menu-icon
India Daily
share--v1

दुनिया में गंभीर संकटों के बावजूद तेजी से विकसित हो रहा भारत... राष्ट्रपति मुर्मू के अभिभाषण की बड़ी बातें

मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल का आखिरी बजट सत्र आज से शुरू हो गया. सत्र के शुरुआत में राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू का अभिभाषण हुआ, जिसमें उन्होंने राम मंदिर से लेकर अटल सेतू तक का जिक्र किया. इस दौरान उन्होंने कहा कि दुनिया में गंभीर संकटों के बावजूद भारत तेजी से विकसित हो रहा है.

auth-image
Om Pratap
parliament budget session 2024 droupadi murmu speech

Parliament budget session 2024 droupadi murmu speech: बजट सत्र के अभिभाषण की शुरुआत द्रौपदी मुर्मू ने ये कहते हुए की कि नए संसद भवन में ये मेरा पहला संबोधन हैं. आजादी के अमृतकाल की शुरुआत में ये भव्य भवन बना है. उन्होंने कहा कि यहां एक भारत श्रेष्ठ भारत की महक भी है. भारत की सभ्यता और संस्कृति की चेतना भी है. इसमें हमारी लोकतांत्रिक और संसदीय परंपराओं के सम्मान का प्रण भी है.

राष्ट्रपति ने कहा कि 21वीं सदी के नए भारत के लिए, नई परंपराओं के निर्माण का संकल्प भी है. मुझे पूरा विश्वास है कि इस नए भवन में नीतियों पर सार्थक संवाद होगा. ऐसी नीतियां जो आजादी के अमृतकाल में विकसित भारत का निर्माण करेंगी. आइए, जानते हैं राष्ट्रपति के अभिभाषण की बड़ी बातें...

मेरी माटी, मेरा देश अभियान का जिक्र

द्रौपदी मुर्मू ने 'मेरी माटी, मेरा देश' अभियान का जिक्र कर कहा कि इसके तहत देशभर के हर गांव की मिट्टी के साथ अमृत कलश दिल्ली लाए गए. 2 लाख से ज्यादा शिला-फलकम स्थापित किए गए. 3 करोड़ से ज्यादा लोगों ने पंच प्राण की शपथ ली और 70 हजार से ज्यादा अमृत सरोवर बने.

बीता वर्ष भारत के लिए ऐतिहासिक उपलब्धियों से भरा 

राष्ट्रपति मुर्मू ने कहा कि दुनिया में गंभीर संकटों के बीच भारत तेजी से विकसित होती बड़ी अर्थव्यवस्था बना. लगातार 2 क्वार्टर में भारत की विकास दर 7.5 फीसदी से ऊपर रही है. भारत, चंद्रमा के दक्षिण ध्रुव पर झंडा फहराने वाला पहला देश बना.

पिछले 10 वर्ष में अनेक कार्यों को पूरा होते हुए देखा

राष्ट्रपति ने कहा कि पिछले 10 वर्ष में, भारत ने राष्ट्र-हित में ऐसे अनेक कार्यों को पूरा होते हुए देखा है जिनका इंतजार देश के लोगों को दशकों से था. उन्होंने कहा कि राम मंदिर के निर्माण की आकांक्षा सदियों से थी, जो आज सच हो चुकी है. जम्मू कश्मीर से आर्टिकल 370 हटाने को लेकर शंकाएं थीं. आज वे इतिहास हो चुकी हैं. इसी संसद ने तीन तलाक के खिलाफ कड़ा कानून बनाया. 

राष्ट्रपति ने कहा कि मेरी सरकार ने वन रैंक वन पेंशन को भी लागू किया, जिसका इंतजार चार दशकों से था. OROP लागू होने के बाद अब तक पूर्व सैनिकों को लगभग 1 लाख करोड़ रुपये मिल चुके हैं. भारतीय सेना में पहली बार चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ की नियुक्ति भी हुई है.

जीवन में पहली बार बड़े पैमाने पर गरीबी को दूर होते देख रहे हैं

राष्ट्रपति ने कहा कि हम सभी बचपन से गरीबी हटाओ के नारे सुनते आ रहे थे. अब हम जीवन में पहली बार बड़े पैमाने पर गरीबी को दूर होते देख रहे हैं. नीति आयोग के अनुसार, मेरी सरकार के एक दशक के कार्यकाल में करीब 25 करोड़ देशवासी गरीबी से बाहर निकले हैं. ये प्रत्येक गरीब में नया विश्वास जगाने वाली बात है. 

अर्थव्यवस्था के विभिन्न आयामों को देखें तो...

