share--v1

Pakistan Election 2024: पाकिस्तान में फिर शरीफ-भुट्टो का गठजोड़, लेकिन इमरान का भी पलड़ा भारी

Pakistan Election 2024: पाकिस्तान चुनाव में एक ओर नवाज शरीफ, बिलावट भुट्टो और जरदारी सरकार बनाने का ऐलान कर रहे हैं, वहीं इमरान खान की पार्टी और निर्दलियों को भी अच्छी खासी सीटें मिलने का दावा किया जा रहा है.

auth-image
Naresh Chaudhary
फॉलो करें:

Pakistan Election 2024: पाकिस्तान चुनाव के रिजल्ट को लेकर सबकी निगाहें जमी हुई हैं. ताजा जानकारी के अनुसार, शहबाज शरीफ की ओर से बिलावल भुट्टो और पूर्व राष्ट्रपति आसिफ अली जरदारी से मुलाकात के बाद पाकिस्तान मुस्लिम लीग-नवाज (पीएमएल-एन) और पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी (पीपीपी) केंद्र और पंजाब प्रांत में गठबंधन सरकार बनाने के लिए राजी हो गए हैं. पाकिस्तानी जियो न्यूज ने बताया है कि उन्हें साथ मिलकर सरकार बनाने के लिए आमंत्रित किया गया है. उधर, पाकिस्तान के त्रिकोणीय चुनावों में कोई स्पष्ट विजेता अभी तक सामने नहीं आया है, क्योंकि मतगणना की रफ्तार काफी धीमी है. जानकारों का कहना है कि भारत के पड़ोसी देश पाकिस्तान में फिर से राजनीति की कोई स्थिर स्थित नजर नहीं आ रही है. 

पाकिस्तान में आम चुनाव गुरुवार को हुए थे और शाम 5 बजे तक मतदान चला था, जिसके बाद तुरंत बाद वोटों की गिनती शुरू हो गई थी. कयास लगाए जा रहे थे कि 265 सीटों पर किसी भी पार्टी के बहुमत का आंकड़ा शुक्रवार सुबह सामने आ जाएगा. 

पंजाब के कार्यवाहक मुख्यमंत्री के घर हुई अहम बैठक

जियो न्यूज की रिपोर्ट के अनुसार पीएमएल-एन प्रमुख नवाज शरीफ के भाई और पूर्व प्रधानमंत्री शहबाज शरीफ ने पंजाब के कार्यवाहक मुख्यमंत्री मोहसिन नकवी के आवास पर पीपीपी के शीर्ष नेताओं से मुलाकात की. पार्टी सूत्रों ने न्यूज पोर्टल को बताया कि शहबाज शरीफ ने जरदारी से आगामी सरकार के गठन पर चर्चा की. साथ ही बैठक में नवाज शरीफ का संदेश भी रखा. 45 मिनट की मुलाकात के दौरान शहबाज शरीफ ने बिलावल भुट्टो और उनके पिता आसिफ अली जरदारी को पाकिस्तान में राजनीतिक और आर्थिक स्थिरता के लिए पीएमएल-एन नेतृत्व के साथ बैठने के लिए कहा है. 

...लेकिन स्पष्ट बहुमत किसी पार्टी को नहीं

सूत्रों ने दावा किया कि दोनों पीपीपी नेता पंजाब और केंद्र में सरकार बनाने के लिए राजी हो गए हैं. दोनों दल अगली बैठक में अपने-अपने विचार पेश करेंगे और सत्ता में कार्यों के बंटवारे को लेकर फॉर्मूले का अंतिम रूप देंगे. इससे पहले शुक्रवार को नवाज शरीफ ने अपने पूर्व सहयोगियों, पीपीपी, जमीयत उलेमा-ए-इस्लाम (एफ) और मुत्तहिदा कौमी मूवमेंट (पाकिस्तान) की मदद से एक संयुक्त सरकार बनाने की इच्छा जाहिर की थी, क्योंकि चुनाव लड़ने वाली पार्टियों में से कोई भी एक स्पष्ट बहुमत हासिल करती हुई दिखाई नहीं दे रही है. 

पाकिस्तान चुनाव में अभी तक का क्या है हाल?

अभी तक की जानकारी के मुताबिक, पाकिस्तानी सेना समर्थित पीएमएल-एन को 71 सीटें मिलीं हैं. जबकि पीपीपी को 53 सीटें मिली हैं. बाकी छोटी पार्टियों ने कई सीटों पर जीत हासिल की है. 266 सीटों वाली नेशनल असेंबली में से 15 सीटों की घोषणा अभी बाकी है. इस बीच नवाज शरीफ ने दावा किया है कि अनिश्चित अर्थव्यवस्था और इमरान खान के सत्ता से बाहर होने के कारण पैदा हुए राजनीतिक संकट की पृष्ठभूमि के बीच आम चुनाव में पीएमएल-एन की "जीत" हुई है. लाहौर के मॉडल टाउन में एक आक्रामक भाषण के दौरान नवाज शरीफ ने कहा था कि मैंने शहबाज शरीफ को आज फजलुर रहमान, खालिद मकबूल सिद्दीकी और आसिफ अली जरदारी से मिलने का काम सौंपा है.

नवाज शरीफ ने दिया 'एकता सरकार' का संदेश

उन्होंने कहा कि उनके भाई शहबाज शरीफ और इशाक डार बैठकें करेंगे. नवाज शरीफ ने सभी पार्टियों और स्वतंत्र उम्मीदवारों के जनादेश का सम्मान करते हुए 'एकता सरकार' के गठन का संकेत दिया है. रुझान उनके पक्ष में नहीं आने के बावजूद, पीएमएल-एन नेता अगली सरकार बनाने को लेकर आश्वस्त हैं. उन्होंने दावा किया है कि उनके उम्मीदवारों ने बहुमत सीटें हासिल कर ली हैं और देश की बागडोर संभालने के लिए तैयार हैं. इस बीच जेल में बंद पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री इमरान खान की पार्टी की ओर से शनिवार को जारी एक एआई वीडियो में दावा किया है कि वे चुनाव जीत रहे हैं. 

 

Also Read

First Published : 10 February 2024, 12:12 PM IST