menu-icon
India Daily
share--v1

X यूजर्स को एलन मस्क ने फिर दिया तगड़ा झटका, इन लोगों को अब हर महीने देना होगा चार्ज!

X/Twitter: अगर आप माइक्रो ब्लॉगिंग साइट एक्स (पूर्व में ट्विटर) का इस्तेमाल करते हैं तो आपके लिए बुरी खबर है. एक्स के इस्तेमाल पर अब आपको फीस देनी पड़ सकती है.

auth-image
Sagar Bhardwaj
X यूजर्स को एलन मस्क ने फिर दिया तगड़ा झटका, इन लोगों को अब हर महीने देना होगा चार्ज!

Twitter: अगर आप माइक्रो ब्लॉगिंग साइट एक्स (पूर्व में ट्विटर) का इस्तेमाल करते हैं तो आपके लिए बुरी खबर है. एक्स के इस्तेमाल पर अब आपको फीस देनी पड़ सकती है. एक्स के मालिक एलन मस्क ने इसके संकेत दिये हैं.

सोमवार को एलन मस्क ने कहा कि एक्स सभी यूजर्स से मासिक तौर पर अब एक फीस वसूल सकता है. यानी एक्स के सभी यूजर्स को अब हर महीने एक शुल्क देना होगा. मस्क ने इसके पीछे बोट्स को काउंटर करने का हवाला दिया.

पिछले साल मस्क ने 44 बिलियन डॉलर में खरीदा था ट्विटर

बता दें कि एलन मस्क ने पिछले साल अक्टूबर में 44 बिलियन डॉलर में ट्विटर को खरीद लिया था. इसके बाद उन्होंने ट्विटर में कई बदलाव किये.

ट्विटर का मालिकाना हक मिलते ही मस्क ने हजारों कर्मचारियों को नौकरी से निकाल दिया था. इसके बाद उन्होंने ब्लू टिक यूजर्स के से चार्ज वसूल ने का ऐलान किया. उन्होंने कई प्रतिबंधित एकाउंट्स को बहाल किया जिसमें अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप का ट्विटर अकाउंट भी शामिल था.

आधी रह गई एक्स की विज्ञापनों से होने वाली कमाई


जुलाई में मस्क ने कहा था कि उनकी विज्ञापनों से होने वाली कमाई लगभग आधी घट गई है.

क्या है बोट्स: बोट्स दरअसल वो अकाउंट होते हैं जो इंसान के बजाय कम्प्यूटर प्रोग्राम्स द्वारा रन किए जाते हैं. बोट्स का इस्तेमाल राजनीतिक संदेश या नस्लीय घृणा को कृत्रिम रूप से प्रसारित करने के लिए किया जाता है.

सोमवार को इस्राइल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू से बात करते हुए एलन मस्क ने कहा कि बोट्स को काउंटर करने के लिए हमें एक्स के सभी यूजर्स से मासिक तौर पर एक फीस वसूलनी होगी.

उन्होंने कहा कि हम यूजर्स से मासिक तौर पर एक छोटी राशि चार्ज कर सकते हैं. बोट्स को रोकने का हमारे पास यही एक रास्ता है.

एलन मस्क का मानना है कि अगर यूजर्स को मंथली फीस का भुगतान करना पड़ेगा तो केवल असली यूजर्स ही एक्स का इस्तेमाल करेंगे और फर्जी अकाउंट्स या बोट्स इस प्लेटफॉर्म को प्रभावित नहीं कर पाएंगे.

यह भी पढ़ें: 'हम बेहद चिंतित हैं...' भारत-कनाडा तनाव के बीच आया अमेरिका का रिएक्शन