share--v1

तीन नहीं बगदाद में अमेरिकी दूतावास पर दागे गए 7 मोर्टार, अब तक का सबसे बड़ा 'हमला'

अक्टूबर मध्य के बाद से इस क्षेत्र में एक ही दिन में अमेरिकी सेना के खिलाफ सबसे ज्यादा हमले दर्ज किए गए. दावा किया जा रहा है कि गाजा में हमास के खिलाफ युद्ध में अमेरिका की ओर से इजरायल का समर्थन करने पर ईरान-गठबंधन मिलिशिया ने इराक और सीरिया में अमेरिकी संपत्तियों को निशाना बनाना शुरू कर दिया है.

auth-image
Naresh Chaudhary
फॉलो करें:

हाइलाइट्स

  • अमेरिकी रक्षा सचिव लॉयल ऑस्टिन ने की इराकी पीएम से बात
  • इससे पहले अमेरिकी दूतावास पर की गई थी फायरिंग

US Embassy in Baghdad Mortar Attacked: इजराइल को समर्थन देना अमेरिका पर भारी पड़ रहा है. न्यूज एजेंसी रॉयटर्स के अनुसार, बगदाद में अमेरिकी दूतावास पर सात बार मोर्टार से हमला किया गया है. हालांकि पूर्व में आई सूचना में तीन बार हमले की बात कही गई थी. साथ ही एक अमेरिकी सैन्य अधिकारी ने दावा किया है कि ये अभी तक का सबसे बड़ा हमला प्रतीत हो रहा है. 

शुक्रवार सुबह दागे गए थे मोर्टार

इराक और सीरिया में अमेरिकी सेना को शुक्रवार को भी कम से कम पांच बार रॉकेट और ड्रोन से निशाना बनाया गया. तीन बार सीरिया में अलग-अलग ठिकानों पर और दो बार बगदाद के पश्चिम में ऐन अल-असद एयरबेस पर हमला हुआ. अक्टूबर मध्य के बाद से इस क्षेत्र में एक ही दिन में अमेरिकी सेना के खिलाफ सबसे ज्यादा हमले दर्ज किए गए. दावा किया जा रहा है कि गाजा में हमास के खिलाफ युद्ध में अमेरिका की ओर से इजरायल का समर्थन करने पर ईरान-गठबंधन मिलिशिया ने इराक और सीरिया में अमेरिकी संपत्तियों को निशाना बनाना शुरू कर दिया है.

अमेरिकी रक्षा सचिव लॉयल ऑस्टिन ने की इराकी पीएम से बात

अमेरिकी रक्षा सचिव लॉयड ऑस्टिन ने इराक के प्रधान मंत्री मोहम्मद शिया अल-सुदानी से एक कॉल में हमलों की निंदा की है और ईरान-गठबंधन सशस्त्र समूहों कताइब हिजबुल्लाह और हरकत हिजबुल्लाह अल नुजाबा को जिम्मेदार ठहराया है. पेंटागन की ओर से कहा कि अमेरिका इन समूहों के खिलाफ निर्णायक प्रतिक्रिया देने का अधिकार सुरक्षित रखता है.

इससे पहले अमेरिकी दूतावास पर की गई थी फायरिंग

न्यूज एजेंसी की रिपोर्ट में कहा गया है कि दूतावास पर एक वर्ष में ये दूसरा हमला है, इससे पहले यहां गोलीबारी की गई थी. अमेरिकी सेना वाले दर्जनों सैन्य ठिकानों पर हमला किया गया है, जिससे क्षेत्रीय संघर्ष बढ़ने की आशंका बढ़ गई है. हालांकि अभी तक किसी भी समूह ने जिम्मेदारी का दावा नहीं किया है, लेकिन अमेरिकी सेना के खिलाफ पिछले हमले इराक में इस्लामी प्रतिरोध के बैनर तले काम कर रहे ईरान-गठबंधन मिलिशिया द्वारा किए गए हैं.

हमले कोई हताहत नहीं हुआ, परिसर में हुई क्षति

अमेरिकी सैन्य सूत्र ने न्यूज एजेंसी को बताया कि दूतावास परिसर में और भी गोले दागे गए थे, लेकिन वे वहां नहीं गिरे. अमेरिकी अधिकारियों ने कहा कि शुक्रवार के हमलों में कोई हताहत नहीं हुआ है. हालांकि परिसर में कुछ क्षति हुई है. बताया गया है कि शुक्रवार सुबह लगभग 4 बजे (0100 GMT) बगदाद के केंद्र में दूतावास के पास विस्फोटों की आवाज सुनी गई. लोगों से छिपने का आह्वान करने वाले सायरन सक्रिय कर दिए गए.

Also Read

First Published : 09 December 2023, 01:33 PM IST