menu-icon
India Daily
share--v1

हाई कोर्ट के फैसले पर भड़के शहबाज कहा- 'सजा निलंबित हुई है, कम नहीं' , बताया इतिहास का काला दिन

पाकिस्तान के पूर्व पीएम और पीटीआई चीफ इमरान खान को तोशाखाना मामले में इस्लामाबाद हाई कोर्ट ने राहत देते हुए उनकी सजा पर रोक लगा दी है.

auth-image
Shubhank Agnihotri
हाई कोर्ट के फैसले पर भड़के शहबाज कहा- 'सजा निलंबित हुई है, कम नहीं' , बताया इतिहास का काला दिन

 

नई दिल्लीः पाकिस्तान के पूर्व पीएम और पीटीआई चीफ इमरान खान को तोशाखाना मामले में इस्लामाबाद हाई कोर्ट ने राहत देते हुए उनकी सजा पर रोक लगा दी है. कोर्ट के इस निर्णय के बाद पाक के तत्काली प्रधानमंत्री शहबाज शरीफ ने कोर्ट पर निशाना साधते हुए कहा कि यह इतिहास का काला दिन है. उन्होंने आगे कहा कि इमरान की सजा निलंबित की गई है कम नहीं.

इमरान के आगे बेबस कानून
शहबाज शरीफ ने आगे कहा कि नवाज शरीफ की सजा बरकरार रखने के लिए एक पर्यवेक्षक जज की नियुक्ति की गई जबकि इमरान को बचाने के लिए चीफ जस्टिस खुद ही पर्यवेक्षक जज बन गए. न्याय व्यवस्था की यह भूमिका इतिहास के पन्नों में काले अक्षरों से लिखी जाएगी. एक तरफ झुकी हुई न्याय प्रणाली न्याय को कमजोर करने वाली है. यह प्रणाली स्वीकार  नहीं की जा सकती है. उन्होंने आगे कहा कि इमरान के आगे सब कानून बेबस हैं. उनके सारे अपराध माफ हैं.

चीफ जस्टिस पर कसा तंज
इससे पहले इमरान खान को अल कादिर ट्रस्ट भ्रष्टाचार के मामले में अरेस्ट किया गया था. जिस पर पाक उच्च न्यायालय ने उन्हें जल्द रिहा करने का आदेश दिया था. हाई कोर्ट में इमरान के पेश होने पर मामले की सुनवाई कर रही तीन सदस्यीय पीठ ने भी इस मामले को अवैध करार दिया था. चीफ जस्टिस उमर अता बंदियाल ने इमरान से कहा कि आपको देखकर अच्छा लगा. चीफ जस्टिस की इसी बात को लेकर शहबाज ने तंज कसा है.


न्याय की हुई हत्या 
हाई कोर्ट के इस फैसले पर पाकिस्तान डेमोक्रेटिक मूवमेंट (पीडीएम) के नेतृत्व का हिस्सा रही अवामी नेशनल पार्टी (एएनपी)  के नेता जाहिद खान ने इस पर नाराजगी जताई. उन्होंने हाई कोर्ट के इस निर्णय को न्याय की हत्या करार दिया है.  साथ ही सवाल किया दूसरे मामलों में न्यायालय की यह इंसानियत क्यों नहीं जागती.

 

यह भी पढ़ेंः India ने US को किया सतर्क, बांग्‍लादेश में अमेरिका की भूमिका से भारत खफा...चीन उठा सकता है फायदा