share--v1

Lok Sabha Elections 2024: प्रल्हाद जोशी के खिलाफ लामबंद हुए लिंगायत संत, टिकट बदलने की मांग

Lok Sabha Elections 2024: धारवाड़ लोकसभा सीट से केंद्रीय मंत्री प्रल्हाद जोशी के टिकट को लेकर लिंगायत संतों ने विरोध जताया है. लिंगायत संत दिंगलेश्वर स्वामीजी ने कहा कि सभी मठों के प्रमुखों ने सांसद को बदलने का फैसला किया है.

auth-image
India Daily Live

Lok Sabha Elections 2024: कर्नाटक में लिंगायत संतों ने धारवाड़ लोकसभा सीट से केंद्रीय मंत्री प्रल्हाद जोशी को उम्मीदवारी का विरोध किया है. फक्कीरेश्वर मठ के मठाधीश फक्कीरा दिंगलेश्वर स्वामीजी ने बड़ा बयान देते हुए कहा 'कर्नाटक के संतों ने धारवाड़ निर्वाचन क्षेत्र के सांसद  प्रल्हाद जोशी के बारे में चर्चा की है. सभी मठों के प्रमुखों ने सांसद को बदलने का फैसला किया है. इसके लिए उन्होंने चार दिन का समय दिया है. हम 31 मार्च तक इंतजार करेंगे. हम देखेंगे कि इन 4 दिनों में BJP आलाकमान क्या फैसला करता है.'

दिंगलेश्वर स्वामीजी ने आगे अपने बयान में कहा '2 अप्रैल को हम एक साथ आएंगे और आपको अपने फैसले के बारे में बताएंगे. हम पार्टी के बारे में बात नहीं कर रहे हैं, हम प्रल्हाद जोशी और उनके व्यक्तित्व के बारे में बात कर रहे हैं. हर समुदाय उनसे नाखुश है. इसलिए यह निर्णय लिया गया है.'

लिंगायत संतों की बैठक में बड़ा फैसला 

न्यूज एजेंसी पीटीआई के मुताबिक लिंगायत संतों की बैठक में यह फैसला लिया गया कि उत्तर की तरह दक्षिण में भी स्वामीजी को राजनीतिक क्षेत्र में काम करना चाहिए और चुनाव लड़ना चाहिए. धारवाड़ क्षेत्र में लिंगायत मतदाताओं की बहुतायत संख्या हैं जबकि प्रल्हाद जोशी ब्राह्मण समाज से ताल्लुक रखते हैं.

संतों की नराजगी को लेकर प्रल्हाद जोशी का बड़ा बयान 

लिंगायत संतों की मांग पर प्रतिक्रिया देते हुए प्रल्हाद जोशी ने कहा कि उनके मन में दिंगलेश्वर स्वामीजी के लिए बहुत सम्मान है. संत और मठ के साथ उनका 30 वर्षों से अधिक का जुड़ाव है. वह संत की टिप्पणियों को आशीर्वाद के रूप में मानेंगे और अगर यदि कोई गलतफहमी होगी तो उसे दूर करने की कोशिश करेंगे. 

क्या प्रल्हाद जोशी का कटेगा टिकट? 

वहीं लिंगायत वोट बैंक के बड़े सियासी क्षत्रप माने जाने वाले बीजेपी के अनुभवी नेता बीएस येदियुरप्पा ने जोशी के टिकट काटे जाने के अटकलों को सिरे से खारिज कर दिया. येदियुरप्पा ने कहा कि प्रल्हाद जोशी एक वरिष्ठ नेता हैं और भारी अंतर से लोकसभा चुनाव जीतेंगे. उन्होंने कहा कि वह व्यक्तिगत रूप से संत समाज के लोगों से बात करेंगे और तमाम तरह की गलतफहमियों को दूर करेंगे. 

जानें प्रल्हाद जोशी का सियासी सफर? 

प्रल्हाद जोशी मोदी सरकार में केंद्रीय संसदीय कार्य और कोयला मंत्रालय के कैबिनेट रैंक मंत्री है. चार बार के सांसद ने 2004 में अपना पहला लोकसभा चुनाव लड़ा, जिसमें उन्होंने कांग्रेस के बीएस पाटिल को बड़े अंतर से हराकर धारवाड़ लोकसभा सीट पर जीत का परचम लहराया था. उसके बाद 2009, 2014 और 2019 के लोकसभा चुनाव में उन्होंने इस सीट से जीत के सिलसिले को बरकरार रखा. बीजेपी ने इस बार भी प्रह्लाद जोशी को चुनावी मैदान में उतारा है. वहीं कांग्रेस ने विनोद आसुती को टिकट देकर चुनावी लड़ाई को दिलचस्प बना दिया है.

Also Read

First Published : 28 March 2024, 02:22 PM IST