राष्ट्रपति ने कहा कि आज अर्थव्यवस्था के विभिन्न आयामों को देखें तो यह विश्वास बढ़ता है कि भारत सही दिशा में है तथा सही निर्णय लेते हुए आगे बढ़ रहा है. हमने भारत को फ्रैजाइल फाइव से निकलकर, टॉप फाइव इकॉनोमिज में शामिल होते देखा है. भारत का निर्यात करीब 450 बिलियन डॉलर से बढ़कर 775 बिलियन डॉलर से अधिक हो गया है. पहले की तुलना में FDI दोगुना हुआ है. खादी और ग्रामोद्योग के उत्पादों की बिक्री में 4 गुना से अधिक की वृद्धि हुई है.

सरकार ने सुशासन और पारदर्शिता को हर व्यवस्था का मुख्य आधार बनाया है

राष्ट्रपति ने अपने अभिभाषण में कहा कि बीते दशक में मेरी सरकार ने सुशासन और पारदर्शिता को हर व्यवस्था का मुख्य आधार बनाया है. इस दौरान देश को Insolvency and Bankruptcy code मिला है. देश को GST के रूप में एक देश एक टैक्स कानून मिला है. उत्तर प्रदेश और तमिलनाडु में डिफेंस कॉरिडोर का विकास हो रहा है. मेरी सरकार ने डिफेंस सेक्टर में निजी क्षेत्र की भागीदारी सुनिश्चित की है. स्पेस सेक्टर को भी हमारी सरकार ने युवा स्टार्ट-अप्स के लिए खोल दिया है.

भारत में बिजनेस करना आसान हो...

राष्ट्रपति ने कहा कि भारत में बिजनेस करना आसान हो, इसके लिए उपयुक्त माहौल रहे, इस पर भी मेरी सरकार लगातार काम कर रही है. ईज ऑफ डूइंग बिजनेस में लगातार सुधार हो रहा है. बीते कुछ वर्षों में 40 हजार से ज्यादा Compliances हटाए या सरल किए गए. कंपनिज एक्ट तथा लिमिटेड लाइबलिटी पार्टनरशीप एक्ट में 63 प्रावधानों को अपराध की सूची से बाहर किया गया.

एक और बड़ा रिफॉर्म, डिजिटल इंडिया का निर्माण 

राष्ट्रपति ने कहा कि मेरी सरकार का एक और बड़ा रिफॉर्म डिजिटल इंडिया का निर्माण है. आज दुनिया के कुल रियल टाइम डिजिटल लेनदेन का 46 फीसदी भारत में होता है. पिछले महीने UPI से रिकार्ड 1200 करोड़ ट्रांजेक्शन हुए हैं. इसके तहत 18 लाख करोड़ रुपये का रिकॉर्ड लेनदेन हुआ है. डिजिटल के साथ फिजिकल इंफ्रास्ट्रक्चर पर भी रिकॉर्ड निवेश हुआ है. पिछले 10 सालों के दौरान गांवों में पौने 4 लाख किलोमीटर नई सड़कें बनी हैं. नेशनल हाईवे की लंबाई 90 हजार किलोमीटर से बढ़कर 1 लाख 46 हजार किलोमीटर हुई है.

विकसित भारत की भव्य इमारत 4 मज़बूत स्तंभों पर खड़ी होगी

राष्ट्रपति ने कहा कि मेरी सरकार मानती है कि विकसित भारत की भव्य इमारत 4 मज़बूत स्तंभों पर खड़ी होगी. ये स्तंभ हैं - युवाशक्ति, नारीशक्ति, किसान और गरीब.  उन्होंने कहा कि देश के हर हिस्से, हर समाज में इन सभी की स्थिति और सपने एक जैसे ही हैं. इसलिए इन 4 स्तंभों को सशक्त करने के लिए मेरी सरकार निरंतर काम कर रही है. 

मेरी सरकार ने टैक्स का बहुत बड़ा हिस्सा इन स्तंभों को मजबूत बनाने पर खर्च किया है. 4 करोड़ 10 लाख गरीब परिवारों को अपना पक्का घर मिला. इस पर लगभग 6 लाख करोड़ रुपये खर्च किए गए. लगभग 11 करोड़ ग्रामीण परिवारों तक पहली बार पाइप से पानी पहुंचा है.

मेरी सरकार ने देश में महंगाई को काबू में रखा

राष्ट्रपति ने कहा कि वैश्विक संकटों के बावजूद मेरी सरकार ने देश में महंगाई को काबू में रखा, सामान्य भारतीय का बोझ नहीं बढ़ने दिया. बीते वर्षों में विश्व ने दो बड़े युद्ध देखे और कोरोना जैसी वैश्विक महामारी का सामना किया. ऐसे वैश्विक संकटों के बावजूद मेरी सरकार ने देश में महंगाई को काबू में रखा, सामान्य भारतीय का बोझ नहीं बढ़ने दिया.

