menu-icon
India Daily
share--v1

सावधान, iPads-Macs-iPhones पर मंडराए खतरे के बादल, एक गलती और जीवभर के लिए खो देंगे फोन का एक्सेस!

Cyber Hacking on Apple Devices: अगर आप एप्पल का कोई प्रोडक्ट इस्तेमाल करते हैं तो आपको ये जानकर हैरानी होगी कि इस समय आप पर सिक्योरिटी का खतरा मंडरा रहा है. चलिए जानते हैं इस बारे में. 

auth-image
India Daily Live
Cyber Hacking on Apple Devices

Cyber Hacking on Apple Devices: इंडियन कंप्यूटर इमरेजेंसी रिस्पॉन्स टीम (CERT-In) ने Apple डिवाइसेज को लेकर बड़ी चेतावनी जारी की है.  iPads, Macs, iPhones और इनके सॉफ्टवेयर में खतरा पैदा कर सकता है. Cert-In ने चेतावनी देते हुए कहा है कि इन कमजोरियों के चलते हैकर्स यूजर्स के अकाउंट का अनऑथराइज्ड एक्सेस, निजी जानकारी चुराने और डिवाइस का पूरा कंट्रोल ले सकते हैं. ये कमजोरियां iOS, iPadOS, macOS, Safari और tvOS समेत अलग-अलग Apple ऑपरेटिंग सिस्टम में मौजूद हैं. इनका फायदा हैकर्स उठा सकते हैं. 

किस तरह हो सकता है डाटा लीक: 

  • आपके सिस्टम का पूरा एक्सेस लेकर आपको ही लॉगइन करने से प्रतिबंधित कर सकता है. 

  • आपकी सेंसिटिव जानकारी जैसे पासवर्ड, कॉन्टैक्ट, ब्राउजिंग हिस्ट्री और फाइनेंशियल जानकारी चोरी कर सकता है. 

  • सिक्योरिटी को बायपास करके डिवाइस को खतरे में डाल सकते हैं. 

  • डिवाइस में रिमोट कोड डालकर उसमें मालिशस एक्टिविटीज करा सकते हैं. 

इन एप्पल सॉफ्टवेयर्स पर है खतरा: 

  • iOS और iPadOS: 16.7.8 और 17.5 से पहले के वर्जन

  • macOS: 12.7.5 से पहले के मोंटेरे वर्जन, 13.5.7 से पहले के वेंचुरा वर्जन और 14.5 से पहले के सोनोमा वर्जन

  • सफारी: 17.5 से पहले के वर्जन

  • एप्पल टीवी: 17.5 से पहले के वर्जन

एप्पल डिवाइस को कैसे रखें सुरक्षित: अपनी डिवाइसेज को अप टू डेट रखें. इसके लिए नीचे दिए गए स्टेप्स को फॉलो करें. 

  • iPhone and iPad: Settings पर जाएं. फिर General पर जाकर Software Update पर टैप करें. अपडेट को डाउनलोड कर इंस्टॉल कर लें. 

  • Mac: Apple मेन्यू पर जाएं और System Preferences को सेलेक्ट करें. फिर Software Update पर जाकर Update Now पर टैप कर दें. 

  • Apple TV: Settings पर जाएं. फिर General पर जाकर Software Update पर टैप करें. अपडेट को डाउनलोड कर इंस्टॉल कर लें. 

इन बातों का भी रखें ध्यान:

  • साइबर सिक्योरिटी रिस्क और मैलवेयर से बचने के लिए आपको सिस्टम अपडेट रखना होगा. 

  • किसी भी वेबसाइट पर बिना सोचे-समझे न जाएं. साथ ही किसी भी फाइल या लिंक पर क्लिक न करें. संदिग्ध लिंक पर क्लिक करनेया अनधिकृत सॉफ्टवेयर डाउनलोड करने से बचें. 

  • टू-फैक्टर ऑथेंटिकेशन जरूरी है क्योंकि ये डिवाइस के डबल सिक्योर बनाता है.