share--v1

Joe Biden और Rishi Sunak के गुस्से के आगे पस्त हुआ इजरायल, जानें क्यों मांगनी पड़ गई माफी

IDF apologize for killing 7 Aid Workers in Gaza: इजरायली डिफेंस फोर्स को वैश्विक नेताओं के गुस्से के आगे झुकना पड़ा. उन्हें माफी तक मांगनी पड़ी.

auth-image
India Daily Live

IDF apologize for killing 7 Aid Workers in Gaza: 7 अक्टूबर 2023 से इजरायल और हमास के बीच जारी जंग में अब तक हजारों लोगों की जान जा चुकी है. इजरायल लगातार गाजा पर हमले पर हमले कर रहा है. इसी हमले में उससे इतनी बड़ी गलती हो गई है कि उसे अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन और ब्रिटिश पीएम ऋषि सुनक के गुस्से का सामना करना पड़ रहा है. इजरायली डिफेंस फोर्स को अपनी गलती के लिए माफी मांगनी पड़ी है. दरअसल, IDF की स्ट्राइक में 7 राहत कर्मी जो गाजा में लोगों की मदद कर रहे थे, उनकी मौत हो गई. राहतकर्मियों की मौत से इजरायल को अंतरराष्ट्रीय बेइज्जती का सामना करना पड़ा रहा है.     

इजरायल डिफेंस फोर्स के चीफ हर्जी हलेवी (Herzi Halevi) ने गलती की माफी मांगी हैं. उन्होंने कहा की यह बहुत बड़ी गलती थी. यह हादसे नहीं होना चाहिए था. बड़ी गलती के चलते इस हमले में 7 राहत कर्मियों की जान चली गई.

IDF बोली गलती के लिए खेद है

गलत पहचान होने के चलते यह स्ट्राइक हो गई, जो नहीं होनी चाहिए थी. इजरायली डिफेंस फोर्स से अनजाने में हुई इस गलती के लिए हमें बहुत खेद है. यह बात IDF चीफ हर्जी हलेवी ने कही.

यूएस के प्रेसिडेंट जो बाइडेन ( Joe Biden), यूके के प्रधानमंत्री ऋषि सुनक (UK Prime Minister Rishi Sunak) के अलावा आस्ट्रेलियन और पोलैंड की सरकार ने गाजा में इजरायली हमले में मारे गए राहत बचाव कर्मियों की मौत पर इजरायल की कड़ी निंदा की है.

न्यूज एजेंसी AFP की रिपोर्ट के अनुसार  WCK (World Central Kitchen) की गाड़ी एक मलबे में दबी हुई थी. गोलीबारी होने के चलते उसके ऊपर छेद हो गया था.

क्या बोली संस्था

WCK गाजा के लोगों का तब से पेट भर रही है जब से इजरायल और हमास के बीच युद्ध शुरू हुआ है. अक्टूबर 2023 से ही डब्लूसीके समुद्र के जरिए राहत सामग्री लाकर गाजा के लोगों की मदद कर रही है. संगठन की ओर से कहा गया कि सोमवार को उसके 7 सहकर्मी तब मारे गए जब उन्होंने लगभग 100 टन खाने की सामग्री को गाजा में उतारा था.

WCK के सीईओ Erin Gore ने कहा कि इजरायल डिफेंस फोर्स की स्ट्राइक ने 7 सुंदर आत्माओं को मार दिया. वो अपना दिनभर का काम खत्म करके लौट रहे थे. यह सीर्फ 7 राहत कर्मियों की हमला नहीं बल्कि पूरे मानवता पर हमला है.

इससे पहले भी अंतरराष्ट्रीय स्तर पर संस्था ने इजरायल के खिलाफ मुकर होकर आवाज उठाई है.

PM सुनक ने की जांच की मांग

ब्रिटेन के प्रधानमंत्री ऋषि सुनक ने इजरायल के प्रधानमंत्री को फोन करके कहा कि गाजा पर इजरायल द्वारा किए जा रहे हमले से स्थिती बिल्कुल असहनीय होती जा रही है. इस हमले की जांच होनी चाहिए.

यूएस की ओर से कहा गया कि तीन कारों पर एक साथ हमला होना कोई एक्सीडेंट नहीं हो सकता. हम बेवकूफ नहीं हैं.

इजरायली पीएम बेंजामिन नेतन्याहू ने कहा कि आईडीएफ ने अनजाने में 7 राहत कर्मियों की हत्या की है. यह बहुत ही दुखद मामला है. इस मामले की शुरु से लेकर अंत तक जांच होगी.

Also Read