share--v1

Tata Group Market Value: भारत के टाटा ने पाकिस्तान को पछाड़ा, पूरे मुल्क की इकोनॉमी से ज्यादा हुई Market Value

आज हम आपको भारत के उस व्यापारिक समूह से मिलवाने जा रहे हैं जिसका बाजार पूंजीकरण पाकिस्तान की पूरी अर्थव्यवस्था से भी ज्यादा हो गया है. इस कंपनी के शेयरों ने अपने निवेशकों को पिछले एक साल में छप्परफाड़ रिटर्न दिया है.

auth-image
India Daily Live

Tata Group Market Value: टाटा समूह (Tata Group) आज पूरी दुनिया में भरोसे का प्रतीक बन चुका है. टाटा ग्रुप की कंपनी ने अपने निवेशकों को कभी निराश नहीं किया है. अब इस समूह को लेकर एक और बड़ी खबर सामने आई है. टाटा समूह का बाजार मूल्य पड़ोसी मुल्क पाकिस्तान की पूरी अर्थव्यवस्था से भी ज्यादा हो गया है. खबर लिखे जाने तक भारत के इस सबसे बड़े व्यापार घराने का बाजार मूल्य 365 बिलियन डॉलर या 30.3 लाख करोड़ पहुंच गया है जबकि आईएमएफ के आकलन के अनुसार पाकिस्तान की पूरी जीडीपी लगभग 341 बिलियन डॉलर की है.

पाकिस्तान की आधी इकोनॉमी के बराबर TCS का मार्केट कैप

15 लाख करोड़ या 170 बिलियन डॉलर बाजार मूल्य वाली टाटा समूह की टाटा कंसल्टेंसी सर्विसेज (TCS) न केवल भारत की दूसरी सबसे बड़ी कंपनी है बल्कि उसका बाजार पूंजीकरण पाकिस्तान की लगभग आधी अर्थव्यवस्था के बराबर है. बता दें कि पाकिस्तान इस वक्त भारी कर्ज के बोझ से दबा हुआ है.

Tata Group Listed Companies
Tata Group Listed Companies


टाटा मोटर्स, ट्रेंट बने मल्टीबैगर

टाटा समूह की कुछ कंपनियां जैसे टाटा मोटर्स, ट्रेंट के शेयर पिछले एक साल में मल्टीबैगर साबित हुए हैं. जबकि समूह की टाइटन, टीसीएस और टाटा पावर जैसी कंपनियों ने भी पिछले एक साल में अच्छा खासा रिटर्न दिया है. हाल ही में लिस्ट हुई कंपनी टाटा टेक्नोलॉजीज को मिलाकर टाटा समूह की 8 कंपनियों की संपत्ति पिछले एक साल में दोगुने से भी ज्यादा हो गई है. इन कंपनियों में टीआरएफ, ट्रेंट, Benaras Hotels, टाटा इन्वेस्टमेंट कॉर्पोरेशन, टाटा मोटर्स, ऑटोमोबाइ कॉर्पोरेशन ऑफ गोवा और अर्टसन इंजीनियरिंग शामिल हैं.

शेयर बाजार में टाटा की 25 कंपनियां लिस्टेड

टाटा समूह की शेयर बाजार में कम से कम 25 कंपनियां लिस्टेड हैं, जिनमें से केवल टाटा केमिकल्स कंपनी ही ऐसी है जिसने पिछले एक साल में 5% का नेगेटिव रिटर्न दिया है. इसे छोड़कर टाटा की सभी कंपनियों ने पिछले एक साल में निवेशकों का खूब पैसा बनाया है.

इसके अलावा टाटा समूह की गैर लिस्टेड कंपनियां जैसे टाटा संस, टाटा कैपिटल, टाटा प्ले, टाटा एडवांस्ड सिस्टम्स, एयर इंडिया और विस्तारा और सात अन्य कंपनियों का बाजार पूंजीकरण भी 160 से 170 बिलियन डॉलर हो चुका है.

टाटा कैपिटल कंपनी का भी अगले साल आईपीए आने वाला है. गैर सूचिबद्ध इस कंपनी का मार्केट कैपिटल 2.7 लाख करोड़ है. वहीं टाटा सूमह की टाटा प्ले कंपनी को आईपीओ के लिए पहले ही सेबी की मंजूरी मिल चुकी है.

बिग बुल राकेश झुनझुनवाला का टाटा से लगाव

दिवंगत निवेशक राकेश झुनझुनवाला टाटा समूह के प्रति आपने आकर्षण पर सार्वजनिक रूप से बोलने से कभी नहीं कतराते थे. एक इंटरव्यू में बिग बुल ने कहा था, 'टाटा समूह पर ईश्वर की मेहरबानी है और मैंने टाटा समूह के शेयरों को खरीदने के लिए कोई योजना नहीं बनाई थी. टाटा समूह के शेयरों को खरीदना एक बस एक संयोग था लेकिन जब मिस्टर चंद्रा (टाटा समूह के चेयरमैन एन चंद्रशेखरन) ने पद संभाला तो मैंने उन्हें समझा, जो भी वह करने की कोशिश कर रहे हैं, उसके बाद में टाटा समूह को लेकर बहुत ज्यादा बुलिश हूं.'

यह भी देखें

Also Read