share--v1

UP News: अपहरण, फिरौती और फिर बेरहमी से हत्या; आखिर नाबालिगों ने क्यों रची ये खौफनाक साजिश

Uttar Pradesh News: चित्रकूट पुलिस ने सर्विलांस के जरिए सभी आरोपियों को गिरफ्तार किया है. आरोपियों से पूछताछ के बाद पुलिस ने जो खुलासा किया उसे सुनकर सभी लोग सन्न रह गए.

auth-image
India Daily Live
फॉलो करें:

Uttar Pradesh News: उत्तर प्रदेश के चित्रकूट जिले से एक सनसनीखेज खबर सामने आई है. यहां स्कूल में पढ़ने वाले नाबालिग लड़कों ने अपने महंगे शौक पूरा करने के लिए अपराध का रास्ता चुन लिया. जिला पुलिस ने खुलासा किया गया है कि आरोपियों ने गुटखा कारोबारी के नाबालिग बेटे का पहले अपहरण किया. फिरौती में 50 लाख रुपये मांगे गए और फिर कारोबारी के बेटे की हत्या कर शव को जंगल में फेंक दिया. पुलिस ने सर्विलांस के जरिए सभी आरोपियों को पकड़ लिया है. घटना का खुलासा करने वाली टीम को अधिकारियों ने इनाम भी दिया है.

सर्विलांस से खुली पोल, पकड़ा गया मुख्य आरोपी

घटना चित्रकूट के रैपुरा थाना क्षेत्र की है. यहां के एक बड़े गुटखा कारोबारी के बेटे सुधांशू का शनिवार को अपहरण हुआ. परिवार वालों ने पुलिस को बताया कि उनका बेटा काफी देर से घर नहीं लौटा है. इसी बीच एक अनजान नंबर से फोन आया है. फोन करने वाले ने खुद को किडनैपर बताया है और 50 लाख रुपये की फिरौती मांगी है. पुलिस ने उस फोन नंबर की आईडी और डीटेल्स निकाली. जिस शख्स के नाम से सिम कार्ड था, पुलिस ने उसे उठा लिया. उसने पुलिस को बताया कि मेरी सिम कुछ समय पहले चोरी हो गई थी.

एक कड़ी आई हाथ, तो पकड़े गए सारे गुनहगार

इसके बाद पुलिस ने उस व्यक्ति को कॉल करने वाले की रिकॉर्डिंग सुनाई. रिकॉर्डिंग सुनकर शख्स ने बताया कि ये आवाज विनय पटेल नाम के व्यक्ति की है. पुलिस ने जब विनय को पकड़ा तो सारी कहानी खुल गई. आरोपी विनय का साथ तीन अन्य लोगों ने भी दिया था. पूछताछ में आरोपी ने पुलिस को बताया कि सुधांशू के पिता कारोबारी हैं. लोगों से सुना था कि वे रोजाना 2 से ढाई लाख रुपये कमाते हैं. ऐसे में उन्होंने प्लान बनाया कि सुधांशू का अपहरण करके फिरौती मांगी जाए और फिर उस पैसे से एक नई स्कॉर्पियो खरीदी जाएगी. 

सुधांशू ने सुन ली थी फिरौती की बात

आरोपी ने बताया कि वे सुधांशू को अपने साथ लेकर गए थे. सभी लोग स्कूल में पढ़ने वाले एक साथी छात्र के कमरे पर पहुंचे. यहां खूब मौज मस्ती की. जब सुधांशू को इन लोगों पर भरोसा हो गया तो आरोपी उसे देवांग्ना के जंगल में लेकर पहुंचे. कहा कि यहां और ज्यादा मस्ती करेंगे. यहां से आरोपियों ने सुधांशू के पिता को फिरौती के लिए फोन किया. जैसे ही ये बात सुधांशू ने सुनी तो वो भागने लगा. इस पर आरोपियों ने उसकी हत्या कर दी और शव को जंगल में फेंक दिया. पुलिस ने जांच के बाद शव को जंगल से बरामद किया है. 

First Published : 13 February 2024, 07:17 PM IST