menu-icon
India Daily
share--v1

'अपराधी की तरह फरार... विक्टिम कार्ड खेल रहे CM केजरीवाल', ED समन पर पेश नहीं होने पर BJP का वार

बीजेपी के राष्ट्रीय प्रवक्ता शहजाद पूनावाला ने कहा कि आज एक बार फिर अरविंद केजरीवाल तीसरे समन में शामिल नहीं हुए. इससे पता चलता है कि छिपाने के लिए कुछ है और इसीलिए वह अपराधी की तरह फरार हैं. 

auth-image
Avinash Kumar Singh
 CM Kejriwal

हाइलाइट्स

  • अपराधी की तरह फरार, विक्टिम कार्ड खेल रहे CM केजरीवाल
  • ED समन पर पेश नहीं होने पर BJP का CM केजरीवाल पर वार

नई दिल्ली: ED के तीसरे समन में दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के शामिल नहीं होने को लेकर BJP ने बड़ा हमला बोला है. बीजेपी के राष्ट्रीय प्रवक्ता शहजाद पूनावाला ने कहा कि आज एक बार फिर अरविंद केजरीवाल तीसरे समन में शामिल नहीं हुए. इससे पता चलता है कि छिपाने के लिए कुछ है और इसीलिए वह अपराधी की तरह फरार हैं. 

'विक्टिम कार्ड खेल रहे CM केजरीवाल'

शहजाद पूनावाला ने मनीष सिसौदिया और संजय सिंह को जमानत देने से इनकार करने और अदालत की ओर से स्थापित मनी ट्रेल पर जोर देते हुए कहा कि अदालतों ने मनीष सिसौदिया और संजय सिंह को जमानत नहीं दी है और अदालतों ने स्थापित कर दिया है कि पैसे का लेन-देन हुआ है, इन सबके बावजूद वे वही विक्टिम कार्ड खेल रहे हैं.

 'मैं जांच में सहयोग करने के लिए तैयार' 

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ED के समन के बावजूद पूछताछ में शामिल नहीं हुए. समन का जवाब देते हुए केजरीवाल ने कहा है कि मैं जांच में सहयोग करने के लिए तैयार हूं, लेकिन जो नोटिस मुझे भेजा गया है, वो अवैध है. वहीं केजरीवाल की आम आदमी पार्टी ने आरोप लगाया कि जांच एजेंसी दिल्ली के मुख्यमंत्री को गिरफ्तार करना चाहती है और उन्हें चुनाव प्रचार से रोकना चाहती है.

 

2 समन को दरकिनार कर चुके हैं CM केजरीवाल 

अरविंद केजरीवाल इससे पहले 2 समन को दरकिनार कर चुके हैं और अब तक ईडी के सामने पेश नहीं हुए हैं. सीएम केजरीवाल को सबसे पहले केंद्रीय एजेंसी ने 2 नवंबर को पेश होने के लिए बुलाया था, लेकिन उन्होंने यह आरोप लगाते हुए गवाही नहीं दी कि नोटिस अवैध और राजनीति से प्रेरित है. यह नोटिस बीजेपी के आदेश पर भेजा गया है. 

CM केजरीवाल को ED ने फिर भेजा समन 

उसके बाद 18 दिसंबर को इस मामले में ईडी ने केजरीवाल को तलब किया था और उन्हें 21 दिसंबर को पूछताछ के लिए केंद्रीय एजेंसी के सामने पेश होने के लिए कहा था. उन्होंने पिछली बार की तरह इस बार भी ED के समन गैरकानूनी करार देते हुए केंद्रीय एजेंसी के सामने पेश होने से इंकार कर दिया और विपश्यना केंद्र चले गए. उसके बाद ईडी ने मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को 3 जनवरी को केंद्रीय एजेंसी के सामने पेश होने के लिए कहा था लेकिन उन्होंने पेश होने से इंकार करते हुए गैर-कानूनी करारा दिया है. 

'एजेंसियां ​​विपक्षी नेताओं पर डाल रही दबाव'

वहीं कांग्रेस नेता उदित राज ने कहा "ईडी झारखंड के सीएम हेमंत सोरेन के सहयोगियों के यहां छापेमारी कर रही है. चुनाव से ठीक पहले छत्तीसगढ़ के पूर्व सीएम भूपेश बघेल को ईडी का नोटिस भेजा गया और उन पर झूठे आरोप लगाए गए. अरविंद केजरीवाल भी विपक्षी गठबंधन का हिस्सा हैं. दरअसल ये एजेंसियां ​​अपना काम नहीं कर रही हैं बल्कि विपक्षी नेताओं पर दबाव डाल रही हैं."