menu-icon
India Daily
share--v1

कार को सर्विस सेंटर ले जाते समय जरूर पूछें ये 5 सवाल, नहीं होगा नुकसान

Car Servicing: अगर आप अपनी गाड़ी को रिपेयर कराने जा रहे हैं तो आपको कुछ सवाल जरूर पूछ लेने चाहिए. यहां हम आपको ऐसे ही 5 सवालों के बारे में बता रहे हैं जो पूछने बेहद ही जरूरी है. 

auth-image
India Daily Live
Car Servicing
Courtesy: Canva

Car Servicing: हम सभी अपनी कार को सही रखने के लिए लगातार उसे सर्विस सेंटर पर ले जाते हैं. अगर आपकी गाड़ी वारंटी में है तो आपको हमेशा सर्विस सेंटर पर ही जाना चाहिए. क्योंकि इंडीपेंडेंट गैराज में जाने से गाड़ी की वारंटी कैंसिल कर दी जाती है. हालांकि, अगर आपकी कार पुरानी है और वारंटी से बाहर है, तो यह आप पर निर्भर है कि आप इसे कहां ले जाना चाहते हैं. आप आधिकारिक सर्विस सेंटर पर भी ले जा सकते हैं और इंडीपेंडेंट गैराज में भी ले जा सकते हैं. जब भी आप गाड़ी को किसी गैराज या सेंटर पर ले जाएं तो आपको उनके कुछ सवाल जरूर पूछने चाहिए. अगर आप ऐसा करते हैं तो आपको नुकसान होने से बच सकता है. 

पहला सवाल: किस ब्रांड और ग्रेड के इंजन ऑयल का इस्तेमाल कर रहे हैं?
यह सवाल बेहद जरूरी है. चाहें आधिकारिक सर्विस सेंटर हो या फिर इंडीपेंडेंट गैराज, यह सुनिश्चित करना जरूरी है कि आपकी कार में कौन से ब्रांड और ग्रेड का इंजन ऑयल डाला जा रहा है. इंजन ऑयल हर वाहन में अलग-अलग होते हैं और अलग-अलग तरह के होते हैं. इसमें मिनिरल ऑयल, सेमी-सिंथेटिक और फुली सिंथेटिक शामिल हैं. इन ऑयल्स को उनकी चिपचिपाहट के अनुसार, कैटेगराइज्ड किया जाता है. इसके अलावा, आपको यह भी सुनिश्चित करना चाहिए कि सर्विस सेंटर अच्छे ब्रांड के तेल का इस्तेमाल कर रहा है या नहीं. 

दूसरा सवाल: क्या वो असली पार्ट्स या OES/आफ्टरमार्केट पार्ट्स का इस्तेमाल कर रहे हैं?
जब रिपेयरिंग की बात आती है तो पार्ट्स बहुत जरूरी हो जाते हैं. किसी को हमेशा वर्कशॉप/सर्विस सेंटर से पूछना चाहिए कि क्या वो ब्रांड के ओईएम पार्ट्स का इस्तेमाल कर रहे हैं या फिर ओईएस पार्ट्स का. OEM पार्ट्स सीधे कार निर्माता से आते हैं जबकि OES कार निर्माता के अप्रूव्ड सप्लायर्स से आते हैं. वैसे तो दोनों ही सही होते हैं लेकिन OEM पार्ट्स में वारंटी आती है. 

तीसरा सवाल: क्या वो गाड़ी के पार्ट्स या काम पर कोई वारंटी दे रहे हैं?
यह सुनिश्चित करना भी जरूरी है कि आपकी कार पर किया गया काम किसी भी तरह की वारंटी के साथ आता है. आमतौर पर, आधिकारिक सर्विस सेंटर इनकी वारंटी देते हैं लेकिन फिर भी इसके बारे में पूछना जरूरी है. अगर पार्ट्स की बात करें तो अगर वर्कशॉप ओईएम या ओईएस पार्ट्स का इस्तेमाल कर रहे हैं तो इनके साथ स्टैंडर्ड वारंटी दी जाती है.

चौथा सवाल: क्या गाड़ी की कोई रिपेयरिंग वारंटी/इंश्योरेंस के तहत आती है?
अगर आपकी कार नई है और निर्माता की वारंटी के तहत आती है तो यह जरूरी है कि आप केवल आधिकारिक सर्विस सेंटर पर ही जाएं. क्योंकि इंडीपेंडेट गैराज में वारंटी का बेनिफिट नहीं मिलता है. इसलिए, यह पूछना जरूरी है कि क्या रिपेयरिंग वारंटी या इंश्योरेंस के तहत आती है. आमतौर पर, इंश्योरेंस केवल एक्सीडेंटल डैमेज को कवर करता है लेकिन कई ऐसे ऑप्शन्स भी हैं जो रिपेयरिंग इंश्योरेंस भी उपलब्ध कराते हैं. 

पांचवा सवाल: क्या वो कैशलेस/रेगुलर इंश्योरेंस कवरेज देते हैं?
अगर आपके पास वैलिड कार इंश्योरेंस है और आप रिपेयरिंग कराने जा रहे हैं तो कैशलेस इंश्योरेंस के बारे में पता करें. इसके तहत आपको कोई भी एक्स्ट्रा पैसा नहीं लगता है. इंश्योरेंस कंपनी पूरे प्रोसेस को ईजी बना देती है और वर्कशॉप या सर्विस सेंटर को डायरेक्ट पेमेंट कर देती है.