menu-icon
India Daily
share--v1

शनि जयंती पर करें ये काम, प्रसन्न होंगे शनिदेव और नहीं करेंगे परेशान

Shani Jayanti: ज्योतिष में शनिदेव को कर्मफलदाता कहा जाता है. शनिदेव व्यक्ति को उसके कर्मों के अनुसार दंड देते हैं. इस दंड से बचने के लिए आप शनि जयंती पर कुछ उपायों को कर सकता हैं. साल 2024 में शनि जयंती 6 जून को पड़ रही है. 

auth-image
India Daily Live
shani
Courtesy: social media

Shani Jayanti: शनिदेव को न्यायाधीश का दर्जा प्राप्त है. व्यक्ति के कर्मों के अनुसार ही शनि शुभ व अशुभ फल प्रदान करते हैं. वे भगवान सूर्य और छाया के पुत्र हैं. शनिदेव का पूजन करने से कष्टों में कमी आती है. ज्येष्ठ माह की अमावस्या के दिन शनिदेव का जन्म हुआ था. इस कारण इस दिन को शनि जयंती के रूप में मनाया जाता है. साल 2024 में शनि जयंती 6 जून को मनाई जा रही है. शनिदेव प्रसन्न करने के लिए शनि जयंती बेहतर दिन माना जाता है. इस दिन पूजा-अर्चना करने से शनि के अशुभ प्रभावों में कमी आती है. इसके साथ ही वह व्यक्ति मनचाहा फल भी प्राप्त करता है.

शनि जयंती के दिन अगर आप कुछ आसान से उपायों को करेंगे तो इससे शनि के अशुभ प्रभावों से आपको छुटकारा मिल सकता है. आइए जानते हैं कि शनि जयंती पर शनिदेव को प्रसन्न कैसे करें. शनि जयंती के दिन भगवान शिव और हनुमान जी का पूजन अवश्य करें. इस दिन सुबह और शाम दोनों टाइम हनुमान चालीसा या सुंदरकांड का पाठ अवश्य करें. शनिदेव को उड़द की दाल के लड्डुओं का भोग लगाकर प्रसाद सभी में बांट दें. ऐसा करने से शनिदेव का आशीर्वाद प्राप्त होता है. पर्सनल व प्रोफेशनल लाइफ की सभी परेशानियां दूर होती हैं.

इस उपाय से मिलेगी पितृदोष से मुक्ति

अगर आप पितृदोष से परेशान हैं तो शनि जयंती पर किसी पवित्र नदी में स्नान करें. इसके बाद सूर्य को अर्घ्य दें. बहते जल में काले तिल प्रवाहित कर दें. इसके साथ ही आप पितरों की शांति के लिए पिंडदान अवश्य करें. ऐसा करने से पितृदोष दूर होता है और जीवन में सुख-समृद्धि आती है. 

शनि की महादशा होती है दूर 

शनि जयंती के दिन ही शनिदेव का जन्म हुआ था. इस दिन शनिदेव का पूजन करें और एक बर्तन में तेल लेकर उसमें खुद को देखकर उस तेल का दान कर दें. इस दिन काले तिल, लोहा, सरसों का तेल, छाता, काले जूते, काले कपड़े, काले चने आदि चीजों का दान करना चाहिए. ऐसा करने से शनिदेव प्रसन्न होते हैं. इससे शनिदोष, महादशा, साढ़ेसाती और ढैय्या के अशुभ प्रभाव से मुक्ति मिलती है. 

ऐसे करें शनिदेव को प्रसन्न 

शनि जयंती के दिन भगवान शनिदेव को प्रसन्न करने के लिए 'ऊँ शं शनैश्चाराय नमः' का सुबह शाम 108 बार जाप करें और गरीब या जरूरतमंद को कुछ न कुछ दान अवश्य करें. इस दिन कौआ, गाय, रोगी आदि को भोजन करवाएं. इन सभी कामों से शनिदेव प्रसन्न होते हैं. 

करें ये खास उपाय 

शनिदेव की कृपा पाने के लिए शनि जयंती के शुरू करते हुए अगले 7 शनिवार तक लगातार चीटियों को आटे में शक्कर मिलाकर खिलाएं. उड़द दाल को पीसकर उसको आटे में मिलाकर गोलियां बना लें. अब इन गोलियों को मछली को खाने के लिए डालें. शनिवार के दिन बंदरों को काले चने और केले खिलाएं. इससे कुंडली में शनिग्रह मजबूत होता है. 

Disclaimer : यहां दी गई सभी जानकारी सामान्य मान्यताओं और जानकारियों पर आधारित है.  theindiadaily.com  इन मान्यताओं और जानकारियों की पुष्टि नहीं करता है. किसी भी जानकारी को अमल में लाने से पहले संबंधित विशेषज्ञ से सलाह ले लें.