menu-icon
India Daily
share--v1

Watch: राजा भैया ने 150 लोगों को मगरमच्छ के सामने डाल दिया? क्या है सच्चाई

auth-image
India Daily Live

उत्तर प्रदेश के प्रतापगढ़ जिले की कुंडा विधानसभा सीट से विधायक रघुराज प्रताप सिंह इन दिनों खूब चर्चा में हैं. साल 1993 से लगातार विधायक रघुराज प्रताप सिंह को राजा भैया के नाम से जाना जाता है. भदरी रियासत के राजा उदय प्रताप सिंह के इकलौते बेटे राजा भैया बसपा सरकार के कार्यकाल में जेल जा चुके हैं. उन पर कई बार आरोप लगते हैं कि वह अपने दुश्मनों को अपने घर के पास मौजूद बड़े से तालाब में मौजूद मगरमच्छों के सामने डलवा देते हैं.

हालांकि, राजा भैया ने हमेशा इन आरोपों से इनकार किया है. राजा भैया बताते हैं कि तालाब गंगा नदी के पास है और कई बार लोग नदी के किनारे ही लोगों का अंतिम संस्कार करते हैं, ऐसे में नदी के रास्ता बदलने पर हड्डियां मिल जाती हैं. राजा भैया कहते हैं कि इस तरह के आरोप सिर्फ उनको फंसाने के लिए लगाए जाते हैं. बता दें कि राजा भैया की कोठी के पीछे 600 एकड़ का एक तालाब मौजूद है.

दरअसल, रघुराज प्रताप सिंह पर पहले भी आरोप लगे हैं कि उन्होंने किसी आदमी को मगरमच्छ के सामने फिंकवा दिया. जब उनकी गिरफ्तारी हुई थी तब उनके घर से हथियार और नर कंकाल भी बरामद होने की बात कही थी. हालांकि, अब राजा भइया दावा करते हैं कि वह ऐसे सारे आरोपों से अब बरी हो चुके हैं और उनके खिलाफ इस तरह का कोई केस नहीं चल रहा है.