नारीशक्ति का सामर्थ्य बढ़ाने के लिए मेरी सरकार...

राष्ट्रपति मुर्मू ने कहा कि मेरी सरकार ने महिलाओं की आर्थिक भागीदारी बढ़ाने के लिए निरंतर प्रयास किए हैं. आज लगभग 10 करोड़ महिलाएं स्वयं सहायता समूहों से जुड़ चुकी हैं. मेरी सरकार 2 करोड़ महिलाओं को लखपति दीदी बनाने का अभियान चला रही है. नमो ड्रोन दीदी योजना का तहत, समूहों को 15 हजार ड्रोन उपलब्ध कराए जा रहे हैं. 

राष्ट्रपति ने कहा कि मेरी सरकार आज खेती को अधिक लाभकारी बनाने पर बल दे रही है. पीएम किसान सम्मान निधि के तहत अब तक 2 लाख 80 हजार करोड़ रुपये किसानों को मिल चुके हैं. 10 सालों में किसानों के लिए बैंक से आसान लोन में 3 गुना वृद्धि की गई है.

सबका साथ, सबका विकास, सबका विश्वास और सबका प्रयास...

राष्ट्रपति ने कहा कि सबका साथ, सबका विकास, सबका विश्वास और सबका प्रयास के मंत्र पर चल रही मेरी सरकार समाज के हर वर्ग को उचित अवसर देने में जुटी है. मेडिकल में ग्रेजुएशन और पोस्ट ग्रेजुएशन के लिए ओबीसी के केंद्रीय कोटे के तहत दाखिले में 27 प्रतिशत आरक्षण सुनिश्चित किया जाएगा. राष्ट्रीय पिछड़ा वर्ग आयोग को संवैधानिक दर्जा दिया गया. 

उन्होंने कहा कि हमारी सीमाओं से सटे गांवों को देश का अंतिम गांव माना जाता था. मेरी सरकार ने, इन्हें देश का पहला गांव बनाया. मेरी सरकार ने ऐसे क्षेत्रों को भी पहली बार विकास से जोड़ा है, जो दशकों तक उपेक्षित रहे. इन गावों के विकास के लिए वाइब्रेंट विलेज प्रोग्राम शुरू किया गया है.

आंतरिक शांति के लिए मेरी सरकार के प्रयासों के सार्थक परिणाम

राष्ट्रपति ने कहा कि आतंकवाद हो या विस्तारवाद, हमारी सेनाएं आज जैसे को तैसा की नीति के साथ जवाब दे रही हैं. जम्मू कश्मीर में आज सुरक्षा का वातावरण है. आज वहां हड़ताल का सन्नाटा नहीं, भीड़ भरे बाजार की चहल-पहल है. नॉर्थ-ईस्ट में अलगाववाद की घटनाओं में भारी कमी आई है.

उन्होंने कहा कि मेरी सरकार आज ग्रीन मोबिलिटी को बहुत प्रोत्साहन दे रही है. बीते कुछ सालों में ही देश में लाखों इलेक्ट्रिक वाहनों का निर्माण हुआ है. अब तो हम भारत में ही बड़े हवाई जहाज की मैन्युफैक्चरिंग के लिए भी कदम बढ़ा चुके हैं. आज मेड इन इंडिया एक ग्लोबल ब्रांड बन चुका है. मेक इन इंडिया को लेकर आज दुनिया आकर्षित हो रही है. आत्मनिर्भर भारत के लक्ष्य को दुनिया समझ रही है. आज दुनिया भर की कंपनियां भारत में नए सेक्टर्स को लेकर उत्साहित हैं.

विश्व में आज ऐसे उत्पादों की विशेष मांग है, जो पर्यावरण के अनुकूल हों. इसलिए मेरी सरकार जीरो इफेक्ट, जीरो डिफेक्ट पर बल दे रही है. आज ग्रीन एनर्जी पर हमारा बहुत फोकस है. 10 वर्षों में नॉन फोसिल फ्यूल पर आधारित उर्जा क्षमता 81 गीगावॉट से बढ़कर 188 गीगावॉट हो चुकी है.

राष्ट्रपति ने कहा कि मेरी सरकार भारत की युवाशक्ति की शिक्षा और कौशल विकास के लिए निरंतर नए कदम उठा रही है. इसके लिए नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति बनाई गई और उसे तेजी से लागू किया जा रहा है. इनोवेशन को बढ़ावा देने के लिए अटल इनोवेशन मिशन के अंतर्गत 10 हजार अटल टिंकरिंग लैब स्थापित किए गए हैं. इनमें 1 करोड़ से अधिक विद्यार्थी जुड़े हैं.