menu-icon
India Daily
share--v1

हफ्ते में 400 यानी एक दिन में 57 सिगरेट पीती थी नाबालिग! जानें फेफड़े का क्या हुआ?

Viral News: एक नाबालिग लड़की ने एक दिन में 57 और एक हफ्ते में 400 सिगरेट पीती थी. नाबालिग को जब परेशानियों के बाद अस्पताल ले जाया गया, तो डॉक्टरों ने चौंकाने वाला खुलासा किया.

auth-image
India Daily Live
Viral News
Courtesy: Social Media

Viral News: 17 साल की नाबालिग लड़की की अनोखी कहानी सामने आई है. लड़की ने सांस में परेशानी की शिकायत की, जिसके बाद उसे अस्पताल में एडमिट कराया गया. रिपोर्ट्स के मुताबिक, नाबालिग लड़की एक दिन में 57 और हफ़्ते में 400 सिगरेट पीती थी. जब उसे डॉक्टरों के पास ले जाया गया, तो डॉक्टरों ने बताया कि नाबालिग का फेफड़ा बुरी तरह खराब हो चुका है. नाबालिग पल्मोनरी ब्लैब से जूझ रही है.

मामला यूनाइटेड किंगडम का है. एक रिपोर्ट के मुताबिक, 17 साल की लड़की को अस्पताल लाया गया था. डॉक्टरों ने बताया कि लड़की के फेफड़े में छेद हो गया है. मेट्रो की रिपोर्ट के मुताबिक, घटना 11 मई की है, जब 17 साल की काइला ब्लीथ नाम की लड़की अपने दोस्त के घर सोने के दौरान बेहोश हो गई. 

जब उसे अस्पताल लाया गया, तो डॉक्टरों ने उसके फेफड़े में छेद की बात कही, जिसे पल्मोनरी ब्लैब के नाम से जाना जाता है. इसके बाद काइला को साढ़े पांच घंटे की सर्जरी से गुजरना पड़ा. काइला के पिता मार्क ब्लीथ ने कहा कि ये मेरे लिए बहुत भयानक था. मैं एक बच्चे की तरह रोया. मैं पूरे समय उसके साथ रहा. उसकी जान को खतरा था क्योंकि उस शुक्रवार को उसे दिल का दौरा पड़ने वाला था. उन्होंने कहा कि काइला नीली पड़ गई थी. मुझे लगा कि वो मर चुकी है. 

15 साल की उम्र में पीना शुरू कर दिया था सिगरेट

काइला ने अपने दोस्तों को देश 15 साल की उम्र में सिगरेट (vapes यानी ई-सिगरेट) पीना शुरू कर दिया था. वो हर हफ़्ते 400 तक सिगरेट पी जाती थी. हालांकि, घटना के बाद से काइला डरी हुई है और अब सिगरेट न पीने की बात कही है. उसने बताया कि जब मैं 15 साल की था, तब मैंने देखा कि मेरे दोस्त सिगरेट पीते थे. मुझे लगा कि ये ठीक होगा और नुकसान नहीं पहुंचाएगा. 

लेकिन अब मैं सिगरेट को टच भी नहीं करूंगी. मैं डर गई हूं. मैं जब अस्पताल लाई गई और जब मुझे होश आया, तो मुझे लगा कि यहां कुछ घंटे के बाद मुझे छुट्टी मिल जाएगी, लेकिन सर्जरी और अन्य परेशानियों के कारण मुझे अस्पताल में करीब 15 दिनों तक रहना पड़ा था. 

बच्चों में तेजी से बढ़ रही सिगरेट की लत

एक्शन ऑन स्मोकिंग एंड हेल्थ (एएसएच) के अनुसार, नाबालिगों में वेप्स (ई-सिगरेट) पीने की लत तेजी से बढ़ रही है. 2023 में इसे पीने वालों की संख्या लगभग दोगुनी होकर 20% हो गई है. ASH के मुताबिक, 5 वर्ष से कम उम्र के बच्चे भी वेपिंग के आदी हो रहे हैं और फेफड़ों के क्षतिग्रस्त होने के कारण अस्पताल में पहुंच रहे हैं. 

फेफड़ों को नुकसान पहुंचाने के अलावा, वेपिंग में पाए जाने वाले लेड और यूरेनियम जैसे विषैले रसायनों के कारण नाबालिगों के दिमाग का विकास भी रूक सकता है.