share--v1

PM मोदी से क्यों मिले प्रमोद कृष्णम? एक्शन लेगी कांग्रेस!

कांग्रेस नेता आचार्य प्रमोद कृष्णम ने पीएम नरेन्द्र मोदी से मुलाकात की है. इस दौरान उन्होंने प्रधानमंत्री मोदी को श्री कल्कि धाम के शिलान्यास समारोह का निमंत्रण दिया, जिसे प्रधानमंत्री ने स्वीकार किया है.

auth-image
Avinash Kumar Singh
फॉलो करें:

हाइलाइट्स

  • आचार्य प्रमोद कृष्णम ने पीएम मोदी से की मुलाकात
  • कल्कि धाम शिलान्यास समारोह के लिए पीएम मोदी को दिया न्योता

नई दिल्ली: कांग्रेस नेता आचार्य प्रमोद कृष्णम ने पीएम नरेन्द्र मोदी से मुलाकात की है. इस दौरान उन्होंने प्रधानमंत्री मोदी को श्री कल्कि धाम के शिलान्यास समारोह का निमंत्रण दिया, जिसे प्रधानमंत्री ने स्वीकार किया है. सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म एक्स पर पीएम मोदी से मुलाकात की तस्वीरों को शेयर करते हुए आचार्य प्रमोद कृष्णम ने लिखा "19 फरवरी को आयोजित श्री कल्कि धाम के शिलान्यास समारोह में भारत के यशस्वी प्रधानमंत्री आदरणीय श्री नरेंद्र मोदी जी को आमंत्रित करने का सौभाग्य प्राप्त हुआ. मेरे इस पवित्र भाव को स्वीकार करने के लिये माननीय प्रधानमंत्री जी का हार्दिक आभार एवं साधुवाद."

पीएम मोदी से मुलाकात की तस्वीरों को किया शेयर

पीएम मोदी ने स्वीकार किया निमंत्रण

वहीं पीएम मोदी ने इस निमंत्रण को स्वीकार करते हुए एक्स पर लिखा "आस्था और भक्ति से जुड़े इस पावन अवसर का हिस्सा बनना मेरे लिए सौभाग्य की बात है. निमंत्रण के लिए आपका हृदय से आभार आचार्य प्रमोद कृष्णम जी."

आचार्य प्रमोद कृष्णम ने राम मंदिर उदघाटन में लिया था हिस्सा

बीते दिनों आचार्य प्रमोद कृष्णम ने राम मंदिर उदघाटन में हिस्सा लिया था. उन्होंने रामलला प्राण प्रतिष्ठा का निमंत्रण पत्र को कांग्रेस पार्टी की ओर से ठुकराये जाने की कड़ी आलोचना की थी. आचार्य प्रमोद कृष्णम ने कहा था कि राम मंदिर और भगवान राम सबके हैं. कांग्रेस हिंदू विरोधी पार्टी नहीं है, कांग्रेस राम विरोधी नहीं है. यह कुछ लोग हैं जिन्होंने इस तरह का फैसला कराने में भूमिका अदा की है. इस फैसले से पार्टी के कई कार्यकर्ताओं का दिल टूटा है. निमंत्रण को स्वीकार ना करना बेहद दुखद और पीड़ादायक है. कांग्रेस नेता आचार्य प्रमोद कृष्णम की पीएम नरेन्द्र मोदी से मुलाकात के बाद सोशल मीडिया पर उनके कांग्रेस पार्टी से निष्कासन की खबरें भी सामने आयी है. कांग्रेस पार्टी से प्रमोद कृष्णम के तत्काल प्रभाव से निष्कासित होने का एक लेटर सोशल मीडिया पर वायरल हो रही है, हालांकि इस लेटर को लेकर कांग्रेस की तरफ से कोई भीआधिकारिक बयान सामने नहीं आया है. 

'राम भारत की आत्मा.. रोम-रोम में राम' 

वहीं अपने एक और बयान में बड़ी प्रतिक्रिया जाहिर करते हुए आचार्य प्रमोद कृष्णम ने कहा था कि विपक्ष पीएम मोदी का विरोध करने के चक्कर में कुछ भी कर रहा है. हमें विरोध करना चाहिए न कि नफरत, रामजी के पुनरागमन पर मैं देश भर को  बधाई देता हूं. राम भारत की आत्मा है और बिना उनके इस देश की कल्पना नहीं की जा सकती. राम से नफरत तो पाकिस्तानी भी नहीं करते तो भारत में इसका विरोध क्यों हो रहा है. भारत के रोम-रोम में राम हैं. अब जब 

Also Read

First Published : 02 February 2024, 06:10 AM IST