menu-icon
India Daily
share--v1

'मैं जिस लड़की से प्यार करता था उससे शादी नहीं कर सका', कर्नाटक सीएम ने जाति प्रथा पर साधा निशाना

सीएम ने कहा कि जातिवाद जैसी सामाजिक बुराई को खत्म करने के केवल दो तरीके हैं. पहला अंतरजातीय विवाह और दूसरा सभी समुदायों के बीच सामाजिक-आर्थिक सशक्तिकरण.

auth-image
India Daily Live
siddaramaiah
Courtesy: social media

karnataka News: कर्नाटक के मुख्यमंत्री सिद्धारमैया ने कहा कि मैं जिस लड़की से प्यार करता था उससे शादी नहीं कर पाया. उन्होंने कहा कि देश में व्याप्त जाति प्रथा के कारण ऐसा हुआ. बीती रात मैसूर में एक कार्यक्रम में बोलते हुए उन्होंने ये बात कही. बुद्ध पूर्णिमा पर 'अंतरजातीय विवाह' पर एक कार्यक्रम के दौरान सीएम ने अपने कॉलेज के दिनों को याद किया.

मैं अंतरजातीय विवाह करना चाहता था लेकिन...

कर्नाटक सीएम ने कहा कि मैं अंतरजातीय विवाह करना चाहता था लेकिन ऐसा हो न सका. वह लड़की इसके लिए तैयार नहीं हुई.  सीएम ने कहा, 'कॉलेज के दौरान मुझे एक लड़की से प्यार हो गया था. मुझे गलत मत समझना. मैं उस लड़की से शादी करना चाहता था, लेकिन वह और उसका परिवार राजी नहीं हुआ और मेरी शादी नहीं हो सकी.' उन्होंने कहा कि और इसके बाद मुझे अपनी ही जाति की लड़की से शादी करनी पड़ी.

सीएम ने किया अंतरजातीय विवाह का समर्थन

अंतरजातीय विवाह को अपना पूरा समर्थन देते हुए सीएम सिद्धारमैया ने कहा कि हमारी सरकार ऐसी शादियों को पूरी सहायता देगी. कर्नाटक सीएम ने कहा कि जातिवाद को खत्म करने और समाज में समानता लाने के प्रयास गौतम बुद्ध और 12वीं शताब्दी के कर्नाटक के समाज सुधारक भगवान बसवेश्वर के समय से हो रहे हैं.

जाति जैसी बुराई केवल दो तरीके से ही खत्म हो सकती है

उन्होंने दुख जताया कि समानता आधारित समाज के निर्माण के लिए कई समाज सुधारकों के प्रयास अभी तक सफल नहीं हुए हैं. सीएम ने कहा कि जातिवाद जैसी सामाजिक बुराई को खत्म करने के केवल दो तरीके हैं. पहला अंतरजातीय विवाह और दूसरा सभी समुदायों के बीच सामाजिक-आर्थिक सशक्तिकरण. उन्होंने कहा कि सामाजिक-आर्थिक उत्थान के बिना समाज में समानता नहीं आ सकती.