menu-icon
India Daily
share--v1

अपने मंडल से बाहर होगा पेपर, दो कैटगरी में बनेंगे सेंटर, पेपर लीक रोकने के लिए योगी सरकार का तगड़ा प्लान

auth-image
India Daily Live


हाल के दिनों में पेपर लीक का मामला तुल पकड़े हुए हैं. नीट और यूजीसी नेट का पेपर लीक होने से देश गुस्से से उबल रहा है. ऐसे में यूपी की योगी सरकार बड़ा कदम उठाया है. यूपी में पेपर लीक के लिए नया कानून आने वाला है. नए कानून के तहत सॉल्वर गैंग पर लगाम लगाने के लिए उनके खिलाफ कठोर कार्रवाई का प्रावधान है. इस साल यूपी पुलिस भर्ती परीक्षा का पेपर भी लीक हुआ था.  

नए कानून को आरोपी को कड़ी से कड़ी सजा दिलाने का प्रावधान होगा. पेपर की छापाई अगल-अलग एजेंसियां करेगी. साथ ही पेपर कोडिंग को भी और व्यवस्थित किया जाएगा. एग्जान के सेंटर पर भी निगरानी रखी जाएगी. वहीं सेंटर दिए जाएंगे जहा सीसीटीवी की व्यवस्था हो.

नई नीति में बताया गया है कि एक भर्ती परीक्षा के लिए चार एजेंसियों की अलग अलग जिम्मेदारी होगी. जो भी परीक्षार्थी होंगे उनको अपने गृह मंडल के बाहर परीक्षा देने जाना होगा. ज्यादा परीक्षार्थी होने पर दो चरणों में परीक्षा लिया जाएगा. वहीं रिजल्ट में धांधली होती है उसको रोकने के लिए आयोग और बोर्ड में ही ओएमआर शीट की स्कैनिंग कराई जाएगी.