share--v1

पतंजलि आयुर्वेद ने पूर्व भारतीय सैनिकों के लिए खोला खजाना, जानें क्या है पूरा मामला

 योग गुरु बाबा रामदेव की पतंजलि फूड्स और पतंजलि आयुर्वेद एक बार फिर से चर्चा में हैं. इस बार पतंजलि आयुर्वेद की चर्चा का विषय सेना है.

auth-image
Sagar Bhardwaj
फॉलो करें:

Patanjali News:  योग गुरु बाबा रामदेव की पतंजलि फूड्स और पतंजलि आयुर्वेद एक बार फिर से चर्चा में हैं. इस बार पतंजलि आयुर्वेद की चर्चा का विषय सेना है. दरअसल, पतंजलि योगपीठ ने पिछले सप्ताह भारतीय सेना के साथ एक मेमोरंडम ऑफ अंडरस्टैंडिंग (MoU) पर हस्ताक्षर किया है. इस एमओयू में सेना के रिटायर्ड जवान यानी पूर्व सैन्यकर्मियों को पतंजलि में नौकरी देने की बात है.

पूर्व सैन्यकर्मियों को नौकरी देगा पतंजलि

पतंजलि ने विभिन्न पदों पर भर्ती के लिए पूर्व सैन्यकर्मियों से आवेदन मांगे हैं. कंपनी ने पूर्व सैन्यकर्मियों से अपना बायोडाटा भेजने को कहा है. इसके लिए कंपनी ने एक ईमेल आईडी [email protected]  भी जारी की है.

सोशल मीडिया पर लिखा पोस्ट

कंपनी ने सोशल मीडिया पर एक पोस्ट लिखकर पूर्व सैन्यकर्मियों को नौकरी देने की बात कही है. कंपनी ने कहा है कि हमें पूर्व सैन्यकर्मियों को अपनी कंपनी से जोड़कर प्रसन्नता होगी.

एमओयू में क्या-क्या शामिल

बाबा रामदेव ने सेना के जवानों को योग, आयुर्वेद चिकित्सा और वेलनेस का फायदा देने के लिए बीते 24 नवंबर को भारतीय सेना के साथ एक एमओयू साइन किया था. इस एमओयू में योग, चिकित्सा और वेलनेस उत्पादों से सैनिक भाइयों के स्वास्थ्य  की रक्षा करने की बात शामिल है. इसके अलावा एमओयू में दोनों के बीच  आयुर्वेद के क्षेत्र में रिसर्च तथा आईटी आदि क्षेत्रों के साथ मिलकर  काम करने पर सहमति बनी है.

आचार्य बालकृष्ण खुद पहुंचे थे सेना के मुख्यालय

पतंजलि योगपीठ के महामंत्री आचार्य बालकृष्ण खुद एमओयू करने के लिए सेना के मुख्यालय पहुंचे थे. इस मौके पर सेना के कई अधिकारी मौजूद थे.

सैन्यकर्मियों को प्राथमिकता से दी जाएगी नौकरी

इस मौके पर आचार्य बालकृष्ण ने घोषणा की थी की पतंजलि की सहबयोगी संस्थाओं में सेवानिवृत्त सैनिक भाइयों को प्राथमिकता के आधार पर नौकरी दी जाएगी.

Also Read

First Published : 30 November 2023, 05:02 PM IST