menu-icon
India Daily
share--v1

हीटवेव के सितम से पसरा मातम, 15 मौतों के बाद अब कहां पहुंच रहा पारा; जानें मौसम का पूर्वानुमान

Heatwave Alert: देश में हीटवेव इन दिनों हालात को खराब कर ही है. दिल्ली-NCR समेत कई राज्यों में रेड अलर्ट जारी किया गया है. इस बीच मौसम ने राजस्थान में सबसे ज्यादा कहर मचाया है. आइये जानें देश में मौसम के हाल क्या हैं और IMD इसके लिए क्या पूर्वानुमान लगा रहा है.

auth-image
India Daily Live
Heatwave Alert
Courtesy: the india daily

Heatwave Alert: इस साल जून आने से पहले ही गर्मी देश में अपना रूप दिखाने लगी है. दिल्ली-NCR समेत कई राज्यों में रेड अलर्ट के बीच पारा लगातार बढ़ता जा रहा है. उत्तर भारत के अधिकांश शहरों में पारा  46 डिग्री तक पहुंच गया है. दिल्ली, हरियाणा, पंजाब, उत्तर प्रदेश, राजस्थान, मध्य प्रदेश और गुजरात में मौसम विभाग ने लू का रेड अलर्ट जारी किया है. मौसम ने सबसे ज्यादा कहर राजस्थान में मचाया है. यहां अब तक इसे लेकर 15 मौतों के मामले सामने आए हैं.

19 मई को नजफगढ़ में इस मौसम का सबसे अधिक तापमान 47.8 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया. इसके बाद आगरा में तापमान 47.7 डिग्री पहुंचा. फिर 23 मई को बाड़मेर में 48 और अब फलोदी में 49.0 डिग्री सेल्सियस तापमान ने सारे रिकॉर्ड तोड़ दिए हैं.

मौसम का पूर्वानुमान

मौसम विभाग के अनुसार उत्तर भारत में अगले 5 दिन ऐसे ही हालात रहेंगे. वहीं राजस्थान में  72 घंटों में कुछ भागों में अधिकतम तापमान में हल्की बढ़ोतरी होने की संभावना है. 28-29 मई से राज्य के कुछ भागों में अधिकतम तापमान 2-3 डिग्री से. गिरावट होने की संभावना है.

राजस्थान में 15 मौतें

राजस्थान में गर्मी अब जानलेवा साबित हो रही है. लू के कारण तीन दिन में 15 लोगों की मौत हुई है. इसके बाद से ही स्वास्थ्य विभाग को अलर्ट पर रखा गया है. सरकारी अस्पतालों के सभी डॉक्टरों और पैरामेडिकल स्टाफ की छुट्टियां रद्द हो गई हैं. वहीं उत्तर प्रदेश के नोएडा में सभी स्कूलों में कक्षा 9 से 12 तक के छात्रों की भी छुट्टी कर दी गई है.

बिजली और पानी का संकट

केंद्रीय जल आयोग (CWC) के अनुसार, भारत के 150 प्रमुख जलाशयों में जलस्तर निचले स्तर पर पहुंच गया है. दिल्ली में यमुना नदी सीमाएं कम हो रही हैं. इससे वाटर सप्लाई प्रभावित हो रही है. वहीं बिजली मंत्रालय के अनुसार भारत में बिजली की मांग 237 गीगावाट पर पहुंच गई. दिल्ली में यह मांग 8 हजार मेगावाट कर मांग हो रही है. वहीं मध्य प्रदेश और उत्तर प्रदेश, राजस्थान में बिजली की खपत में 20% बढ़ गई है.

बारिश की उम्मीद

IMD महानिदेशक मृत्युंजय महापात्र के अनुसार, बंगाल की खाड़ी में एक दबाव का क्षेत्र विकसित हुआ है. इसके कारण 26 मई की आधी रात तक यह पश्चिम बंगाल के तटीय इलाकों हल्की से मध्यम वर्षा शुरू हो जाएगी. 26-27 मई को पश्चिम बंगाल में भारी से बहुत भारी बारिश की संभावना है. सभी पूर्वोत्तर राज्यों में बारिश होगी और कुछ इलाकों में अत्यधिक बारिश की चेतावनी है.

कूलर से ठंडे हो रहे ट्रांसफार्मर

इंदौर में भी रिकॉर्डतोड़ असर दिखा रही है. इस कारण पुलिस ने ट्रैफिक सिग्नल पर लाल बत्ती की टाइमिंग घटा दी है. वहीं बिजली विभाग ट्रांसफार्मर को ठंडा रखने के लिए कूलर चला रहा है.