menu-icon
India Daily
share--v1

'विश्वासघाती है कांग्रेस, गठबंधन पर नहीं कर सकते भरोसा', UPA के पूर्व सहयोगी ने किया बड़ा खुलासा

Lok Sabha Election 2024: कांग्रेस की ओर से सियासी गठबंधन की संभावना को खारिज किये जाने के बाद AIUDF के प्रवक्ता और विधायक अमीनुल इस्लाम ने कांग्रेस को देशद्रोही करार दिया है.

auth-image
Avinash Kumar Singh
'विश्वासघाती है कांग्रेस, गठबंधन पर नहीं कर सकते भरोसा', UPA के पूर्व सहयोगी ने किया बड़ा खुलासा

नई दिल्ली: 2024 लोकसभा चुनाव को लेकर चुनावी तैयारियां तेज हो चली है. बीते दिनों असम कांग्रेस प्रदेश इकाई ने बदरुद्दीन अजमल की AIUDF और के साथ अपने गठबंधन को खत्म करने का ऐलान किया था. जिसके बाद असम कांग्रेस के इस फैसले के तमाम तरह के सियासी सवाल उठने लगे. बीते दिनों कांग्रेस सांसद राहुल गांधी ने आगामी लोकसभा चुनाव में एआईयूडीएफ के साथ हाथ मिलाने की संभावना से इनकार किया था.

AIUDF प्रवक्ता ने कांग्रेस को करार दिया देशद्रोही

कांग्रेस की ओर से सियासी गठबंधन की संभावना को खारिज किये जाने के बाद AIUDF के प्रवक्ता और विधायक अमीनुल इस्लाम ने कांग्रेस को देशद्रोही करार दिया है. अमीनुल इस्लाम ने बड़ी प्रतिक्रिया जाहिर करते हुए कहा कि हमने कभी नहीं कहा कि हमारा कांग्रेस के साथ गठबंधन है. यह एक गद्दार पार्टी है. पिछली बार वे चुनाव से पहले हमारे साथ गठबंधन में आए थे लेकिन चुनाव समाप्त होने के बाद इसे तोड़ दिया. कांग्रेस ने एआईयूडीएफ को धोखा दिया था. AIUDF कांग्रेस के साथ दोबारा गठबंधन करने में कोई दिलचस्पी नहीं रखती है. हम पूरे दिल से बीजेपी को हराना चाहते है.

AIUDF से गठबंधन के सवाल पर जानें राहुल गांधी ने क्या दिया जवाब

बीते दिनों कांग्रेस नेता राहुल से AIUDF और कांग्रेस के गठबंधन बनाने की संभावनाओं के बारे में पूछा गया. जिसके जवाब में उन्होंने कहा कि जहां तक ​​मुझे पता है. हमारा उनके साथ गठबंधन नहीं है. कांग्रेस पार्टी 2021 विधानसभा चुनाव में AIUDF के साथ गठबंधन में थी, लेकिन गठबंधन को हार का सामना करना पड़ा. कांग्रेस के नेतृत्व वाले महागठबंधन ने 126 सीटों में से सिर्फ 50 सीटें जीतीं.

असम में कांग्रेस के नेतृत्व में बने गठबंधन पर AIUDF का बड़ा हमला

असम में कांग्रेस के नेतृत्व में हाल ही में बने गठबंधन पर सवाल उठाते हुए AIUDF के प्रवक्ता अमीनुल इस्लाम ने कहा कि  "12 दलों को गठबंधन बनाना था, लेकिन अब असम जातीय परिषद के नेता लुरिनज्योति गोगोई अलग से प्रचार कर रहे हैं और अखिल गोगोई जोरहाट निर्वाचन क्षेत्र से चुनाव लड़ना चाहते हैं. इस बीच तृणमूल कांग्रेस तीन सीटें चाहती है तो गठबंधन का क्या हुआ? वे सभी समझ गए कि कांग्रेस उन्हें धोखा देगी. AIUDF  बदरुद्दीन अजमल के नेतृत्व में धुबरी, करीमगंज और नागांव में चुनाव लड़ेगी.

यह भी पढ़ें: लोकसभा चुनाव के मद्देनजर BJP में बड़ा फेरबदल, पार्टी ने बदले तीन राज्यों के प्रदेश अध्यक्ष, जानिए किसको मिली कमान