share--v1

'दो मंत्री मिलना चाहिए', क्या बिहार में मांझी बिगाड़ेंगे खेल?

Bihar Politics: बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी ने एक बड़ा ने नीतीश सरकार में दो मंत्रालय दिए जाने की मांग की है. मांझी ने कहा है कि मुझे महागठबंधन की ओर से सीएम पद का ऑफर दिया गया था लेकिन मैंने इंकार कर दिया था इसलिए मुझे अगर दो मंत्रालय नहीं मिला तो यह मेरे साथ अन्याय होगा.

auth-image
Purushottam Kumar
फॉलो करें:

हाइलाइट्स

  • जीतन राम मांझी ने एक और मंत्री पद की मांग की
  • 'दो मंत्रालय नहीं मिला तो यह मेरे साथ अन्याय होगा'

Bihar Politics: बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री और हिंदुस्तानी आवाम मोर्चा से संयोजक जीतन राम मांझी ने एक बड़ा बयान दिया है. जीतन राम मांझी ने कहा है कि उन्हें महागठबंधन ने बिहार के मुख्यमंत्री पद का ऑफर दिया गया था. मांझी ने नीतीश मंत्रिमंडल में अपनी पार्टी से कुल दो मंत्री बनाने की मांग की है. उन्होंने कहा कि उन्हें कम से कम एक मंत्रिमंडल और मिलना चाहिए. मांझी ने 'हम' पार्टी से अनिल कुमार सिंह को मंत्री बनाया जाए. उन्होंने आगे कहा कि इस मामले को लेकर मैंने केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह, बिहार  के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार समेत कई अन्य नेताओं से इस संबंध में बात की है.

'महागठबंधन ने सीएम पद का ऑफर दिया'

बिहार के पूर्व सीएम और हम संयोजन जीतन राम मांझी ने कहा कि उन्हें महागठबंधन की ओर से सीएम बनाने का ऑफर दिया गया था. हालांकि, इस ऑफर को मैंने ठुकरा दिया है. मांझी ने आगे कहा कि नीतीश मंत्रिमंडल में मुझे अगर दो मंत्रालय नहीं मिला तो यह मेरे साथ अन्याय होगा.

5 फरवरी तक मंत्रिमंडल विस्तार- मांझी

जीतन राम मांझी ने आगे कहा कि मांझी को पैसा और पद से नहीं तौला जा सकता. उन्होंने कहा कि मैं एनडीए के साथ हूं और 44 सालों से राजनीति में हूं. शपथ ग्रहण को लेकर उन्होंने कहा कि अब तक सुबह में शपथ होती थी और शाम में मंत्रिमंडल का बंटवारा हो जाता था, लेकिन अब तक नहीं होना इससे मुझे भी लगता है कहीं न कहीं कुछ है. वहीं, जहां तक मंत्रिमंडल विस्तार की बात है तो इसमें दो से तीन घटक दल है. जेडीयू की तरफ से कोई बात नहीं है लेकिन बीजेपी के तरफ से कोई बात हो सकती है. पांच फरवरी तक मंत्रिमंडल का विस्तार हो सकता है.

Also Read

First Published : 02 February 2024, 04:54 PM IST