menu-icon
India Daily
share--v1

सांप, छिपकली और गिरगिट के बीच मिलता है यहां खाना, दुनिया का वो कैफे जहां डर के साये में मिटती है भूख

World's First Reptile Cafe: मलेशिया में एक अनोखा कैफे, जिसे "फैंग्स बाय डेकोरी" नाम दिया गया है, ने अपनी अनोखी अवधारणा के साथ लोगों का ध्यान आकर्षित किया है. यह दुनिया का पहला रेपटाइल कैफे है, जहां आप खाने का स्वाद लेते हुए कई प्रकार के सरीसृपों के साथ घूमते हुए देख सकते हैं.

auth-image
India Daily Live
World Reptile Cafe
Courtesy: IDL

World's First Reptile Cafe: हमारी दुनिया अजब-गजब चीजों से भरी पड़ी है और आए दिन इसमें सिर्फ इजाफा ही देखने को मिलता है. ऐसी ही एक अनोखी चीज मलेशिया में देखने को मिली है जहां पर दुनिया का पहला रेपटाइल कैफे खुला है जो अपनी अनोखी आइडियॉलजी के साथ लोगों का ध्यान अपनी तरफ खींच रहा है. 

"फैंग्स बाय डेकोरी" के नाम से खुला ये कैफे लोगों को न सिर्फ टेस्टी खाना परोसता है बल्कि आपको अपने खाने का स्वाद लेते हुए कई प्रकार के रेपटाइल्स के साथ समय बिताने का अनुभव भी देता है. सोशल मीडिया पर इस कैफे के कुछ वीडियोज तेजी से वायरल हो रहे हैं जिसके बाद लोग इसके बारे में जानकारी ढूंढ रहे हैं.

सांपो को गले लगाकर खाते हैं खाना

कल्पना कीजिए कि आप एक कैफे में बैठे हैं, अपना पसंदीदा भोजन खा रहे हैं, और अचानक आपके हाथ, पैर, गले और शरीर पर सांप जैसे सरीसृप घूमने लगते हैं. कुछ लोगों को यह अजीब लगेगा, तो कुछ को रोमांचक. मलेशियाई रेपटाइल प्रेमी याप मिंग यांग द्वारा 17 दिसंबर 2022 को खोला गया, यह कैफे उन लोगों के लिए स्वर्ग है जो सरीसृपों से प्यार करते हैं. यहां आपको सांप, छिपकली, मेंढक और यहां तक ​​कि जर्बिल्स (चूहे जैसा जानवर) भी मिलेंगे.

खाने के साथ मिलता है रेपटाइल्स का अनोखा अनुभव

फैंग्स बाय डेकोरी में, आपको स्वादिष्ट भोजन के साथ-साथ कुछ अविश्वसनीय अनुभव भी मिलते हैं. आप इन सरीसृपों को अपने हाथों में पकड़ सकते हैं, उन्हें अपनी गर्दन या सिर के चारों ओर लपेट सकते हैं, और उनके साथ सेल्फी भी ले सकते हैं.

वायरल हो रहा है कैफे का वीडियो

सोशल मीडिया पर एक वीडियो वायरल हो रहा है जिसमें इस कैफे के अंदर का नजारा दिखाया गया है. वीडियो में लोग सांपों को गले लगाते हुए और उनके साथ खाना खाते हुए देखे जा सकते हैं. जहां कुछ लोग इस अनोखे अनुभव को पसंद करते हैं, वहीं कुछ लोग इसे थोड़ा अजीब या डरावना भी मानते हैं.

कैसा है कैफे के मालिक और कस्टमर का अनुभव?

कैफे के मालिक, याप मिंग यांग, का कहना है कि उनका लक्ष्य लोगों को सरीसृपों के बारे में शिक्षित करना और उन्हें इन अद्भुत प्राणियों के करीब लाना है.

कैफे के एक नियमित ग्राहक, राधा, ने कहा, "यह पहली बार था जब मैंने किसी रेपटाइल कैफे में खाना खाया था. मुझे थोड़ा डर लग रहा था, लेकिन जब मैंने सांपों को पकड़ा और उनके साथ खेला, तो मुझे बहुत मजा आया."

कहां पर स्थित है ये रेपटाइल कैफे?

यह कैफे कुआलालंपुर, मलेशिया में स्थित है, जहां पर एंट्री चार्ज भी लिया जाता है. कैफे में जानवरों को छूने और पकड़ने के लिए कुछ नियम हैं जिनका पालन करना होगा. कैफे में विभिन्न प्रकार के सरीसृपों (रेपटाइल्स) का एक बड़ा कलेक्शन है, जिसमें सांप, छिपकली, मेंढक और जर्बिल्स शामिल हैं. कैफे में एक रेस्तरां भी है जो विभिन्न प्रकार के मलेशियाई और अंतरराष्ट्रीय व्यंजन परोसता है. कैफे बच्चों के लिए जन्मदिन पार्टी और अन्य कार्यक्रम आयोजित करता है.

चाहे आप इसे पसंद करें या नापसंद, फैंग्स बाय डेकोरी निश्चित रूप से एक ऐसा कैफे है जो आपको मलेशिया में कहीं और नहीं मिलेगा. यदि आप सरीसृपों से प्यार करते हैं या कुछ नया और रोमांचक अनुभव करना चाहते हैं, तो यह कैफे आपके लिए जरूर देखने लायक है.