menu-icon
India Daily
share--v1

पीएम मोदी के वो मंत्री जो नहीं बचा पाए अपनी सीट, जानें कौन हारा, कौन चल रहा पीछे

ताजा रुझानों में भाजपा सरकार में मंत्री रहे कई उम्मीदवारों की हार साफ दिखाई दे रही है. यही नहीं कुछ तो हार भी चुके हैं. इन बड़े चेहरों की करारी हार से एनडीए के लिए सरकार बनाना मुश्किल हो गया है.

auth-image
India Daily Live
Smriti Irani
Courtesy: social media

Lok Sabha elections 2024: लोकसभा चुनाव की मतगणना अपने अंतिम चरण की ओर बढ़ चली है. 4.13 बजे तक के रुझानों में एनडीए 293 सीटों पर आगे चल रहा है वहीं इंडिया गठबंधन 229 सीटों पर आगे चल रहा है. ताजा रुझानों में भाजपा सरकार में मंत्री रहे कई उम्मीदवारों की हार साफ दिखाई दे रही है. यही नहीं कुछ तो हार भी चुके हैं. इन बड़े चेहरों की करारी हार से एनडीए के लिए सरकार बनाना मुश्किल हो गया है.

आइए जानते हैं उन नेताओं के बारे में जो पीएम मोदी की सरकार में मंत्री रहे लेकिन अपनी सीट बचाने के लिए उन्हें जद्दोजहद करनी पड़ रही है.

स्मृति ईरानी- केंद्र सरकार में महिला एवं बाल विकास मंत्री स्मृति ईरानी को अमेठी से करारी हार झेलनी पड़ी है. उन्हें कांग्रेस उम्मीदवार और गांधी परिवार के भरोसेमंद किशोरी लाल ने करारी शिकस्त दी है. पिछली बार के लोकसभा चुनाव में स्मृति ईरानी ने राहुल गांधी को बड़ा उलटफेर करते हुए हरा दिया था, ऐसे में माना जा रहा है कि जब वह राहुल को हरा सकती हैं तो किशोरी लाल पर तो वह आसानी से जीत दर्ज कर लेंगी लेकिन ऐसा हो न सका

अर्जुन मुंडा-  मोदी सरकार में जनजातीय मामलों और कृषि और किसान मंत्री रहे अर्जुन मुंडा झारखंड की खूंडी लोकसभा सीट पर अर्जुन मुंडा 121644 सीटों पर पीछे चल रहे हैं. वह कांग्रेस के काली चरन मुंडा से पीछे चल रहे हैं.

डॉ. महेंद्र नाथ पांडे- चंदौली सीट पर महेंद्र नाथ पांडे अपनी सीट नहीं बचा पार रहे हैं. फिलहाल वह 22233 सीटों से पीछे चल रहे हैं. चंदौली में समाजवादी पार्टी के बिरेंद्र सिंह ने बढ़त बना रखी है. मोदी सरकार में वह भारी उद्योग मंत्री हैं.

राज कुमार सिंह-  मोदी सरकार में कैबिनेट मंत्री राज कुमार सिंह आरा सीट पर 39970 वोटों से पीछे चल रहे हैं. वह सीपीआई (एम) के सुदामा प्रसाद बाजी हारते दिख रहे हैं.

अजय कुमार मिश्रा- मोदी सरकार में गृह राज्य मंत्री रहे अजय कुमार मिश्रा लखीमपुर खीरी से चुनाव हार चुके हैं. मिश्रा को समाजवादी पार्टी उम्मीदवार उत्कर्ष वर्मा मधुर के हाथों करारी हार झेलनी पड़ी है.