menu-icon
India Daily
share--v1

Sandeshkhali Unrest: संदेशखाली विवाद के बीच सिख IPS अधिकारी को कहा 'खालिस्तानी', वायरल हुआ वीडियो तो जन्मा विवाद, जानें मामला

Sandeshkhali Unrest: पश्चिम बंगाल के संदेशखाली इलाके के पास धमाखाली में पुलिस ने भाजपा के सुवेंदु अधिकारी समेत कई कार्यकर्ताओं को रोका था. इस दौरान उनकी पुलिस के साथ कहासुनी हो गई. इस घटना का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है.

auth-image
India Daily Live
Sandeshkhali unrest, west bengal News, Sandeshkhali Video

Sandeshkhali Unrest: पश्चिम बंगाल के संदेशखाली इलाके में चल रहे विवाद के बीच एक नए विवाद ने जन्म ले लिया है. बंगाल के भाजपा नेता सुवेंदु अधिकारी समेत अन्य कार्यकर्ताओं को रोकने के लिए उत्तर 24 परगना में भारी संख्या में फोर्स लगाई गई है. इसी बीच मौके पर तैनात एक सिख आईपीएस अधिकारी को आक्रोशित कार्यकर्ताओं ने कथित तौर पर खालिस्तानी कह दिया. आईपीएस अधिकारी ने भी इस पर अपनी नाराजगी जाहिर की. अब इस घटना का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है. बंगाल की सीएम ममता बनर्जी ने भी इस वीडियो को सोशल मीडिया पर शेयर करते हुए भाजपा पर निशाना साधा है. 

उधर, सुवेंदु अधिकारी के साथ मौजूद भाजपा विधायक अग्निमित्र पॉल ने दावा किया है कि आईपीएस अधिकारी अपने कर्तव्यों का पालन नहीं कर रहे थे. हालांकि उन्होंने इस आरोप को खारिज कर दिया है कि भाजपा समर्थकों ने उन्हें 'खालिस्तानी' कहा था.

उधर, बंगाल की सीएम ममता बनर्जी ने इस वीडियो को अपने सोशल मीडिया प्लेट फॉर्म एक्स पर शेयर किया है. साथ ही कही है कि भाजपा की विभाजनकारी राजनीति ने बेशर्मी से संवैधानिक सीमाओं को लांघ दिया है. हमारे राष्ट्र के लिए बलिदान और अटूट दृढ़ संकल्प के लिए सम्मानित सिखों की प्रतिष्ठा को कमजोर करने के दुस्साहसिक प्रयास की निंदा की है.

सोशल मीडिया पर वायरल हुआ झड़प का वीडियो

सोशल मीडिया पर वायरल हुए वीडियो में सुना जा सकता है कि IPS अधिकारी जसप्रीत सिंह को भाजपा समर्थकों ने खालिस्तानी कहा. इस दौरान IPS जसप्रीत सिंह अपनी टीम के साथ धमाखाली में तैनात थे और सुवेंदु अधिकारी को कालिंदी नदी पार करके संदेशखाली जाने से रोकने के लिए बैरिकेड्स लगाए हुए थे.

कार्यकर्ताओं के साथ बहस में IPS अधिकारी ने कहा कि मैंने पगड़ी पहनी है, इसलिए आप लोग मुझे खालिस्तानी कह रहे हैं? क्या आपने यही सीखा है? अगर कोई पुलिस अधिकारी पगड़ी पहनता है और ईमानदारी से ड्यूटी करता है तो वो आपके लिए खालिस्तानी हो जाता है? आपको शर्म आनी चाहिए. 

बंगाल भाजपा ने आरोपों से किया इनकार

आईपीएस अधिकारी जसप्रीत सिंह ने कहा कि मैं बस अपना काम कर रहा हूं. क्या मैंने आपके धर्म के बारे में कुछ कहा? आप मेरे धर्म के बारे में क्यों बोल रहे हैं? उधर सीएम ममता बनर्जी ने कहा है कि हम बंगाल के सामाजिक सौहार्द की रक्षा के लिए दृढ़ हैं. उन्होंने कहा कि इसे बाधित करने के किसी भी प्रयास को रोकने के लिए सख्त कानूनी कदम उठाएंगे. हालांकि भाजपा ने इस आरोप से इनकार किया है और कहा है कि पुलिस अधिकारी अपना कर्तव्य नहीं निभा रहे थे.