं दी, तब सोनियाणा समेत आसपास के गांवों के करीब 100 लोग भीड़ के रूप में जेसीबी लेकर वॉटर पार्क पहुंचे. डीएसपी ने बताया कि भीड़ ने वाटर पार्क कैंपस में जमकर तोड़फोड़ की. फायरिंग का भी दावा किया जा रहा है. फिलहाल पड़ताल जारी है. सीसीटीवी फुटेज खंगाले जा रहे हैं, लोगों को चिन्हित किया जा रहा है. पहचान के बाद उचित कानूनी कार्रवाई होगी.

रिपोर्ट के मुताबिक, घटना को लेकर दोनों पक्षों की ओर से रिपोर्ट दर्ज कराई गई है. पहले पक्ष के मुताबिक, साडास के रहने वाले संजय वैष्णव अपने दोस्त देवीलाल जाट (पूर्व प्रधान) के साथ भीलवाड़ा जा रहे थे. इस दौरान उन्होंने वाटर पार्क में लोगों के साथ कर्मचारियों की ओर से बदसलूकी की खबर सुनी. जब हम दोनों अंदर गए तो देखा कि सादी, सोनियाणा गांव के कुछ लड़कों के साथ वाटर पार्क के कर्मचारी मारपीट कर रहे हैं. 

दूसरे पक्ष ने अपनी रिपोर्ट में तिलक नगर के रहने वाले दिलीप गुर्जर की ओर से आरोप लगाया है कि पूर्व प्रधान देवीलाल जाट वहां अपने साथियों के साथ पहुंचे और फ्री में एंट्री मांगने लगे. जब उन्हें रोका गया, तो उन्होंने अपने गांव से भीड़ को बुला लिया. साथ ही जेसीबी भी मंगवा ली और अंदर तोड़फोड़ की गई. 

फ्री एंट्री वाले आरोपों पर क्या बोले पूर्व प्रधान?

वाटर पार्क के कर्मचारियों की ओर से लगाए गए आरोपों के संबंध में पूर्व प्रधान देवीलाल जाट ने कहा कि मुझ पर लगाए गए आरोप बिलकुल बेबुनियाद हैं. मैं तो अपने साथी के साथ भीलवाड़ा जा रहा था.