share--v1

दक्षिण कोरिया के नकली सूरज से दुनिया हैरान, बना दिया यह रिकॉर्ड

South Korea News: दक्षिण कोरियाई वैज्ञानिकों ने आर्टिफिशियल सन बनाने की दिशा में बड़ी कामयाबी हासिल की है. उन्होंने असली सूरज की तुलना में कई गुना ज्यादा तापमान धरती पर पैदा किया है.

auth-image
India Daily Live

South Korea News: दक्षिण कोरियाई वैज्ञानिकों ने अद्भुत वैज्ञानिक रिकॉर्ड बनाने में सफलता हासिल की है. दक्षिण कोरिया के परमाणु वैज्ञानिकों ने 10 करोड़ डिग्री सेल्सियस तापमान पैदा करने वाला नकली सूरज बना लिया है. इतना तापमान आज तक कोई भी देश  पैदा करने में सफल नहीं हो पाया है. रिपोर्ट के अनुसार, यह तापमान आर्टिफिशियल सन में न्यूक्लियर फ्यूजन प्रक्रिया द्वारा पैदा किया गया है. यह तापमान सूर्य की कोर के सतह के तापमान से सात गुना ज्यादा है.

दक्षिण कोरियाई वैज्ञानिकों का कहना है कि यह सफलता भविष्य में उर्जा प्रोद्योगिकी की दिशा में एक मील का पत्थर साबित होगी. दुनियाभर के कई देश आर्टिफिशियल सन पर काम कर रहे हैं. इसमें अमेरिका, चीन और फ्रांस जैसे देश शामिल हैं. 

नाभिकीय संलयन यानी न्यूक्लियर फ्यूजन में उर्जा प्राप्त करने के सबसे आम तरीकों में टोकामक डोनट रिएक्टर का इस्तेमाल किया जाता है. इसमें प्लाज्मा बनाने के लिए हाइड्रोजन वेरिएंट को हाई टेम्परेचर पर गर्म किया जाता है. दक्षिण कोरिया की इंस्टीट्यूट ऑफ फ्यूजन एनर्जी KEF के स्टार शोध संस्थान के निदेशक सी वू यून ने कहा कि हाई टेम्परेचर और हाई डेंसिटी वाले परमाणु संलयन भविष्य की उर्जा के लिए बेहद जरूरी हैं. 

दक्षिण कोरिया के केईएफ का के स्टार प्रोजेक्ट या आर्टिफिशियल सन ने दिसंबर 2023 और फरवरी 2024 के बीच टेस्टिंग के दौरान 48 सेकेंड समय तक 100 मिलियन डिग्री के तापमान के साथ प्लाज्मा को बनाए रखने में सफलता हासिल की है. इसने 2021 में निर्धारित किए गए 30 सेकेंड के पुराने रिकॉर्ड को भी तोड़ दिया. वैज्ञानिकों ने कहा कि उन्हें प्रक्रिया में बदलाव के बाद समय बढ़ाने में मदद मिली.