share--v1

किसी की गई जान तो कोई बाल-बाल बचा... 2023 में इन सितारों को दिल से मिला धोखा

Year Ender 2023: विश्व स्वास्थ्य संगठन इस आपात स्थिति को दुनिया में मौत का सबसे बड़ा कारण बताता है. आज हम आपको उन सितारों का नाम बताएंगे जिन्होंने साल 2023 में हार्ट अटैक को झेला, हालांकि, कुछ ने इसको मात दिया तो कुछ की जान चली गई.

auth-image
Priya Singh

हाइलाइट्स

  • इन सितारों को इस साल उनके दिल से मिला धोखा
  • कैसे लोगों को आता है हार्ट अटैक

नई दिल्ली:  हर साल की तरह 2023 में भी कार्डियोवैस्कुलर डिजीज के काफी मामले देखने को मिले, जिसकी चपेट में आम लोगों से लेकर कई मशहूर सितारे भी आए. अगर एंटरटेनमेंट की बात करें तो कई सितारों ने हार्ट अटैक के कारण अपनी जान गवाई तो वहीं कुछ को अस्पताल में भर्ती होना पड़ा. विश्व स्वास्थ्य संगठन इस आपात स्थिति को दुनिया में मौत का सबसे बड़ा कारण बताता है. आज हम आपको उन सितारों का नाम बताएंगे जिन्होंने साल 2023 में हार्ट अटैक को झेला, हालांकि, कुछ ने इसको मात दिया तो कुछ की जान चली गई.

सतीश कौशिक

इस साल दिग्गज एक्टर सतीश कौशिक ने इस दुनिया को अलविदा कह दिया. एक्टर की मौत हार्ट अटैक के कारण हुई थी. उनके जाने से पूरा बॉलीवुड शॉक्ड में था और हर किसी की आंखे नम हुई थी. आज भी अभिनेता की कमी लोगों को लगती हैं.

nitesh
 

नितेश पांडे

अनुपमा फेम एक्टर नितेश पांडे भी इस दुनिया को अलविदा कह गए. उनकी मृत्यु भी हार्ट अटैक के कारण हुई थी. उनके जाने पर रुपाली गांगुली ने पोस्ट साझा कर दुख व्यक्त किया था. इनके अलावा शाहनवाज प्रधान का भी दिल का दौरा पड़ने के कारण निधन हुआ था.

gufi
 

गुफी पेंटल

 वहीं, महाभारत के शकुनि मामा यानी गुफी पेंटल तो सबको याद ही होंगे. उन्होंने भी दिल व उम्र संबंधी बीमारी की वजह से अपनी जान को खोया था.

सुष्मिता सेन और श्रेयस तलपड़े

वहीं सुष्मिता सेन और श्रेयस तलपड़े जैसे बड़े सितारे भी इस बीमारी की चपेट में आ चुके हैं. हालांकि, इन्होंने इसको मात दी और आज यह अच्छे से जीवन को जी रहे है. दोनों ही सितारों को एंजियोप्लास्टी से गुजरना पड़ा लेकिन आज दोनों ही स्वस्थ हैं.

हार्ट अटैक का कारण

आपको बता दें कि हार्ट अटैक का सबसे बड़ा कारण हाई कोलेस्ट्रॉल है, जो नसों को ब्लॉक कर देता है. यह एक गंदा पदार्थ होता है, जो वसा वाले खाद्य पदार्थों से होता है. हाई ब्लड प्रेशर इस समस्या को अधिक गंभीर बना देता है और इसके बाद दिल तक खून नहीं पहुंच पाता.

Also Read