menu-icon
India Daily
share--v1

Human Dog: इंसान से कुत्ता बने जापानी शख्स ने कही अपने दिल की बात, कहा- "फिल्मों में काम करने का है मन"

Human Dog: इंसान से कुत्ता बने जापान के एक शख्स ने इंटरव्यू में कहा है कि उसका फिल्मों में काम करने का बेहद मन है. वह वहां अपनी स्किल्स को और बेहतर तरीके से प्रयोग कर सकता है.

auth-image
Shubhank Agnihotri
Human Dog: इंसान से कुत्ता बने जापानी शख्स ने कही अपने दिल की बात, कहा- "फिल्मों में काम करने का है मन"


Human Dog: इंसान से कुत्ता बनने वाले जापानी शख्स ने अपने दिल की बात कही है. न्यूयॉर्क पोस्ट को दिए गए इंटरव्यू में उसने कहा कि उसका फिल्मों में काम करने का काफी मन है.  गौरतलब है कि इस शख्स ने खुद को कुत्ता बनाने के लिए 12 लाख रुपये खर्च कर दिए. इंसान से कुत्ता बनने के निर्णय के कारण वे लगातार सुर्खियों में बने रहते हैं. सोशल मीडिया पर इस जापानी शख्स का नाम 'टोको' है.

इंटरव्यू में किए खुलासे


रिपोर्ट के मुताबिक, न्यूयॉर्क पोस्ट को दिए गए इंटरव्यू में उन्होंने कई खुलासे किए. इंटरव्यू में मानव कुत्ते ने कहा कि उसने खास तौर पर कोली कुत्ते की नस्ल को इसलिए चुना क्योंकि उसे इस नस्ल के कुत्ते बेहद पसंद हैं. टोको ने साक्षात्कार में आगे कहा कि इस नस्ल के कुत्तों के पैर लंबे होते हैं, ऐसे में उसे अपने पैरों को छुपाने के लिए मशक्कत नहीं करनी होगी.

 

फिल्मों में काम करने की इच्छा

दुनिया भर में 'ह्यूमन कोली' नाम से प्रसिद्धि पाने के बाद टोको ने फिल्मों में काम करने की इच्छा जताई है. न्यूयॉर्क पोस्ट से बातचीत के दौरान उन्होंने कहा कि मेरे लिए यह बेहद अच्छा होगा यदि मैं एक अपनी स्किल्स का सही तरीके से प्रयोग कर पाऊं और स्क्रीन पर कुत्ते के तौर सामने आ पाऊं.


महिला साथी की भी है तलाश

टोलो ने अपने साक्षात्कार में कहा कि मैं एक ऐसी महिला की तलाश कर रहा हूं जिसे कुत्ते की पोशाक पहनना पसंद हो. इसके बाद उन्होंने यह भी कहा कि कुत्ते की पोशाक को पहनना और उनकी तरह चारों पैरों के ऊपर चलना काफी थकाने वाला होता है. आपको बता दें कि जापान की कंपनी जेपेट टीवी विज्ञापनों और फिल्मों के लिए पोशाकें तैयार करती है. इस कंपनी ने ही टोको के लिए कुत्ते की पोशाक को बनाया है. कंपनी ने इसे 40 दिनों में बनाया है.

 

 

यह भी पढ़ेंः  Imran Khan: पाक के पूर्व प्रधानमंत्री इमरान खान को राहत नहीं, 26 सितंबर तक बढ़ी न्यायिक हिरासत