share--v1

बीच में ही कमेंट्री छोड़कर चले गए सुनील गावस्कर, सामने आया दुखद कारण!

India vs England: भारत और इंग्लैंड के बीच दूसरे टेस्ट मैच के पहले दिन सुनील गावस्कर कमेंट्री छोड़कर निकल गए. सामने जो कारण सामने आ रहा है वह ट्रैजिक है.

auth-image
Antriksh Singh
फॉलो करें:

India vs England: भारत और इंग्लैंड के बीच दूसरे टेस्ट के पहले दिन सबका ध्यान एक ही खिलाड़ी पर रहा - युवा बाएं हाथ के ओपनर यशस्वी जायसवाल. दिन के अंत तक नाबाद 179 रन बनाकर उन्होंने भारत का स्कोर 336/6 तक पहुंचाया. रोहित शर्मा, श्रेयस अय्यर और शुभमन गिल जैसे दिग्गज बल्लेबाज 35 रन भी नहीं बना सके, ऐसे में जायसवाल की पारी और खास बन गई. 

उन्होंने टेस्ट क्रिकेट में अपना दूसरा शतक लगाया और जिस तरह से वह बल्लेबाजी कर रहे थे, उससे लगता है कि शनिवार को दूसरे दिन वह और भी बड़ी पारी खेल सकते हैं.

सुनील गावस्कर क्यों लौटे?

इस बीच खेल के दौरान खबर आई कि पूर्व भारतीय कप्तान सुनील गावस्कर की सास का निधन हो गया. खबर मिलने के बाद गावस्कर कमेंट्री छोड़कर कानपुर चले गए. गावस्कर अपने सटीक आकलन के लिए चर्चित हैं. वे ना केवल कमेंट्री करते हैं बल्कि टीवी पर बतौर खेल विशेषज्ञ भी उनकी बातें दमदार रहती हैं.

पत्नी के साथ कानपुर निकल गए

गावस्कर ने कथित तौर पर अपनी पत्नी मार्शनील गावस्कर और उनके परिवार के साथ रहने के लिए शुक्रवार दोपहर को विशाखापत्तनम से कानपुर के लिए उड़ान भरी.  भारत के पूर्व कप्तान सुनील गावस्कर पहले टेस्ट मैच के पहले सत्र में कमेंट्री बॉक्स में थे और उन्होंने नए पाकिस्तानी गेंदबाज शोएब बशीर द्वारा रोहित शर्मा के आउट होने पर अपने विचार भी साझा किए.

मां को भी ऐसे ही खोया था

उल्लेखनीय है कि गावस्कर ने दिसंबर 2022 में इसी तरह की परिस्थितियों में अपनी मां मीना को खो दिया था. जब गावस्कर ढाका में भारत बनाम बांग्लादेश टेस्ट मैच में कमेंट्री कर रहे थे, तो उनकी मां 95 वर्ष की आयु में उम्र से संबंधित बीमारियों के कारण चल बसीं.

विश्व के सर्वश्रेष्ठ सलामी बल्लेबाजों में से एक गावस्कर टेस्ट क्रिकेट में 10000 रन बनाने वाले पहले क्रिकेटर थे. उन्होंने 34 टेस्ट शतकों के साथ संन्यास लिया, जो उस समय सर्वाधिक था. बाद में यह रिकॉर्ड सचिन तेंदुलकर ने तोड़ा.

मैच का हाल ये रहा

वहीं, मैच के पहले दिन इंग्लैंड के खिलाफ गेंदबाजी का दबाव झेलते हुए जायसवाल ने ताबड़तोड़ बल्लेबाजी की. दिन के अंत में भारत का स्कोर 336/6 रहा, जिसमें जायसवाल 179* और रविचंद्रन अश्विन 5* रन बनाकर नाबाद रहे.

विजाग में जायसवाल का बल्लेबाजी का जलवा जारी रहा. उन्होंने समझदारी से विकेट पर टिके रहकर रन बनाए और छोटी लेकिन उपयोगी साझेदारियां कीं. उन्होंने अटैक और डिफेंस के बीच शानदार संतुलन बनाया. उन्होंने 17 चौके और 5 छक्के लगाकर 179* रन बनाए.

हालांकि तीसरे सत्र में भारत को तीन झटके लगे. रजत पाटिदार, अक्षर पटेल और केएस भरत इंग्लैंड के स्पिन गेंदबाजों रेहान अहमद और शोएब बशीर के जाल में फंस गए.

पाटिदार (32) रेहान की तेज गेंद से चकमा खा गए, जो ज्यादा उछाल ले गई. अक्षर पटेल ने क्रीज पर जायसवाल का साथ दिया और दोनों बल्लेबाजों ने बोर्ड पर 52 रन जोड़े, लेकिन अक्षर का कट शॉट बशीर के ओवर में सीधे रेहान के हाथों में चला गया.

केएस भरत (17) भी इसी तरह से आउट हुए, उन्होंने कट लगाने की कोशिश की लेकिन सही समय नहीं मिला. अश्विन और जायसवाल ने सुनिश्चित किया कि स्टंप्स होने से पहले भारत को कोई और विकेट न गंवाना पड़े. 

अब कल के दिन जायसवाल के दोहरे शतक का सबको इंतजार है. ये देखना दिलचस्प होगा कि वे ऐसा कर पाते हैं या नहीं.

Also Read

First Published : 02 February 2024, 11:03 PM IST